मुंबई। यशराज फिल्म्स के बॉस आदित्य चोपड़ा इन दिनों अपनी अगली डायरेक्शनल फिल्म 'बेफिक्रे' को लेकर काफी सुर्खियों में हैं। सबसे पहले उन्होंने अपने पिता यश चोपड़ा के जन्मदिन पर अपनी इस नई फिल्म का ऐलान किया। इसके बाद उन्होंने इसके लीड एक्टर के तौर पर रणवीर सिंह को साइन करने के बाद उनकी हीरोइन के रूप में वाणी कपूर के नाम का खुलासा कर दिया। जिन्होंने 2013 में यशराज बैनर की ही फिल्म 'शुद्ध देसी रोमांस' से बॉलीवुड में डेब्यू किया और उसके बाद उनकी कोई फिल्म आई ही नहीं।

देखिए, नरगिस और फ्रीडा ने न्यूयॉर्क में कैसे की जमकर पार्टी

वैसे पिछले काफी समय से उनके कमबैक की खबरें सामने आ रही थीं और अब जाकर उनको लेकर कुछ अच्छी खबर सामने आई है। खैर, सुनने में आया है कि वाणी यशराज कैंप को छोड़ना चाहती थीं, क्योंकि उनकी पहली फिल्म 'शुद्ध देसी रोमांस' से उनके फिल्मी कैरियर को कोई फायदा नहीं हुआ। मगर आदित्य चोपड़ा ने उन्हें धैर्य रखने को कहा और फिर उन्होंने अपनी अगली फिल्म 'बेफिक्रे' में लीड हीरोइन का रोल ऑफर कर दिया।

फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े एक सूत्र के मुताबिक, वाणी को दूसरी प्रोडक्शन कंपनियों से कुछ फिल्मों के ऑफर्स मिले थे। यहां तक कि उन्होंने इनमें से एक को साइन करने का पूरा मन भी बना लिया था, क्योंकि बॉलीवुड में डेब्यू किए उन्हें करीब दो साल हो चुके थे। मगर उनकी कोई और फिल्म नहीं आई। उन्होंने आदित्य चोपड़ा को भी अपनी इस इच्छा के बारे में बताया कि वो यशराज बैनर से बाहर काम करना चाहती हैं। मगर आदित्य चोपड़ा ने किसी तरह बहला-फुसलाकर उन्हें धैर्य रखने और कहीं और नहीं जाने को मना लिया।

शूटिंग के लिए लंदन पहुंचे अक्षय, पत्नी के साथ गुजारा दिन

उन्होंने वाणी को और भी बड़ा ब्रेक देने का भरोसा दिलाया और फिर इस तरह उन्हें फिल्म 'बेफिक्रे' में लीड हीरोइन का रोल मिल गया। आपको बता दें कि 'शुद्ध देसी रोमांस' के बाद वाणी 'बैंड बाजा बारात' के तमिल रीमेक में नजर आई थीं, जो कि यशराज बैनर की ही थी। खैर, वाणी के प्रवक्ता ने इस तरह की रिपोर्टों को सिरे से खारिज कर दिया है और कहा कि वाणी दूसरे प्राेजेक्ट साइन करने के लिए आजाद हैं। उन पर कोई बंदिश नहीं है। इसके साथ ही यह बताया कि वाणी को कमबैक में इसलिए समय लग गया, क्योंकि सही स्क्रिप्ट का इंतजार था।

Posted By: Pratibha Kumari