फोटो एफआडी-23 सीरिज

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद:

गांव अटाली में मुश्किल से शांत हुई सांप्रदायिक तनाव की आग एक बार फिर सुलग उठी है। बुधवार दोपहर बाद कीर्तन कर रहीं गांव की महिलाओं पर असामाजिक तत्व ने पत्थर फेंका। सूचना गांव के पुरुषों तक पहुंचने के साथ ही प्रभावित पक्ष के लोगों ने संप्रदाय विशेष के एक नंबरदार के घर पर पथराव कर तोड़फोड़ की। इसके बाद दोनों पक्षों के लोग पत्थर लेकर आमने-सामने डट गए। घटना के बाद से ही मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है। खुद जिला मजिस्ट्रेट डा. अमित अग्रवाल और पुलिस आयुक्त सुभाष यादव भी मौक पर मौजूद हैं। शांति बनाए रखने के लिए पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है।

इससे पहले गांव अटाली में धार्मिक स्थल निर्माण को लेकर 25 मई की शाम विवाद हो गया था। बहुसंख्यकों ने संप्रदाय विशेष के 19 घरों को आग के हवाले कर दिया था। पीड़ितों को पुलिस थाना में अस्थायी शिविर में नौ दिनों तक रहना पड़ा। प्रशासन द्वारा टूटी दीवार बनवाए जाने और दोषियों की गिरफ्तारी के आश्वासन पर लोग गांव लौटे।

आज होनी है सुनवाई

कोर्ट द्वारा धार्मिक स्थल निर्माण पर यथास्थिति के आदेश पर 2 जुलाई को सुनवाई होनी है। मौके पर तैनात भारी संख्या में पुलिस बल तैनाती के कारण कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। यद्यपि उक्त धार्मिक स्थल में पंखा लगाए जाने और दूसरे पक्ष की महिलाओं के धार्मिक स्थल के नजदीक कीर्तन से तनाव कायम रहा।

दोषी पर कार्रवाई का भरोसा

मौके पर मौजूद जिला उपायुक्त ने बहुसंख्यकों की पंचायत में आश्वासन दिया कि पत्थरबाजी की इस घटना के आरोपी को शीघ्र पकड़ लिया जाएगा। बाद में उन्होंने बताया कि कीर्तन के दौरान पत्थर लगने से दो महिलाओं को चोट आई है। पथराव में संप्रदाय विशेष के चार लोगों को हल्की चोट लगी है। उनका उपचार करा दिया है। दोनों पक्षों में सुलहनामे के प्रयास जारी हैं। मौके पर चार कंपनी पुलिस और दो कंपनी हरियाणा रैपिड एक्शन फोर्स तैनात है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस