Move to Jagran APP

'आपको हटाकर किसी और को ले लिया जाता है', आउटसाइडर होने पर 'भैया जी' एक्ट्रेस जोया हुसैन का छलका दर्द

मनोज बाजपेयी की फिल्म भैया जी रिलीज होने वाली है। ऐसे में एक्टर फिल्म के प्रमोशन में बिजी चल रहे हैं। फिल्म की हीरोइन जोया हुसैन भी भैया जी को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। इससे पहले एक्ट्रेस फिल्म मुक्केबाज में नजर आई थीं। फिल्म में उनके काम की तारीफ भी हुई थी। अब वो मनोज बाजपेयी के साथ स्क्रीन शेयर करते हुए नजर आएंगी।

By Vaishali Chandra Edited By: Vaishali Chandra Published: Thu, 23 May 2024 08:56 AM (IST)Updated: Thu, 23 May 2024 08:56 AM (IST)
'भैया जी' में दिखेगा जोया का नया अंदाज, (X Image)

जागरण न्यूज नेटवर्क, मुंबई। फिल्म मुक्काबाज से हिंदी सिनेमा में कदम रखने वाली अभिनेत्री जोया हुसैन 24 मई को प्रदर्शित हो रही फिल्म भैया जी में मुख्य नायिका की भूमिका में नजर आएंगी। इस फिल्म में जोया को जहां अपने मनपसंद अभिनेता मनोज बाजपेयी के साथ काम करने का मौका मिला, तो वहीं उन्होंने कई नई चीजें भी सीखी।

दैनिक जागरण से बातचीत में जोया बताती हैं, "जब मुझे इस फिल्म के लिए फोन आया था, उससे तीन-चार दिन पहले ही मैंने मनोज सर की फिल्म सिर्फ एक बंदा काफी है देखी थी। उनके साथ तो हर कोई काम करना चाहता है ।"

यह भी पढ़ें- Salman Khan की दरियादिली देख दंग रह गए थे मनोज बाजपेयी, जब अवॉर्ड शो में भाईजान ने Satya एक्टर को दिया था सम्मान

अभिनेत्रियों को नहीं मिलते ऐसे मौके

जोया ने आगे कहा, "जब मुझे इस फिल्म के लिए फोन आया, तो लगा कि कदम आगे बढ़ाने के लिए यह सही समय है। हालांकि, फिर भी मुझे संशय था कि पता नहीं, मुझे कास्ट करेंगे या नहीं। फिल्म में मेरी भूमिका एक छोटे शहर की लड़की की है, जो पूरी तरह से आत्मनिर्भर है।

वह राष्ट्रीय स्तर की शूटर है। इस फिल्म में ऐसी बहुत सी चीजें हैं, जो मैंने पहले कभी नहीं की है, न ही सामान्य तौर पर अभिनेत्रियों को करने के लिए मिलता है। हालांकि, वह फिल्म का एक अहम मोड़ है, तो मैं उसके बारे में बता नहीं सकती हूं।"

मनोज बाजपेयी के सुझाव

मनोज के साथ इस फिल्म की शूटिंग करने से पहले जोया काफी नर्वस थीं। हालांकि बाद में मनोज ने उन्हें न सिर्फ सहज महसूस करवाया, बल्कि महत्वपूर्ण सुझाव भी दिया। वह बताती हैं-

पहले जब मैं उनसे मिली थी तो मैं थोड़ा नर्वस थी। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि उनसे बातचीत की शुरुआत कैसे करूं। फिर एक साथ रीडिंग सेशन्स, लंच और डिनर करते-करते धीरे-धीरे बातचीत की शुरुआत हो गई थी। वह बहुत प्रेरक इंसान हैं। उन्होंने मुझसे यही कहा कि कभी-कभी काम अच्छा होता है और कभी-कभी बुरा। अगर कुछ अच्छा नहीं गया है, तो उससे सीख लो, लेकिन उसे अपने दिल पर मत लो।

आउटसाइडर्स के पास नहीं होता विकल्प

जोया की पहली फिल्म मुक्काबाज में उनके काम की काफी तारीफ हुई। उसकी सफलता के बाद की उम्मीदों और उनकी तुलना में मिले काम पर जोया का कहना है-

मुक्काबाज की सफलता के बाद भी मुझे ऐसा बिल्कुल नहीं लगा था कि मुझे अब तो ढेर सारे और बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस से आफर आएंगे। ऐसा सिर्फ उन्हीं लोगों के साथ होता है, जो फिल्म इंडस्ट्री की पृष्ठभूमि से होते हैं।

बाहरी लोगों के साथ नहीं होता है, उन्हें तो धीरे-धीरे ही मौके मिलते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि प्रोजेक्ट से आपको हटाकर किसी और को ले लिया जाता है। इससे तकलीफ तो होती है, लेकिन आपको आगे बढ़ना पड़ता है। इसके अलावा हम आउटसाइडर्स के पास कोई विकल्प ही नहीं होता है।

यह भी पढ़ें- Manoj Bajpayee को 25 सालों से राजनीति में शामिल होने के मिल रहे ऑफर, क्या नेतागिरी में हाथ आजमाएंगे 'भैया जी'?

अपकमिंग प्रोजेक्ट्स

अपने अन्य आगामी प्रोजेक्ट्स के बारे में जोया बताती हैं, "मैं एक फिल्म एक्सेल एंटरटेनमेंट के साथ कर रही हूं, जिसे तेजस ने निर्देशित किया है। यह एक स्पाई थ्रिलर फिल्म है, जिसमें मैंने इमरान हाशमी के साथ काम किया है।

दूसरी फिल्म दिबाकर बनर्जी के साथ है। एक आमिर बशीर निर्देशित फिल्म है माघ: द विंटर विदिन, वह कई प्रतिष्ठित फिल्म फेस्टिवल्स में प्रदर्शित की जा चुकी है। तीनों इसी साल रिलीज हो सकती हैं।" 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.