रुपेशकुमार गुप्ता, मुंबई l इंडियन फिल्म एंड टेलिविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन ने यौन उत्पीडन के आरोप में फंसे निर्माता-निर्देशक विकास बहल को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे एक हफ़्ते में जवाब मांगा है l 

बता दें कि विकास बहल पर उनकी प्रोडक्शन कंपनी में काम करने वाली एक महिला ने गलत हरकत करने का आरोप लगाया था और बाद में कंगना रनौत ने भी बताया कि फिल्म क्वीन की शूटिंग के दौरान विकास ने उनके साथ गलत तरीके से बर्ताव किया था l विकास उस फिल्म के निर्देशक रहे l

इंडियन फिल्म एंड टेलिविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन के मानद अध्यक्ष अशोक पंडित की ओर से जारी लेटर के मुताबिक विकास बहल को फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्री में महिलाओं द्वारा महिलाओं पर किए गए यौन उत्पीड़न के आरोप और बाद में उनकी फैंटम कंपनी के सदस्यों की तरफ़ से पुष्टि किये जाने के बाद संगठन ने इस मामले को गंभीरता से लिया है l

उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर कहा गया है कि वो एक सप्ताह के भीतर अपना पक्ष रखें और ये बताएं कि संगठन से उनकी प्राथमिक सदस्यता से क्यों न रद्द कर दी जायl आईएफटीडीए ट्रेड यूनियन है जिसमें 10000 निर्देशक और सह-निर्देशक हैंl जोकि कई वर्षों से फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बने हुए हैंl

इस मौके पर एक दो पेज का लेटर जारी किया गया है जिसमें महिलाओं की सुरक्षा और उनसे जुड़े विषयों को प्राथमिकता देने की बात कही हैl साथ ही किसी भी प्रकार के यौन दुराचार या यौन हिंसा को बढ़ावा न देने की बात कही हैl कहा गया है कि अन्य महिलाओं से भी अगर ऐसा उनके साथ हो रहा है तो उन्हें भी आगे आना चाहिए l इतना ही नहीं आईएफटीडीए ने यह भी कहा है कि जिन महिलाओं को इस प्रकार का यातनाएं झेलनी हुई पड़ी है उन्हें कानूनी सहायता भी दी जाएगीl साथ ही उनकी पहचान गोपनीय रखी जाएगीl

इसके अलावा महिलाओं से जुड़ी समस्याओं का निवारण करने के लिए तत्काल प्रभाव से एक महिला ग्रीवेंस रिड्रेसल सेल भी स्थापित किया गया है जिसमें 3 महिलाओं की कमेटी होगी और जिसकी अध्यक्षता फिल्म निर्देशक सपना वाघमारे जोशी करेंगी l उसकी सह-अध्यक्ष भावना तलवार होंगी और को- कन्वेयर प्रियंका घातक होंगीl इस कमेटी का निर्माण इसलिए किया गया है ताकि महिलाएं सुरक्षित वातावरण में काम कर सकेl इतना ही नहीं अब आईएफटीडीए ने यह निर्णय लिया है कि वह आगे से महिलाओं को यौन हिंसा से जुड़ी बातें बताने के लिए समय-समय पर सेमिनार भी आयोजित करेंगेl

इस बीच प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने भारत में तेज़ी से सेक्सुअल हरासमेंट के ख़िलाफ़ बुलंद हुई आवाज़ का समर्थन करते हुए काम की जगह पर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर ठोस प्रक्रिया अपनाने की वकालत की हैl इसके लिए गिल्ड एक समिति का गठन करने जा रहा है l

उधर ये भी ख़बर है कि विकास बहल को 1983 विश्व कप क्रिकेट विजय की कहानी पर बन रही फिल्म के को-प्रोड्यूसर से भी हटा दिया गया है l रणवीर सिंह इस फिल्म में लीड रोल निभाने वाले हैं l

यह भी पढ़ें: मी टू के सपोर्ट में मामी फिल्मोत्सव, रजत कपूर और एआईबी की फिल्में हटाई गईं

Posted By: Manoj Khadilkar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस