लखनऊ, जेएनएन। सुहाने मौसम और अवकाश के बावजूद हाईप्रोफाइल कैंट विधानसभा सीट पर सोमवार को हुए उपचुनाव के प्रति मतदाताओं में उदासीनता दिखी। महज 29.55 प्रतिशत लोग ही मतदान केद्रों पर पहुंचे। यह प्रतिशत पिछले विधानसभा चुनाव से काफी कम है। कम मतदान और कुछ स्थानों पर ईवीएम की खराबी को छोड़कर बाकी सब सामान्य रहा। एक पीठासीन अधिकारी को तबीयत खराब होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

प्रयागराज से सांसद चुनी गईं रीता बहुगुणा जोशी के इस्तीफे से खाली हुई सीट के लिए कुल 13 उम्मीदवार मैदान में थे। जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि पौने चार लाख मतदाता वाली विधानसभा सीट पर महज 29.55 प्रतिशत वोट पड़े। पिछले चुनाव में 50.59 प्रतिशत वोटिंग हुई थी।

शुरू के दो घंटों में 3.7 प्रतिशत मतदान

वोटिंग प्रतिशत बढ़े, इसके लिए प्रशासन ने न केवल कैंट बल्कि पूरे जिले में सवैतनिक अवकाश घोषित किया था। मौसम भी मतदाताओं के अनुकूल था। इसलिए प्रशासन मान रहा था कि मतदाता बड़ी संख्या में बाहर निकलेंगे। मगर सुबह से ही मतदताओं में उत्साह नजर नहीं आया। कैंट इलाके में दिलकुशा स्थित केंद्रीय विद्यालय और संस्कृत संस्थान जैसे वीआइपी बूथों पर भी चुनाव कार्मिक मतदाताओं का इंतजार करते दिखे। पहले दो घंटों में केवल 3.7 प्रतिशत मतदान ने यह संकेत दे दिया था कि वोटिंग प्रतिशत क्या रहने वाला है।

मंत्री और महापौर ने भी डाला वोट

उपचुनाव में कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ने गीता पल्ली में अपना वोट डाला। वहीं, महापौर संयुक्त भाटिया ने परिवार सहित आलमबाग में अपना वोट दिया। भाजपा प्रत्याशी सुरेश तिवारी ने भी परिवार सहित वोट किया। 

मतदाताओं को घर से निकालने में रहे विफल

प्रशासनिक मशीनरी के अलावा प्रत्याशी भी वोटरों को घरों से निकालने में नाकाम रहे। वोटिंग का हाल देखकर कंट्रोल रूम से पल-पल की खबर ले रहे जिला निर्वाचन अधिकारी भी मैदान में निकले और कई केंद्रों का निरीक्षण किया।

कई स्थानों पर खराब हुई ईवीएम

क्षेत्र के 68 मतदान केद्रों के 344 बूथों पर चुनाव के लिए इस्तेमाल की गई करीब एक दर्जन ईवीएम में खराबी पेश आई। हालांकि, जल्द ही अधिकारियों ने इसे दुरुस्त कर दिया।

ये रहा वोटिंग का ट्रेंड 

सुबह सात से नौ बजे तक : 3.7 प्रतिशत

सुबह नौ से ग्यारह बजे तक : 9.4 प्रतिशत

सुबह ग्यारह से दोपहर एक बजे तक : 16.10 प्रतिशत

दोपहर एक से तीन बजे : 21.85 प्रतिशत

दोपहर तीन से शाम पांच बजे तक : 28.53 प्रतिशत

शाम छह बजे : फाइनल 29.55 प्रतिशत

डीएम कौशलराज शर्मा ने बताया क‍ि चुनाव पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। कहीं से भी किसी तरह की गड़बड़ी की शिकायत नहीं मिली है। वोटर लिस्ट को लेकर भी लोगों को परेशानी नहीं हुई। कम वोट प्रतिशत चिंता का विषय है और प्रशासन इस दिशा में अधिक प्रयास करेगा। 

पीठासीन अधिकारी बेहोश हुए 

आलमबाग के गढ़ी कनौरा में आजाद स्कूल में चल रही वोटिंग के बीच पीठासीन अधिकारी चिंता नंद की हालत अचानक बिगड़ गई। बताया जा रहा है कि एंबुलेंस के लिए काफी देर तक इंतेजार करना पड़ा। जिसके बाद चौकी इंचार्ज ने पीठासीन अधिकारी को अस्‍पताल में भर्ती कराया।  

लखनऊ कैंट से 13 उम्‍मीदवार

लखनऊ कैंट के 13 उम्मीदवारों में भाजपा के सुरेश तिवारी, सपा के कैप्टन आशीष चतुर्वेदी, कांग्रेस के दिलप्रीत और बसपा के अरुण द्विवेदी जोर-आजमाइश कर रहे हैं। अंबेडकरनगर के जलालपुर में भाजपा से डा. राजेश सिंह, सपा से सुभाष राय, बसपा की डा. छाया वर्मा और कांग्रेस के सुनील मिश्र समेत 13 उम्मीदवार हैं। बहराइच की बलहा में 11 उम्मीदवारों में भाजपा की सरोज सोनकर, सपा की किरन भारती, कांग्रेस की मन्नू देवी और बसपा के रमेश गौतम मुकाबले में हैं। बाराबंकी की जैदपुर सीट पर भाजपा के अंबरीश रावत, कांग्रेस के तनुज पूनिया, सपा के गौरव रावत और बसपा के अखिलेश अंबेडकर अपनी-अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए जूझ रहे हैं। 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप