Move to Jagran APP

PM Oath taking Ceremony: लगातार तीसरी बार मंत्री बनेंगे राव इंद्रजीत सिंह! शपथ ग्रहण के लिए पहुंचा फोन

लोकसभा में छह बार पहुंचने वाले प्रदेश के पहले राजनेता Rao Inderjit Singh इस बार भी मोदी सरकार में तीसरी बार मंत्री बन सकते हैं। नरेंद्र मोदी के तीसरे शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए राव इंद्रजीत सिंह के पास फोन कॉल आई है। इस लोकसभा चुनाव में 80 हजार से भी अधिक मत से जीतकर भाजपा से हैट्रिक लगाने के साथ-छह बार वह सांसद बन चुके हैं।

By Jagran News Edited By: Abhishek Tiwari Published: Sun, 09 Jun 2024 11:55 AM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 11:55 AM (IST)
PM Oath taking Ceremony: लगातार तीसरी बार मंत्री बनेंगे राव इंद्रजीत सिंह!

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम। भाजपा के टिकट पर गुड़गांव लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीतने वाले राव इंद्रजीत सिंह लगातार तीसरी बार मंत्री बन सकते हैं। नरेंद्र मोदी के तीसरे शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए राव इंद्रजीत सिंह के पास फोन कॉल आई है। राव ने इस बार जीत हासिल कर न केवल हैट्रिक लगाई बल्कि कुल मिलाकर छह बार जीत हासिल करने वाले प्रदेश के पहले नेता बनें।

लगातार पांचवीं बार बनेंगे मंत्री!

राव इंद्रजीत सिंह अगर मंत्री बनते हैं तो वह कुल मिलाकर लगातार पांचवीं बार मंत्री बनने वाले सांसद होंगे। भाजपा सरकार से पहले वह कांग्रेस सरकार में लगातार दो बार मंत्री बने थे। इतने लंबे समय तक लगातार कुछ ही नेता मंत्री रहे होंगे। हरियाणा में कोई नेता लगातार पांच बार राव के अलावा संसद भी नहीं पहुंचा है।

ये भी पढ़ें-

Exclusive Interview: गुड़गांव सीट से जीत के बाद राव इंद्रजीत का पहला धमाकेदार इंटरव्यू, हर सवाल का बेबाक जवाब

Gurgaon: राव इंद्रजीत ने जीत का मारा सिक्सर, पर बब्बर ने खुलकर खेलने नहीं दिया; कांग्रेस ने बिछाई थी ये सियासी पिच

Lok Sabha Election 2024: इतने करोड़ रुपये है राव इंद्रजीत सिंह की संपत्ति, जानिए पांच साल में कितनी बढ़ी सलाना आय

लोगों में राव इंद्रजीत की पैठ ही बनी संजीवनी

गुड़गांव लोकसभा सीट पर मतगणना में इस बार काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला। शुरुआती दौर में जहां भाजपा के राव इंद्रजीत सिंह और उनके समर्थकों की धड़कने थम गई थीं, वहीं कांग्रेस प्रत्याशी राज बब्बर और उनके समर्थक खुशी मनाते दिखे थे। 12 राउंड की गिनती के बाद राव इंद्रजीत सिंह बढ़त बना पाए। उसके बाद राव की लीड को राज बब्बर नहीं तोड़ पाए।

गुड़गांव लोकसभा सीट का इतिहास

हरियाणा की गुड़गांव लोकसभा सीट पहली बार 1952 में अस्तित्व में आई थी। 1977 में इस सीट को खत्म कर दिया गया था। 2008 में परिसीमन के बाद फिर यह सीट अस्तित्व में आई। यहां 2009 में फिर यहां लोकसभा चुनाव हुआ। 2009 से इस सीट पर राव परिवार का कब्जा रहा है।

राव इंद्रजीत सिंह तब से लगातार सांसद हैं। 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था। 2014 के लोकसभा चुनाव में वह भाजपा में शामिल हो गए और चुनाव जीते थे। 2019 के लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने जीत का परचम लहराया था।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.