नई दिल्ली, जेएनएन। तमाम सावधानियों के बावजूद टीवी शोज़ की शूटिंग के दौरान अक्सर हादसे हो जाते हैं और लोगों की जान ख़तरे में पड़ जाती है। कुछ ऐसा ही हादसा रामायण के सेट पर हुआ, जब शो के डीओपी ने सीता बनीं देबिना बनर्जी को आग में झुलसने से बचाया।

रामानंद सागर की रामायण का रीमेक 2008 में प्रसारित किया गया था, जिसे आनंद सागर ने निर्मित निर्देशित किया था। इस नई रामायण की शूटिंग के दौरान सेट पर अक्सर ऐसी घटनाएं हो जाती थीं, जो किसी ना किसी के लिए घातक हो सकती थीं। ऐसी ही एक घटना सीता बनी देबिना के साथ हुई। शो में राम का किरदार निभाने वाले गुरमीत चौधरी बताते हैं- स्वंयवर के बाद विवाह का सीन शूट किया जा रहा था। देबिना ने सिर पर अपना मुकुट पहना हुआ था और साथ में कुछ ऐसा भी था, जो ज्वलनशील था। सिर पर जो दुपट्टा था, वो काफ़ी लम्बा था, जिस पर किसी का ध्यान नहीं गया। 

दुपट्टा हवन कुंड में चला गया और आग पकड़ की। उस वक़्त डीओपी (डायरेक्टर ऑफ़ फोटोग्राफी) ने देख लिया और तत्परता दिखाते हुए शोर मचा दिया। मैंने दुपट्टा सिर से उतारकर फेंक दिया। अगर यह नहीं हटता तो काफ़ी नुक़सान हो सकता था। नई रामायण का प्रसारण इस वक़्त दंगल टीवी पर किया जा रहा है।

रामायण में अंकित अरोड़ा ने लक्ष्मण का किरदार निभाया था, वहीं अखिलेंद्र मिश्रा रावण के रोल में थे। इस रामायण का प्रसारण पहली बार एनडीटीवी इमेजिन पर हुआ था। शो लगभग डेढ़ साल चला था। लॉकडाउन के दौरान कई चैनलों पर माइथोलॉजिकल शोज़ प्रसारित किये जा रहे हैं।

इसकी शुरुआत दूरदर्शन के डीडी नेशनल पर प्रसारित हुए रामायण धारावाहिक के साथ हुई, जिसने काफ़ी कामयाबी हासिल की थी। इसके एक एपिसोड ने दुनिया के सबसे अधिक देखे जाने वाले शो का रिकॉर्ड बनाया था। अब यह धारावाहिक स्टार प्लस पर दिखाया जा रहा है। इसके अलावा उत्तर रामायण, श्र कृष्ण और विष्णु पुराण जैसे शो भी इन दिनों प्रसारित किये जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: जब 4 किलो का मुकुट पहनकर ज़ख़्मी हो गये थे राम, पढ़ें पूरा क़िस्सा

Posted By: Manoj Vashisth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस