अंबाला, [दीपक बहल]। सुपरसोनिक लड़ाकू विमान राफेल अंबाला एयरफोर्स स्‍टेशन से पाकिस्‍तान की हरकतों पर नजर रखेगा और जरूरत पड़ने पर दुश्‍मन को पलभर में सबक सिखाएगा। अंबाला एयरफोर्स स्‍टेशन राफेल के स्‍वागत के लिए पूरी तरह तैयार है और इसके लिए खास प्रबंध किए गए है।

अंबाला एयरफोर्स स्‍टेशन राफेल के स्‍वागत के लिए तैयार, अगले साल से भरेगा यहां से उड़ान

अंबाला एयरफोर्स स्टेशन से राफेल अगले साल उड़ान भरने लगेगा। अंबाला में राफेल की एक स्कवाड्रन तैनात की जाएगी और यहीं से पाकिस्तान पर नजर रखी जाएगी। राफेल के रखरखाव के लिए निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।एयरबेस अंतरराष्ट्रीय सुविधाओं से लैस हो चुका है। आगरा की कंपनी को यहां पर अपग्रेडेशन का काम सौंपा गया है। साल 2020 की पहली तिमाही में राफेल अंबाला में होगा। अंबाला एयरबेस रणनीतिक लिहाज से काफी अहम है। वर्ष 1919 में स्थापित एयरफोर्स स्टेशन पाकिस्तानी सीमा से करीब 220 किलोमीटर दूर है।

अगले साल आएगा अंबाला में राफेल, विमान के रखरखाव के लिए निर्माण कार्य तेजी पर

सूत्र बताते हैं कि राफेल बेड़े के लिए वर्तमान बुनियादी ढांचे का इस्तेमाल तो होगा ही, उसे विस्तार भी दिया जाएगा। कम से कम 14 नए शेल्टर, हैंगर, संचालन स्थल, एक डी ब्रीङ्क्षफग कक्ष व सिमुलेटर प्रशिक्षण का निर्माण किया जा रहा है।

अंबाला एयरबेस से ही पाकिस्तान पर रखी जाएगी निगरानी, अंतर्राष्ट्रीय सुविधाओं से लैस हुआ

फ्रांस की टीम अंबाला एयरफोर्स स्टेशन की प्राथमिक जांच कर चुकी है। फ्रांस और भारत के बीच समझौते के मुताबिक भारत को 36 राफेल विमान दिए जाने हैं। इनमें 18 अंबाला और 18 हासीमारा एयरबेस पर रखे जाएंगे। पश्चिम बंगाल में स्थित हासीयारा एयरबेस चीन और भूटान सीमा के करीब है।

----------------

यह भी पढ़ें: कैलिफोर्निया की सेलिना को भा गया हरियाणा का गबरू, सात समंदर पार से भागी चली आई

यह है राफेल की ताकत

- भार ढोने की क्षमता 24500 किग्रा।

- ईंधन क्षमता 4700 किग्रा।

-अधिकतम रफ्तार 2200 से 2500 किमी प्रतिघंटा।

- मारक क्षमता 3700 किमी दूरी तक।

-1.30 एमएम की गन से एक बार में 125 राउंड गोलियां निकलती हैं।

- 30 एमएम की तोप से 2500 राउंड गोले दागने की क्षमता।

- 300 किमी की रेंज से हवा से जमीन पर हमला करने में सक्षम।

- 9.3 टन वजन के साथ 1650 किलोमीटर तक उड़ान भरने की क्षमता।

- 14 हार्ड प्वाइंट के जरिये भारी हथियार भी गिराने की क्षमता।

- घातक एमबीडीए एमआइसीए, एमबीडीए मेटेओर, एमबीडीए अपाचे, स्टोर्म शैडो एससीएएलपी मिसाइलों से लैस।

- थाले आरबीई-2 रडार और थाले स्पेक्ट्रा वारफेयर सिस्टम के साथ ऑप्ट्रॉनिक सेक्योर फ्रंटल इंफ्रा-रेड सर्च और ट्रैक सिस्टम से लैस।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें



 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप