Move to Jagran APP

Gurugram: पति के साथ मिलकर की प्रेमी की हत्या, नहर में बहाया शव; वारदात को अंजाम देने के लिए बनाया था ये प्लान

गुरुग्राम जिले के धनकोट नहर में सेक्टर-99 के पास सोमवार सुबह युवक का शव बोरे में मिला था। मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद निवासी 38 वर्षीय पुष्पेंद्र के रूप में की गई है। युवक के साथ सरस्वती एन्क्लेव स्थित कंपनी में महिला काम करती थी। पुलिस ने दंपती को गिरफ्तार किया। पति को प्रेमी के बारे में जानकारी होने पर दंपती ने हत्या की साजिश रची थी।

By Jagran News Edited By: Monu Kumar Jha Published: Tue, 11 Jun 2024 06:07 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 06:07 PM (IST)
Gurugram News: पति को प्रेमी के बारे में जानकारी होने पर दंपती ने रची थी हत्या की साजिश।

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम। (Gurugram Crime Hindi News) धनकोट नहर में सेक्टर 99 के पास सोमवार सुबह बोरे में बंद युवक का शव मिलने के मामले का गुरुग्राम पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। युवक की गला दबाकर हत्या के बाद उसका शव बोरे में डालकर नहर में बहाया गया था।

फरुखनगर क्राइम ब्रांच ने सेक्टर 10 थाना क्षेत्र के सरस्वती एन्क्लेव से मंगलवार दोपहर हत्यारोपित दंपती को गिरफ्तार किया है।वहीं मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के गांव नंगलालेखराज निवासी 38 वर्षीय पुष्पेंद्र के रूप में की गई है।

फरुखनगर क्राइम ब्रांच के प्रभारी सब इंस्पेक्टर अमित कुमार ने बताया कि सोमवार सुबह 11 बजे धनकोट चौकी पुलिस को नहर से बोरे में शव मिलने की जानकारी मिली थी। नहर सफाई कर्मचारी ने बताया था कि वह सेक्टर 99 स्थित नहर के पास टेलपानी जाल से कचरा निकाल रहा था। इसी दौरान बोरा मिला।

इसमें हाथ-पैर बंधा हुआ युवका का शव था। राजेंद्रा पार्क थाने में हत्या का मामला दर्ज किया गया। काफी प्रयास के बाद युवक की पहचान की गई। जांच के दौरान सेक्टर 10 थाने में युवक की गुमशुदगी दर्ज मिली। दो दिन पानी में भीगने के कारण शव फूल चुका था। इसलिए उसका चेहरा पहचान की हालात में नहीं था। उसके हाथ पर गुदे हुए अक्षर पीवीकेवाइ से स्वजन ने शव की पहचान पुष्पेंद्र के रूप में की।

कंपनी व लोगों से पूछताछ में महिला के बारे में चला पता

शव की पहचान के बाद क्राइम ब्रांच को स्वजन से पूछताछ में पता चला कि पुष्पेंद्र सरस्वती एन्क्लेव स्थित एक फाम बनाने वाली कंपनी में आठ साल से काम कर रहे थे। वह यहीं सरस्वती एन्क्लेव में किराये से अकेले रहते थे। इनका परिवार गांव में रहता है और इनके दो बच्चे हैं। कंपनी कर्मचारियों व आसपास के लोगों से पता चला कि पुष्पेंद्र की कंपनी में काम करने वाली महिला से दोस्ती थी।

इसके बाद इनकी काल डिटेल खंगाली गई। एकत्रित की गई सूचनाओं तथा उनका अवलोकन करने के बाद क्राइम ब्रांच ने आरोपित महिला व उसके पति को मंगलवार दोपहर सरस्वती एन्क्लेव से गिरफ्तार कर लिया। इनकी पहचान 30 वर्षीय नीलम व 34 वर्षीय रामनिवास के रूप में की गई। दंपती उत्तर प्रदेश के एटा जिले के गांव ससोतिया जगदीश के रहने वाले हैं।

प्रेम-प्रसंग की जानकारी होने पर रची साजिश

आरोपितों से पुलिस (Gurugram Police) पूछताछ में पता चला कि रामनिवास आटो चलाता था। नीलम व पुष्पेंद्र के बीच प्रेम संबंध का रामनिवास को पता चल गया तो उसने नीलम के साथ मिलकर पुष्पेंद्र की हत्या करने की योजना बनाई। आठ जून को नीलम पुष्पेंद्र से कंपनी में मिली और उन्हें रात दो बजे अपने कमरे पर आने के लिए कहा। पुष्पेंद्र बताए गए समय पर नीलम के कमरे पर पहुंचे।

दंपती ने पुष्पेंद्र के मुंह में कपड़ा डालकर व गला दबाकर हत्या कर दी। इन्होंने शव को एक बोरे में बांध दिया, फिर रामनिवास शव को अपने आटो रिक्शा में रखकर धनकोट नहर के पास ले गया और नहर में फेंककर वापस आ गया। पुलिस से बचने के लिए इन्होंने उसी दिन अपना किराये का कमरा भी बदल लिया था।

यह भी पढ़ें: Bobby Kataria Case: यूट्यूबर बॉबी कटारिया की बढ़ी मुश्किलें, अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.