Move to Jagran APP

Lok Sabha Election 2024: रॉबर्ट्सगंज...कैसे पड़ा यूपी की इस लोकसभा सीट का अंग्रेजी नाम? पढ़िए इसके पीछे की कहानी

UP Lok Sabha Election 2024 उत्तर प्रदेश की एक लोकसभा सीट का नाम रॉबर्ट्सगंज है। इसका अंग्रेजी नाम इसे चर्चा का विषय बना देता है। स्थानीय लोगों को छोड़ दें तो अक्सर दूसरे लोगों में इस बात को लेकर कौतूहल रहता है कि आखिर इस जगह का नाम अंग्रेजी में क्यों हैं। जानिए रॉबर्ट्सगंज नाम के पीछे की क्या है कहानी?

By Jagran News Edited By: Sachin Pandey Published: Sat, 18 May 2024 02:13 PM (IST)Updated: Sat, 18 May 2024 02:13 PM (IST)
Lok Sabha Election 2024: रॉबर्ट्सगंज, यूपी के सोनभद्र जिले का मुख्यालय है।

चुनाव डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिहाज से उत्तर प्रदेश काफी अहम राज्य है। यहां की 80 सीटें सरकार बनाने में निर्णायक भूमिका निभाती हैं। यहां की कई सीटों का इतिहास काफी रोचक है। इन्हीं में से एक सीट ऐसी है, जिसका नाम एक पूर्व ब्रिटिश अफसर के नाम पर पड़ा है।

ये लोकसभा सीट है रॉबर्ट्सगंज, जो कि राज्य के सोनभद्र जिले में स्थित एक शहर है। सोनभद्र जिले को मीरजापुर के दक्षिणांचल से अलग करके बनाया गया है। यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने 4 मार्च 1989 को सोनभद्र के रूप में नया जिला बनाने की घोषणा की थी। इसके बाद रॉबर्ट्सगंज को नए जिले का मुख्यालय बनाया गया।

कैसे पड़ा अंग्रेजी नाम?

शहर का नाम रॉबर्ट्सगंज पड़ने के पीछे की कहानी की बात करें तो ब्रिटिश हुकूमत ने कई शहरों और कस्बों का नामकरण अपनी सुविधा के अनुसार किया था। इसी कड़ी में 1928 में 'टाड़ का डौर' नामक इलाके का नाम बदलकर रॉबर्ट्सगंज किया गया। फ्रेडरिक रॉबर्ट्स जो कि 1885 से 1893 तक भारतीय ब्रिटिश सेना के कमांडर इन चीफ थे। सेना के इन फील्ड मार्शल फ्रेडरिक रॉबर्ट के नाम पर ही इसका नामकरण किया गया।

ये भी पढ़ें- लगातार टूटती गई 139 साल पुरानी कांग्रेस, शरद पवार से ममता बनर्जी तक जानिए किन दिग्गजों ने तोड़ा नाता और बना ली अपनी पार्टी?

1 जून को वोटिंग

बहरहाल रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट से पिछला चुनाव अपना दल (एस) के पकौड़ी लाल कोल ने जीता था। इस बार पार्टी ने उनकी बहू रिंकी कोल को इस सीट से टिकट दिया है। अपना दल (एस) भाजपा के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। वहीं इंडी गठबंधन के तहत सपा ने छोटेलाल खरवार को यहां से प्रत्यााशी बनाया है। इस सीट पर आखिरी चरण में एक जून को वोटिंग होगी।

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: ये हैं छठेचरण के सबसे गरीब प्रत्याशी, संपत्ति जानकर चौंक जाएंगे आप


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.