गुरुग्राम, जागरण टीम। स्वास्थ्य अधिक खराब होने पर दिल्ली से सटे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराए गए समाजवादी पार्टी के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह (Former CM of UP Mulayam Singh Yadav) की हालत सोमवार सुबह भी गंभीर बनी हुई है।

इस बीच सोमवार को दूसरे दिन भी बेटे अखिलेश यादव अस्पताल में भर्ती पिता मुलायम सिंह यादव का हाल चाल लेने के लिए पहुंचे। इस दौरान उन्होंने इलाज कर रहे डाक्टरों से स्वास्थ्य को लेकर विस्तार से चर्चा की।

सूत्रों के मुताबिक, रात को डायलिसिस करने के बाद भी सोमवार सुबह मुलायम सिंह यादव की हालत में कोई सुधार नहीं आया है। उनकी हालत पहले की तरह ही गंभीर बनी हुई है। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम यानी वेंटिलेटर पर रखा गया है।

डाक्टरों की टीम रख रही स्वास्थ्य पर नजर

रविवार से ही मुलायम सिंह यादव का मेदांता अस्पताल के आइसीयू में इलाज चल रहा है, जहां पर डाक्टरों की एक टीम लगातार उनके स्वास्थ्य पर नजर रख रही है। सोमवार रात को तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उनकी डायलिसिस भी की गई है। बताया जा रहा है कि संक्रमण पूरे शरीर में फैलने की वजह से डायलिसिस की गई।

पोती अदिति ने ट्वीट कर लोगों से कहा, मंगल कामना करें

इस बीच पोती अदिति यादव ने मेदांता में इलाज के दौरान की तस्वीर जारी है। इसके साथ ही लोगों से अनुरोध किया है कि वे दादा जी के अच्छे स्वास्थ्य की ईश्वर से मंगल कामना करें। इस तस्वीर में मुलायम सिंह यादव अस्पताल में भर्ती हैं। 

यतिन मेहता की टीम कर रही इलाज

दरअसल, रविवार देर रात समाजवादी पार्टी से सांसद मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की हालत फिर बिगड़ गई, जिसके बाद उनका डायलिसिस किया गया। रविवार रात 10 बजे से शुरू हुई डायलिसिस सोमवार सुबह तक चली। मुलायम सिंह का इलाज यतिन मेहता मेदांता की टीम कर रही है। वह क्रिटिकल केयर यूनिट के निदेशक हैं। कई दिन से भर्ती मुलायम का इलाज अब तक कैंसर विशेषज्ञ डा. नितिन सूद की टीम कर रही थी।

रविवार रात को हुई डायलिसिस

मेदांता अस्पताल प्रशासन ने मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य के बारे में कोई आधिकारिकी जानकारी तो नहीं दी है, लेकिन उनकी हालत गंभीर ही बनी हुई है। इस बीच रविवार  और सोमवार की मध्य रात्रि मुलायम सिंह यादव की डायलिसिस की गई है। 

बता दें कि डायलिसिस उस स्थिति में की जाता है, जब बीमार व्यक्ति की दोनों किडनी क्षमता से बेहद कम काम करती है। खून में घुले विषाक्त तत्व  को डायलिसिस के जरिये बाहर निकाला जाता है। फिर  शुद्ध खून को शरीर में प्रसारित किया जाता है। 

सपा अपील, कार्यकर्ता न जमा हों अस्पताल में बाहर

समाजवादी पार्टी की ओर से जारी आधिकारिक बयान में भी कहा गया है कि उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इसके साथ ही सपा कार्यकर्ताओं से यह भी अपील की गई है कि वे गुरुग्राम स्थित अस्पताल में बाहर ना जमा हों। सपा नेता मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य को लेकर जानकारी देती रहेगी।

कौन हैं यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह का इलाज करे रहे Doctor Yatin Mehta

Edited By: JP Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट