नई दिल्ली, जेएनएन। डायरेक्टर लीना मण‍िमेकलई (Leena Manimekalai) की फिल्म काली के पोस्टर को लेकर सोशल मीडिया में बवाल मचा हुआ है। मां काली को लेकर बनाये गये विवादित पोस्टर पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाते लीना को गिरफ्तार करने की मांग भी उठ रही है। रविवार से ट्विटर पर 'अरेस्ट लीना मण‍िमेकलई' ट्रेंड कर रहा था। इस बीच बंगाली एक्ट्रेस नुसरत जहां का बयान सामने आया है। धार्मिक भावनाएं आहत करने पर एक्ट्रेस ने अपनी राय रखी है।

सोमवार को इंडिया टुडे के हुए एक इवेंट में तृणमूल कांग्रेस की एमपी और एक्ट्रेस नुसरत जहां ने शिरकत की । जहां उनसे काली मां के पोस्टर पर बचे घमासान को लेकर सवाल पूछा गया। लीना की डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पोस्टर पर हो रहे कॉन्ट्रोवर्सी पर नुसरत ने जवाब देते हुए कहा, मेरा मानना है कि धर्म को बीच में नहीं लाना चाहिए। धर्म को बेचने वाली चीज मत बनाओ। अगर आप मेरी राय पूछेंगे तो मैंने हमेशा क्रिएटिविटी को अलग से सपोर्ट किया है। व्यक्तित्व को अलग सपोर्ट किया है और मैंने यह भी हमेशा से माना है कि धार्मिक भावनाएं आहत नहीं की जा सकतीं। बहुत आसान होता है अपने ड्राइंग रूम में बैठकर सारी मसालेदार स्टोरी को देखना।

यह भी पढ़ें: देश के बाद विदेश पहुंचा पोस्टर विवाद , जानें लीना मणिमेकलाई पर एफआईआर से लेकर उच्चायोग की आपत्ति तक पूरी अपडेट

एक्ट्रेस ने अपनी बात को जारी रखते हुए आगे कहा, मैं किसी की धार्मिक भावना आहत नहीं कर सकती, क्योंकि मैं अपने धर्म को अपने हिसाब से फॉलो करती हूं और आप अपने तरीके से। आपको ऐसा करने का हक है और मुझे भी है। मैं नहीं कहूंगी कि आप सही या गलत हो, क्योंकि वो आप ही जानते हो। अगर आप मेरी राय पूछोगे तो मैं क्रिएटिविटी और धर्म को अलग रखती हूं। क्रिएटिवली अगर आप कुछ कर रहे हो तो उसकी जिम्मेदारी आपकी है।

इस बात पर हो रहा है विवाद

लीना द्वारा शेयर किए गए पोस्टर में एक लड़की मां काली के भेष में नजर आ रही है, जिसके चार हाथ हैं। एक हाथ से तो वे सिगरेट पी रही है, वहीं एक हाथ में एलजीबीटीक्यू समुदाय का झंडा लिया हुआ है। मां काली को सिगरेट पीते हुए इस तरह दिखाए जाने ने ही सोशल मीडिया पर विवाद को जन्म दिया है।   

Edited By: Vaishali Chandra