Move to Jagran APP

Justice Aalia Neelum: कौन हैं आलिया नीलम, जिन्होंने पाकिस्तान में रचा इतिहास, 1996 में शुरू किया करियर और अब बनीं मुख्य न्यायाधीश

न्यायमूर्ति आलिया नीलम को पंजाब के राज्यपाल सरदार सलीम हैदर खान ने गुरुवार को पाकिस्तान के लाहौर उच्च न्यायालय (LHC) के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ शपथ दिलाई। वहीं शपथ ग्रहण समारोह में पंजाब प्रांत की पहली महिला मुख्यमंत्री मरियम नवाज भी शामिल हुईं।12 नवंबर 1966 को जन्मी न्यायमूर्ति नीलम के पास दो दशक से भी अधिक का अनुभव है।

By Agency Edited By: Sonu Gupta Thu, 11 Jul 2024 06:44 PM (IST)
आलिया नीलम बनीं लाहौर HC की मुख्य न्यायाधीश। फाइल फोटो।

पीटीआई, लाहौर। Justice Aalia Neelum: अक्सर आतंकवाद और आतंकवादी घटनाओं को लेकर चर्चा में बने रहने वाला पाकिस्तान आज एक महिला को लेकर फिर चर्चा में आ गया है। हालांकि, महिला ने इस बार पूरे देश में इतिहास रचते हुए लाहौर उच्च न्यायालय की सर्वोच्च पद पर विराजमान हुई है।

आलिया नीलम बनीं लाहौर HC की मुख्य न्यायाधीश

दरअसल, न्यायमूर्ति आलिया नीलम ने गुरुवार को पाकिस्तान के लाहौर उच्च न्यायालय (LHC) के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली। इसी के साथ वह अदालत की शीर्ष न्यायाधीश के रूप में कार्यभार संभालने वाली पहली महिला बन गई हैं। 57 वर्षीय आलिया नीलम को पंजाब के राज्यपाल सरदार सलीम हैदर खान ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। वहीं, शपथ ग्रहण समारोह में पंजाब प्रांत की पहली महिला मुख्यमंत्री मरियम नवाज भी शामिल हुईं।

वरिष्ठता सूची में कितने नंबर पर थीं आलिया नीलम?

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, न्यायमूर्ति नीलम लाहौर उच्च न्यायालय की वरिष्ठता सूची में तीसरे नंबर पर थीं। हालांकि, पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश काजी फैज ईसा की अध्यक्षता वाले पाकिस्तान के न्यायिक आयोग ने बाकी दो न्यायाधीशों को दरकिनार करते हुए लाहौर HC के मुख्य न्यायाधीश के पद के लिए उनके नाम पर विचार करने का फैसला किया।

1996 में शुरू किया करियर

12 नवंबर 1966 को जन्मी न्यायमूर्ति नीलम के पास दो दशक से भी अधिक का अनुभव है। उन्होंने 1995 में पंजाब विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री हासिल की और 1996 में एक वकील के रूप में अपना कानूनी करियर शुरू किया। हालांकि, नीलम ने साल 2008 में सर्वोच्च न्यायालय के वकील का दर्जा हासिल किया। नीलम को साल 2013 में लाहौर उच्च न्यायालय में नियुक्त किया गया, जिसके बाद 16 मार्च 2015 को उन्हें स्थायी न्यायाधीश के रूप में शपथ दिलाई गई।

वहीं, लाहौर उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद सत्तारूढ़ शरीफ परिवार के सदस्यों के साथ नीलम की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं हैं। कई लोग तस्वीर शेयर कर नीलम का सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) का करीबी बता रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः

पाकिस्तान में सऊदी एयरलाइंस के प्लेन में लगी आग, पेशावर में कराई गई लैंडिंग; 276 यात्री थे सवार