जयपुर, मनीष गोधा। राजस्थान में भाजपा ने 2014 का चुनाव परिणाम एक बार फिर दोहरा दिया है। अंतर सिर्फ इतना है कि उस समय भाजपा सभी 25 सीटों पर चुनाव लड़ी और जीती थी। इस बार 24 सीटों पर खुद और एक सीट पर अपने सहयोगी के साथ जीती है। राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी गैर कांग्रेसी पार्टी ने लगातार दो बार सूपड़ा साफ जीत हासिल की है। चार माह पहले दिसंबर में हुए विधानसभा चुनाव से तुलना करें तो भाजपा ने विधानसभा चुनाव में जिन 12 सीटों पर अपनी बढ़त गंवाई थी, उन पर फिर से बढ़त बना ली।

राज्य में पहले चरण की 13 सीटों पर 29 अप्रैल को रिकॉर्ड 68.22 प्रतिशत वोटिंग हुई। वहीं, छह मई को दूसरे चरण की 12 सीटों पर 63.78 प्रतिशत मतदान रहा। प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए कुल 66.12 प्रतिशत वोटिंग हुई। 2014 के लोकसभा चुनावों में प्रदेश में 25 सीटों पर 63.10ः वोटिंग हुई थी। इस तरह राजस्थान में कुल वोटिंग प्रतिशत बढा था और तेज गर्मी के बावजूद लोगों ने खुल कर वोटिंग की थी।

राजस्थान के चुनाव परिणाम की खास बातें
- इस बार के चुनाव परिणाम में पार्टी प्रत्याशियो की जीत का अंतर बहुत भारी है। पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी ने पांच सीटों पर एक लाख से कम मार्जिन से जीती थी और इनमे से दो पर तो 50 हजार से भी कम का मार्जिन था, लेकिन इस बार सिर्फ दो सीटों दौसा और धौलपुर-करौली पर एक लाख से कम का मार्जिन दिख रहा है। हालांकि पिछली बार भी यही दो सीटें थीं,  जहां पार्टी ने 50 हजार से कम की जीत हासिल की थी।
- इस बार राजस्थान से सबसे बड़ी जीत भीलवाड़ा के भाजपा प्रत्याशी सुभाष बहेडिया ने हासिल की है। उन्होंने 6.12 लाख वोटों के मार्जिन से जीत हासिल की है।
- इस बार भाजपा प्रत्याशी ने दो सीटों पर एक लाख से कम, दो पर एक लाख से ज्यादा, छह पर दो लाख से ज्यादा, छह पर तीन लाख से ज्यादा, छह पर चार लाख से ज्यादा, दो पर पांच लाख से ज्यादा और एक सीट पर छह लाख सेे ज्यादा की जीत हासिल की है।
- चार सीटें बीकानेर, जयपुर शहर, जोधपुर और जालौर ऐसी भी हैं, जहां 2014 के मुकाबले मार्जिन कम हुए हैं। इन चारों सीटों पर पार्टी ने मौजूदा सांसदों को रिपीट किया है। इनमें बीकानेर से अर्जुनराम मेघवाल और जोधपुर से गजेन्द्र सिंह शेखावत केंद्र में मंत्री भी हैं।
- राजस्थान मे भाजपा ने 16 सीटों पर मौजूदा प्रत्याशियों को मौका दिया था और नौ सीटों पर नए चेहरे उतरे थे। यह रणनीति कामयाब साबित हुई।

राजस्थान का चुनाव एक नजर में

सीट जीत का मार्जिन
2014 2019

श्रीगंगानगर 291741 406382 निर्णायक बढ़त
निहाल चंद मेघवाल
बीकानेर 308079 264081 निर्णायक बढ़त
अर्जुनराम मेघवाल
चूरू 294739 329456 निर्णायक बढत
श्राहुल कस्वां
झुंझुनू 233835 291021 निर्णायक बढत
नरेन्द्र  
सीकर 239196 290659 निर्णायक बढत
स्वामी सुमेधानंद सरस्वती
ज्यपुर ग्रामीण 332696 389403 निर्णायक बढत
राज्यवर्धन सिंह राठौड
जयपुर शहर 539345 424102 निर्णायक बढत
रामचरण बोहरा
अलवर 283896 323786 निर्णायक बढत
बाबा बालकनाथ
भरतपुर 245468 318399 निर्णायक बढत
रंजीता कोली
धौलपुर-करौली 27216 95954 निर्णायक बढत
मनोज राजोरिया
दौसा 45404 78023 निर्णायक बढत
जसकौर मीणा
टोंक-स.माधोपुर 135506 111291 घोषित
सुखबीर सिंह जौनपुरिया
अजमेर 171983 416424 घोषित
भागीरथ चैधरी
नागौर 75218 178825 निर्णायक बढ़त
हनुमान बेनीवाल
पाली 399039 477378 निर्णायक बढ़त
पी.पी.चैधरी
जोधपुर 410051 274440 घोषित
गजेन्द्र सिंह शेखावत
बाडमेर 87461 323808 घोषित
कैलाश चैधरी
जालौर 381145 261110 घोषित
देवजी पटेल
उदयपुर 236762 435734 निर्णायक बढ़त
अर्जुनराम मीणा
बासंवाडा 91916 301840 निर्णायक बढ़त
कनकमल कटारा
चित्तौड़गढ़     316857 576247 निर्णायक बढ़त
सीपी जोशी
राजसमंद 395705 548942 निर्णायक बढ़त
दीयाकुमारी
भीलवाडा 246264 612000 घोषित
सुभाष बहेडिया
कोटा 200782 278512 निर्णायक बढ़त
ओम बिडला
झालावाड-बारां 281546 453928 निर्णायक बढ़त
दुष्यंत सिंह
(चुनाव विभाग से प्राप्त अंतिम आंकड़ों के अनुसार) 

इन सीटों पर भी जीत हुई हासिल
पुलवामा हमले में राजस्थान से पांच जवान शहीद हुए थे। ये कोट, जयपुर, धौलपुर, राजसमंद और भरतपुर से थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सभी सभााओं में इन शहीदो को याद किया था। इन शहीदों के मूल निवास से जुड़ी सभी सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra