भुवनेश्वर, जेएनएन। Prime Minister Narendra Modi in Odisha प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कोरापुट जिला अन्तर्गत जयपुर स्थित बांकवीजा मैदान में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए एक तरफ जहां कांग्रेस एवं बीजू जनता दल पर कड़ा प्रहार किया तो वहीं दूसरी तरफ ओडिशा एवं देश में भाजपा की डबल इंजन वाली सरकार बनाने का आह्वान किया। इस जनसभा में नवरंगपुर लोकसभा एवं कोरापुट के लोकसभा उम्मीदवार तथा इन दोनों लोकसभा के अन्तर्गत आने वाले विधानसभा के उम्मीदवारों के साथ भाजपा के तमाम वरिष्ठ नेता व कायकर्ता उपस्थित थे। 

प्रधानमंत्री ने भारत माता के जयकारे एवं जय जगन्नाथ के नारे के साथ ओडिआ भाषा से अपना अभिभाषण शुरू करते हुए कहा कि आपका आशीर्वाद लेने के लिए आपका चौकीदार आपके बीच आया है और लोगों से चौकीदार हूं का नारा भी लगवाया। प्रधानमंत्री ने कमला मां एवं पूरे ओडिशा को पद्म पुरस्कार के लिए बधाई दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि मां कमला का आशीर्वाद कमल को मिल गया है। कोरापुट के सैकड़ों धान किस्म को सुरक्षित करने के लिए जो काम कमला जी ने किया है उसका पूरी दुनिया में गौरवगान हो रहा है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 में पूरी ईमानदारी व निष्ठा से आपकी सेवा करने का हमने वादा किया था। इसी के तहत आपके प्रधान सेवक के तौर पर मेरी कोशिश रही है कि मेरे प्रयास में कोई कमी न रह जाए। पांच साल में आपने जिस तरह मेरा साथ दिया है, मुझे दिशा दिखाई है, विरोधियों के अनेक वार के सामने आप सभी ने मुझे सुरक्षा दी है, इसके लिए मैं आपका आभारी हूं। 

ओडिशा में पक्का घर, बिजली, मुफ्त में दिया गैस संयोग

प्रधानमंत्री ने कहा कि ओड़िशा में 8 लाख गरीब परिवार को पक्का घर, उज्ज्वला योजना के जरिए 40 लाख घरों में गैस संयोग, 3 हजार गांव में बिजली पहुंचाई है। आपका जीवन रोशन कर पाया हूं। 24 लाख घरों में जहां अंधेरे की जिंदगी थी, मुफ्त में बिजली का संयोग दिया है तो इस सबके पीछे आपका साथ और आपका आशीर्वाद रहा है। मेरी सरकार के पांच साल की सफलता की हकदार देश की एवं ओडिशा की जनता है। भगवान जगन्नाथ जी की धरती से आपका भी धन्यवाद करता हूं और इस पवित्र धरती से देश वासियों का धन्यवाद करता हूं। 

विकास की पंचधारा का काम हमारी सरकार ने किया है

विकास की पंचधारा बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को रोजगार बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन जन की सुनवाई के लिए मैने पूरा प्रयास किया है। आदिवासी कल्याण समाज के लिए 30 प्रतिशत की वृद्धि की है। पांच साल में जो समर्थन मूल्य सरकार देती है उसे तीन बार बढ़ाया गया है। पांच साल पहले जहां 10 वन उपज पर मिनिमम सपोर्ट प्राइस एमएमसपी मिलती थी उसे बढ़ाकर हमने 50 वन उपज कर दी है। ओडिशा के विकास के लिए हमने कोई कसर नहीं छोड़ी है। सड़क, रेलवे, रायगड़ा में नया रेल डिवीजन बनाया गया है, रेल लाइन का विस्तार नवरंगपुर और मालकानगिरी तक किया जा रहा है। गांवों में सड़कों का जाल बिछाने के लिए फंड की कमी न हो इसका ध्यान रखा गया है। युवाओं और महिलाओं को रोजगार मिले इसके लिए स्वयं सहायक गुट को सशक्त किया जा रहा है। मुद्गा योजना के तहत बिना बैंक गारंटी के कर्ज दिया जा रहा है। ओडिशा की धरती से देश के वैज्ञानिकों को बधाई दी और तालियां बजवाकर उनका सम्मान किया। 

