Move to Jagran APP

Modi 3.0: नरेन्द्र मोदी के साथ करीब 65 मंत्री ले सकते हैं शपथ, इन चेहरों को नहीं मिली जगह; अनुभवी नेताओं पर जताया भरोसा

Modi 3.0 Cabinet शपथ ग्रहण समारोह से पहले नरेन्द्र मोदी ने अपने संभावित मंत्रिपरिषद के साथ बैठक की। तकरीबन 65 मंत्री पीएम मोदी के साथ शपथ ले सकते हैं। मंत्रिपरिषद में निवर्तमान सरकार के अधिकांश प्रमुख चेहरों को शामिल किया जाएगा जिससे सरकार अपने नए कार्यकाल में निरंतरता का संदेश देने का प्रयास कर रही है। साथ ही कई नए चेहरे भी सरकार का हिस्सा बनेंगे।

By Agency Edited By: Sachin Pandey Sun, 09 Jun 2024 03:30 PM (IST)
Modi 3.0: नरेन्द्र मोदी के साथ करीब 65 मंत्री ले सकते हैं शपथ, इन चेहरों को नहीं मिली जगह; अनुभवी नेताओं पर जताया भरोसा
शपथ ग्रहण से पहले नरेन्द्र मोदी ने अपने संभावित मंत्रिपरिषद के साथ बैठक की। (Photo - ANI)

पीटीआई, नई दिल्ली। मोदी 3.0 कैबिनेट का स्वरूप लगभग तैयार है और नरेन्द्र मोदी आज अपने मंत्रिपरिषद के साथ तीसरी बार शपथ ग्रहण करेंगे। शपथ ग्रहण समारोह शाम 7:15 बजे राष्ट्रपति भवन में आयोजित किया जाएगा। इस दौरान कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे।

इससे पहले मोदी ने अपने संभावित मंत्रिपरिषद के साथ बैठक की। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार तकरीबन 65 मंत्री पीएम मोदी के साथ शपथ ले सकते हैं। मंत्रिपरिषद में निवर्तमान सरकार के अधिकांश प्रमुख चेहरों को शामिल किया जाएगा, जिससे सरकार अपने नए कार्यकाल में निरंतरता का संदेश देने का प्रयास कर रही है।

पुराने चेहरों पर भरोसा

अमित शाह, राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण, एस जयशंकर जैसे अहम चेहरे इस बार भी कैबिनेट में शामिल रहेंगे। साथ ही पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, अश्विनी वैष्णव और हरदीप सिंह पुरी जैसे वरिष्ठ नेता भी नई सरकार का हिस्सा बने रहेंगे। हालांकि, अनुराग ठाकुर इस बैठक में शामिल नहीं रहे, जिससे संकेत मिलते हैं कि उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर रखा जा सकता है। अनुराग हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र से फिर से सांसद चुनकर आए हैं।

इसके अलावा स्मृति ईरानी, ​​जिन्हें अमेठी में बड़ी हार का सामना करना पड़ा, उन्हें भी नई सरकार में जगह मिलने की संभावना नहीं है। परषोत्तम रूपाला भी मंत्रिपरिषद से बाहर रह सकते हैं, जो चुनाव तो जीते, लेकिन चुनाव के दौरान राजपूत समुदाय पर की गई उनकी टिप्पणी से बड़ा विवाद पैदा हो गया था। केरल के तिरुवनंतपुरम से करीबी मुकाबले में शशि थरूर से हारने वाले राजीव चंद्रशेखर भी नई सरकार से गायब रह सकते हैं।

नए चेहरे भी होंगे शामिल

गौरतलब है कि मनोनीत प्रधानमंत्री आमतौर पर शपथ ग्रहण समारोह से पहले नए मंत्रियों से मिलते हैं। इस बार कई नए चेहरों को भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी। भाजपा नेता मनोहर लाल खट्टर, सी आर पाटिल, शिवराज सिंह चौहान, बंदी संजय कुमार और रवनीत सिंह बिट्टू केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल होंगे। भाजपा के सहयोगियों से भी कई नए चेहरे सरकार में शामिल किए जाएंगे।

सहयोगी दलों से किसे मिलेगी जगह

सहयोगी दलों में टीडीपी के राम मोहन नायडू और चंद्र शेखर पेम्मासानी, जेडी (यू) के ललन सिंह और रामनाथ ठाकुर, शिव सेना के प्रतापराव जाधव शपथ ले सकते हैं। इसके अलावा चिराग पासवान, जीतन राम मांझी, एचडी कुमारस्वामी, जयंत चौधरी, रामदास अठावले और अनुप्रिया पटेल जैसे एनडीए के अन्य सदस्यों को भी मंत्रिपरिषद में जगह दी जाएगी।

सूत्रों के अनुसार भाजपा के ज्योतिरादित्य सिंधिया, भूपेन्द्र यादव, प्रल्हाद जोशी, गिरिराज सिंह, अर्जुन राम मेघवाल, जीतेन्द्र सिंह, एसपीएस बघेल, अन्नपूर्णा देवी, वीरेन्द्र कुमार, पंकज चौधरी, शोभा करंदलाजे, कृष्ण पाल गुर्जर और एल मुरुगन जैसे निवर्तमान मंत्री भी शपथ लेंगे। भाजपा के जी किशन रेड्डी, सुकांत मजूमदार, राव इंद्रजीत सिंह, नित्यानंद राय और भागीरथ चौधरी के भी नई सरकार का हिस्सा बनने की संभावना है।

ये भी बनाए जा सकते हैं मंत्री 

उत्तर प्रदेश से भाजपा सांसद जितिन प्रसाद और महाराष्ट्र से रक्षा खडसे की भी नई सरकार का हिस्सा बनने की संभावना है। खडसे ने मीडिया से पुष्टि की कि उन्हें सरकार का हिस्सा बनने के लिए फोन आया है। भाजपा के भीतर यह भी अटकलें हैं कि उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा, जिनका विस्तारित कार्यकाल इस महीने समाप्त होगा, को भी सरकार में वापस लाया जा सकता है। हालांकि, वह सत्तारूढ़ दल के प्रमुख के रूप में भी बैठक में उपस्थित हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें- PM Modi Oath Ceremony: आज तीसरी बार पीएम पद की शपथ ले रहे नरेन्द्र मोदी, जानिए कहां और किस समय पर हुआ था पहला और दूसरा शपथ ग्रहण