नई दिल्ली। हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गज कलाकार शम्मी कपूर का आज जन्मदिन है। शम्मू कपूर ने एक्टिंग की एक अलग शैली विकसित की, जिसके लाखों दीवाने हो गए। वैसे शम्मी कपूर को अभिनय की कला विरासत में मिली। शम्मी कपूर का जन्म 21 अक्टूबर 1931 को मुंबई में हुआ।

शम्मी कपूर के पिता पृथ्वीराज कपूर हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के महान अभिनेता थे। घर में फिल्मी माहौल था, इसलिए बचपन से ही शम्मी कपूर की रुचि भी अभिनय की ओर हो गई। साल 1953 में रिलीज फिल्म 'जीवन ज्योति' से शम्मी कपूर ने बतौर अभिनेता फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखे।

हुआ कुछ ऐसा, ऐश्वर्या की बेटी रणबीर को समझ बैठी अपना पापा

आज के दौर में इंटरनेट के करोड़ों लोग दीवाने है। दिलचस्प बात यह है कि शम्मी कपूर फिल्म इंडस्ट्री में ही नहीं, देश मे भी इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले कुछ शुरुआती लोगों में से थे। अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों पर खास पहचान बनाने वाले शम्मी कपूर 14 अगस्त 2011 को इस दुनिया को अलविदा कह गये।

करियर के शुरुआती दौर (1953 से 1957 तक) शम्मी कपूर फिल्म इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाने के लिए स्ट्रगल करते दिखे। इस दौरान उन्हें जो भी भूमिका मिली उसे वह स्वीकार करते चले गये। शम्मी कपूर को पहचान निर्देशक नासिर हुसैन की साल 1957 में आई फिल्म 'तुमसा नहीं देखा' से मिली। शम्मी कपूर ने अपने पांच दशक के लंबे करियर में लगभग 200 फिल्मों में काम किया। उनकी कुछ बेहतरीन फिल्में हैं- रंगीन रातें, तुमसा नही देखा, मुजरिम, उजाला दिल देके देखो, जंगली, प्रोफेसर चाइना टाउन, ब्लफ मास्टर, कश्मीर की कली, राजकुमार, जानवर, तीसरी मंजिल, ऐन इवनिंग इन पेरिस, ब्रह्मचारी, तुमसे अच्छा कौन है, प्रिंस, अंदाज, विधाता आदि।

Posted By: Tilak Raj