दो दिन पहले बना ऐतिहासिक उपलब्धि का गवाह 

दो दिन पहले ही ओडिशा एक ऐसी ऐतिहासिक उपलब्धि का गवाह बना है, जिसने पूरी दुनिया को भारत के सामर्थ्य से परिचित कराया है। भारत अब अंतरिक्ष में भी चौकीदारी करने में सक्षम है। जब अंर्तकरण साफ होता है तब अंतरिक्ष में भी सफलता तय होती है। नए भारत के आत्मविश्वास की ताकत पर आज पूरा देश गर्व कर रहा है। जिन लोगों को भारत की ये उपलब्धि छोटी नजर आ रही है, उनकी कथनी करनी को भी पूरा देश देख रहा है। सात दशकों से गरीबों के साथ गद्दारी कर रहे लोग अब बौखला गए हैं कि देश के वैज्ञानिक, सेना, नौजवान के सामर्थ्य का अपमान कर रहे हैं। इस तरह के अपमान करने वालों को सबक सिखाना चाहिए। 

भारत आतंक पर कार्रवाई करता है तो विरोधी सबूत मांगते हैं

भारत जब आतंकियों पर कार्रवाई करता है, उन्हें घर में घुसकर मारता है तो भी ये लोग सबूत मांगते हैं। एक महीना हो गया पाकिस्तान लाशें गिन रहा है और ये लोग सबूत मांग रहे हैं। दुश्मन व आतंक के ठिकानों में घुसकर मारने वाली सरकार चाहिए, या फिर घबराकर नीचे मुंडी कर बैठ जाने वाली सरकार चाहिए। आप तय करें कि निर्णय करने वाली सरकार चाहिए या नारेबाजी करने वाली सरकार चाहिए। हिन्दुस्तान को मजबूत सरकार चाहिए मगर इन्हें मजबूर सरकार चाहिए। 

कांग्रेस एवं बीजद दोनों ने तोड़ा है आपका भरोसा

कांग्रेस को आपने दशकों तक ओडिशा का विकास करने की जिम्मेदारी सौंपी, जिस बीजद को आपने इतना समय दिया उसे आपके भरोसे तोड़ने की सजा देनी चाहिए कि नहीं, यह आपको तय करना है। जो सरकार नक्सली हिंसा पर काबू नहीं पा रही हैं, उसे क्यों सजा न दें। 2019 का चुनाव एक सांसद या एक विधायक का नहीं है यह चुनाव देश एवं राज्य में विकास का डबल इंजन लगाने वाली सरकार का चुनाव है। नए ओडिशा एवं नए भारत के विकास का चुनाव है। यहां राज्य एवं केन्द्र में दोनों ही जगहों पर भाजपा की सरकार होगी तब यह सपना पूरा होगा। सबके साथ सबके विकास से ओड़िशा मजबूत होगा, पूर्वी भारत मजबूत होगा, पूरा भारत मजबूत होगा। क्या चिटफंड घोटालेबाज ओडिशा को मजबूती दे पाएंगे, क्या आदिवासियों की संपत्ति एवं संसाधन पर खनन माफिया को बढ़ावा देने वाले लोग ओडिशा को मजबूत बना सकते हैं, क्या जिनके राज्य में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, बेटियों पर अत्याचार करने वालों को सजा देने में जो नाकाम रहे हैं, ऐसे लोग ओडिशा को सुरक्षित और मजबूत बना पाएंगे। मुझे आपका जवाब पता है, क्योंकि आपने यह दर्द झेला है। इस दर्द का बदला मतदान के दिन कमल के निशान पर बटन दबाकर निकलनर चाहिए। चौकीदार को एक बार मौका दो। मैं भी चौकीदार का नारा बुलंद किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम और आप चौकस होकर चौकीदारी करेंगे, तभी भ्रष्टाचारी व अत्याचारी डरेंगे। आपका चौकीदार आपके साथ है। 

प्राकृतिक संपदा से अमीर है ओड़िशा मगर यहां के लोग गरीब

ओडिशा में प्रकृति ने कोई कमी नहीं छोड़ी है। ओडिशा में प्राचीन मंदिर, सुंदर झरने, घने जंगल हैं, प्राकृतिक संपदा से अमीर है ओडिशा मगर यहां के लोग गरीब हैं। यह कांग्रेस एवं बीजद सरकारों की नाकामी का जीता जागता सबूत है। पिछले दिनों जिसने भी यहां सरकार चलाई है, लोगों को गरीबी एवं भुखमरी के सिवाय कुछ भी नहीं दिया है। स्वतंत्रता सेनानी शहीद लक्ष्मण नायक के गांव में सुविधाओं का क्या हाल है। ओडिशा में विकास में बहुत पीछे रह गया है। स्वास्थ्य व्यवस्था के बारे में आप अच्छी तरह जानते हैं। कोरापुट में तो इलाज मिला नहीं मृत्यु के बाद भी अपमानित होना पड़ता है।

आपके इस चौकीदार ने इस हालत को बदलने का प्रयास किया है। देश की बड़ी पंचायतों में अस्पताल खोलने का प्रयास कर रहे हैं। पूरे देश में स्वास्थ्य सेवा का काम चल रहा है, मगर ओडिशा में हमारे इन प्रयासों का लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है क्योंकि यहां पर भाजपा की सरकार नहीं है। आज दुनिया आयुष्मान भारत की चर्चा कर रही है। यह दुनिया की सबसे बड़ी योजना है। देश के 50 करोड़ गरीबों को हर साल 5 लाख रुपये तक मुफ्त इलाज सुनिश्चित हुआ है। देश के 17 लाख गरीब मरीजों को इसका लाभ मिल चुका है, मगर इसमें से ओडिशा का एक भी गरीब मरीज नहीं है। इसके पीछे यहां की सरकार जिम्मेदार है। ओडिशा के सरकार को हमने इस योजना शामिल होने के लिए बहुत प्रयास किया, मगर यह सरकार कुछ सुनने व समझने को तैयार ही नहीं है। गरीबों के प्रति उसके संवेदना नहीं है। गरीब कैसे जी रहा है उसे देखने की फुरसत इनके पास नहीं है। जो खेल इन्होंने आपके स्वास्थ्य के साथ ओडिशा से  किया है, वही खेल इस सरकार ने किसानों के साथ भी खेला है।

पीएम किसान योजना का ओडिशा के किसानों को लाभ नहीं मिल रहा है। इस खेल को बंद करने का समय आ गया है। नवीन सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आदिवासी क्षेत्र के लिए एक और नई योजना शुरू की है। खदान संपत्ति का एक हिस्सा यहां के लोगों के विकास के लिए लगाने को कहा है। साढ़े छह हजार करोड़ रुपये मिले हैं। मगर यहां की सरकार ने केवल 1 हजार करोड़ रुपया खर्च किया है। ऐसी सरकार को जाना चाहिए कि नहीं जाना चाहिए। ऐसी सरकार को ओडिशा से विदा करने का अब समय आ गया है। 

भाजपा शासित राज्य में तेजी से विकास हो रहा है, मगर ओडिशा में नहीं हो रहा है। ओडिशा में इस बार आप इस कमी को पूरा करें। ओडिशा में सत्ताधारी लोग समझ रहे हैं कि जनता उनकी जेब में हैं। भाजपा सरकार का डबल इंजन आपको और प्रदेश तथा देश को आगे ले जाएगा। 

Posted By: Babita

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप