Move to Jagran APP

दुष्‍कर्म केस में फंसे राजीव मोदी की बढ़ी मुश्किलें, कैडिला फार्मा के बाद अब इस कंपनी में लगी इस्तीफों की झड़ी

कैडिला फार्मास्यूटिकल के मालिक राजीव मोदी पर बुल्‍गेरियन युवती के दुष्‍कर्म के आरोप के बाद उनकी दोनों कंपनियों के कई अधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया है। फार्मा कंपनी में आंतरिक खींचतान का असर समूह की दूसरी कंपनी आईआरएम एनर्जी पर भी पड़ा और उसके चेयरमैन ने इस्तीफा दे दिया उसके बाद उसके मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी समेत अन्य कई कर्मचारियों ने भी इस्तीफा दे दिया अथवा उन्हें निकाल दिया गया।

By Jagran News Edited By: Sonu Gupta Thu, 11 Jul 2024 08:25 PM (IST)
दुष्‍कर्म केस में फंसे राजीव मोदी की दोनों कंपनी में उथल-पुथल। फाइल फोटो।

राज्य ब्यूरो, अहमदाबाद। कैडिला फार्मास्यूटिकल के मालिक राजीव मोदी पर बुल्‍गेरियन युवती के दुष्‍कर्म के आरोप के बाद इस समूह की फार्मा व एनर्जी कंपनी में बड़े पदों पर बैठे अधिकारियों भारी खींचतान है। एनर्जी कंपनी के चेयरमैन केबाद सीईओ ने इस्तीफा दे दिया वहीं फार्मा कंपनी में बडे सुरक्षा अधिकारियों को निकाल दिया गया।

कंपनी में मची उथल-पुथल

राजीव मोदी व उनके मुख्य प्रबंधन निदेशक जॉनसन मैथ्‍यु पर दुष्‍कर्म के आरोप के बाद कंपनी ने जॉनसन को सबसे पहले कंपनी से बाहर का रास्ता दिखा दिया, लेकिन जांच में मदद करने की शर्त पर उसे वापस कंपनी में ले लिया गया। उसके बाद कंपनी की सुरक्षा टीम से जुड़े राज्य के एक वरिष्ठ आईपीएस तथा उनकी टीम को बाहर कर दिया गया।

IRM एनर्जी पर भी पड़ा सबसे ज्यादा असर

फार्मा कंपनी में आंतरिक खींचतान का असर समूह की दूसरी कंपनी आईआरएम एनर्जी पर भी पड़ा और उसके चेयरमैन ने इस्तीफा दे दिया, उसके बाद उसके मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी समेत अन्य कई कर्मचारियों ने भी इस्तीफा दे दिया अथवा उन्हें निकाल दिया गया। कॉरपोरेट जगत की जानी मानी कंपनी के प्रबंधन व सुरक्षा टीम में आंतरिक खींचतान चरम पर है।

कंपनी का कम्युनिकेशन व लीगल डिपार्टमेंट इन सभी विवादों के बावजूद अपने चेयरमैन व अन्‍य अधिकारियों के बचाव में उतरने से बचता रहा उसी का परिणाम है कि अब एक केस का असर दूसरी कंपनियों पर भी पड़ने लगा है।

कई लोगों ने दिया इस्तीफा

आईआरएम एनर्जी का आईपीओ लाकर  पांच सौ करोड रुपये से अधिक जुटा गये, लेकिन प्रबंधन के अभाव में इसके चैयरमेन महेश्‍वर साहू, सीईओ करण कौशल, कंपनी सचिव शिखा जैन, स्‍वतंत्र निदेशक गीता गोरडिया, सीएनजी प्रोजेक्ट के उपाध्यक्ष मानस खरे समेत कईयों ने इस्तीफा दे दिया।

स्थानीय न्यायालय में विचाराधीन है मामला

गौरतलब है कि गुजरात उच्‍च न्‍यायालय के आदेश पर बुल्‍गारियन युवती के साथ दुष्‍कर्म की शिकायत का मामला स्थानीय न्यायालय में विचाराधीन है। पीड़िता कैडिला कंपनी में नौकरी कर चुकी है तथा कुछ माह बाद  ही उसने कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राजीव मोदी तथा कंपनी के सीएमडी व मैनेजर जॉनसन मैथ्‍यू पर दुष्‍कर्म व छेड़छाड़ का आरोप लगाया था।

अहमदाबाद ग्रामीण कोर्ट में सुनवाई के दौरान राज्य पुलिस ने मार्च 2024 में 1847 पेज की समरी रिपोर्ट पेश की। जिस पर पीड़िता ने सवाल उठाते हुए कहा कि पुलिस ने अहम गवाह एवं सबूत की और ध्यान ही नहीं दिया।

यह भी पढ़ेंः

Gujarat News: हनीट्रैप के जाल में तो नहीं फंस गये राजीव मोदी, कैडिला फार्मा के सीएमडी पर लगा दुष्‍कर्म का आरोप

Justice Aalia Neelum: कौन हैं आलिया नीलम, जिन्होंने पाकिस्तान में रचा इतिहास, 1996 में शुरू किया करियर और अब बनीं मुख्य न्यायाधीश