Move to Jagran APP

Salman Khan की मौत की रची गई थी साजिश, पाकिस्तान से आया था हाईटैक हथियार, पुलिस ने किये चौंकाने वाले खुलासे

अप्रैल महीने में Salman Khan के गैलेक्सी अपार्टमेंट पर सुबह-सुबह फायरिंग की गई थी। बाद में इस केस से बिश्नोई गैंग का नाम जुड़ा था। अब एक चौंकाने वाले खुलासे में पता चला है कि सलमान खान को मारने की साजिश रची जा रही थी। 8 महीने से सलमान को मारने की साजिश चल रही थी। उनके हर कदम पर नजर रखी जा रही थी।

By Jagran News Edited By: Rinki Tiwari Mon, 01 Jul 2024 08:20 PM (IST)
Salman Khan की मौत की रची गई थी साजिश, पाकिस्तान से आया था हाईटैक हथियार, पुलिस ने किये चौंकाने वाले खुलासे
सलमान खान के मौत की रची गई थी साजिश। फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम

 मिड डे, मुंबई। फिल्म अभिनेता सलमान खान (Salman Khan) की हत्या की साजिश के मामले में नवी मुंबई पुलिस ने आरोप पत्र में बहुत सनसनीखेज ब्योरा देते हुए बताया कि सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moose Wala) की हत्या की तर्ज पर उन्हें मारने की साजिश थी। बिश्नोई गैंग ने अभिनेता सलमान की हर गतिविधि पर नजर रखी। उनके बांद्रा वाले घर से पनवेल वाले फार्महाउस और फिल्म सिटी आने-जाने की गतिवधियों का ब्योरा जुटाया।

8 महीने में रची गई थी साजिश

वह इस हत्या के लिए एके-47, एम 16 और एके-92 का इस्तेमाल करने वाले थे जिसे पाकिस्तान से बिश्नोई गैंग का एक सदस्य लाया था। शूटरों को सलमान खान की हत्या के लिए 25 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी। पनवेल सिटी पुलिस ने अपने आरोप पत्र में बताया है कि फिल्म अभिनेता सलमान खान को मारने की साजिश बिश्नोई गैंग ने अगस्त 2023 से अप्रैल 2024 के बीच रची थी।

पुलिस की गिरफ्त में इतने आरोपी

पुलिस ने अपने आरोप पत्र में बिश्नोई गैंग के कई सदस्यों को गिरफ्तार किया। इन आरोपितों में उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार धनंजय उर्फ अजय कश्यप, गुजरात से गिरफ्तार गौरव भाटिया उर्फ नहाई उर्फ संदीप बिश्नोई, संभाजीनगर से गिरफ्तार वास्पी महमूद खान उर्फ वसीम चिकना, उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार जिशान जकरुल हसन उर्फ जावेद खान और दीपल हवा ¨सह गोगालिया उर्फ जान वाल्मिकी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- 58 साल के Salman Khan क्यों हैं अब तक कुंवारे? पिता सलीम खान ने भाईजान की शादी को लेकर खोला बड़ा राज

Salman Khan

सिद्धू मूसेवाला की तरह मारने की थी साजिश

पिछले महीने पनवेल मजिस्ट्रेट कोर्ट के समक्ष दायर किए गए आरोप पत्र के अनुसार, आरोपितों ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया है और सलमान की हत्या के लिए हाईटेक हथियारों के उपयोग के संबंध में उसी में सारे संदेश साझा किए जाते थे। इन्हीं संदेशों और व्हाट्सएप कॉल में बताया गया कि वैसे ही हथियारों का इस्तेमाल किया जाएगा जैसे हथियारों का इस्तेमाल पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या में किया गया था।

साजिश में शामिल 60 से 70 लोग

आरोप पत्र में यह भी बताया गया कि यह सारी साजिश लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi), उसके भाई अमोल बिश्नोई और गोल्डी बरार ने रची थी। इन व्हाट्सएप वीडियो कॉल में एक और व्यक्ति की पहचान पाकिस्तान के डोगर के रूप में हुई। डोगर ने व्हाट्सएप कॉल में आरोपितों से बात की है। सलमान की हत्या की साजिश में 60-70 लोग शामिल रहे हैं। उनकी विभिन्न स्थानों जैसे बांद्रा स्थित घर गैलेक्सी अपार्टमेंट, पनवेल फार्महाउस और फिल्मसिटी के पूरे रास्ते की रेकी की गई।

Salman Khan Firing

एक आदेश का था इंतजार

डोगर ने वीडियो काल में कहा था कि इन हाईटेक हथियारों को वह खरीद लेगा लेकिन इसका भुगतान उसके बॉस गोल्डी बरार (Goldy Brar) के कनाडा के खाते में करना होगा। उसने कहा कि शूटरों को बरार और अमोल बिश्नोई के सलमान को मारने के आदेश देने का इंतजार है। एक और आरोपित कश्यप ने एक बातचीत में कहा, 'सलमान खान को बुलेट प्रूफ कारों में घूमने दो, हमारे शूटर उसको मारकर रहेंगे।'

यह भी पढ़ें- साउथ के इस सुपरस्टार के साथ स्क्रीन शेयर करेंगे Salman Khan? एटली की फिल्म में होगा डबल धमाका