नैनीताल, जेएनएन। नैनीताल संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी अजय भट्ट को 2017 में विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद लोकसभा चुनाव में बंपर जीत मिली है। उन्‍हें इस लोकसभा चुनाव में 772195 वोट मिले । उन्‍होंने अपने प्रतिद्वंद्वी हरीश रावत को 339096 वोट से हराया। उन्‍हें 61.35 प्रतिशत वोट मिले। पिछली बार इस सीट से भाजपा के भगत सिंह कोश्यारी जीते थे।

नैनीताल संसदीय सीट

नैनीताल ऊधम सिंह नगर से वर्तमान में भाजपा के सांसद भगत सिंह कोश्यारी हैं, जिन्होंने कांग्रेस के केसी सिंह बाबा को हराया था। केसी सिंह बाबा दो बार सांसद रह चुके थे। वैसे यह सीट पहले तब चर्चा में आई थी, जब 1991 में भाजपा के बलराज पासी ने कांग्रेस के दिग्गज नेता नारायण दत्त तिवारी को हराया था। तब चर्चा थी कि तिवारी प्रधानमंत्री बन सकते हैं। वर्ष 2014 में, उत्तराखंड राज्य में, नैनीताल ऊधमसिंह नगर लोकसभा क्षेत्र से भगत सिंह कोश्यारी का निर्वाचन हुआ। उन्हें 636769 वोट मिले। उनकी पार्टी बीजेपी है। उन्होंने के सी सिंह बाबा को 284717 वोटों से हराया। निकटतम प्रतिद्वंद्वी की पार्टी कांग्रेस थी। 2014 में कुल 68.41 प्रतिशत वोट पड़े।

अजय भट्ट (नैनीताल सीट)

  • पिता का नाम - स्व. कमलापति भट्ट 
  • माता का नाम - स्व. तुलसी देवी भट्ट
  • जन्म तिथि - 01-05-1961 
  • पता - 784, गांधी चौक रानीखेत जिला अल्मोड़ा। 
  • शिक्षा - एलएलबी
  • वैवाहिक स्थिति - विवाहित 
  • पत्नी - पुष्पा भट्ट, व्यवसाय वकालत 
  • परिवार - तीन पुत्रियां व एक पुत्र। क्रमश : मेघा भट्ट बीटेक व एमबीए (विवाहित), स्नेहा भट्ट बीटेक व एमबीए, सुनीता भट्ट वकालत पूर्ण व पुत्र दिग्विजय भट्ट एलएलबी में अध्ययनरत। 
  • विदेश यात्राएं - कनाडा, आस्ट्रेलिया व इंग्लैंड 
  • पार्टी से जुड़ाव - विद्यार्थी जीवन में विद्यार्थी परिषद से जुड़ाव एवं 1980 से सक्रिय सदस्य व पूर्व में पूरा परिवार जनसंघ में समर्पित। 
  • जेल यात्राएं - डॉ. मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में उत्तरांचल राज्य प्रगति के लिए अल्मोड़ा में गिरफ्तारी, अयोध्या मंदिर निर्माण के लिए दो बार गिरफ्तारी 18-10-1990 व 26-10-1990 में, 08-12-1990 को मुलायम सिंह के अयोध्या कांड के बाद प्रथम बार सार्वजनिक तौर पर रानीखेत आगमन पर प्रबल विरोध में गिरफ्तारी एवं मुकदमा कायम।

राजनीतिक जीवन 

  • 31 दिसंबर 2015 से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष
  • 19-05-2012 से 15 मार्च 2017 तक नेता प्रतिपक्ष
  • 2001 में अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री का दायित्व
  • 1996 से 2000 तक विधायक रानीखेत, 2002 से 2007 तक पुन: विधायक रानीखेत
  • मंत्री विधान मंडल दल 2002 से 2007 तक 
  • दो बार प्रदेश महामंत्री रहे 
  • 28-10-2009 से 25-12-2011 तक उत्तराखंड सरकार में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद के अध्यक्ष

 यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lok Sabha Election 2019 Result: उत्तराखंड में भाजपा ने फिर फहराया परचम, दूसरी बार बड़े अंतर से किया क्‍लीन स्‍वीप

यह भी पढ़ें: Tehri Garhwal Loksabha seat: माला राज्य लक्ष्मी शाह की हैट्रिक, प्रतिद्वंदी पस्त

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप