लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी व बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन होने के बाद आज राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी का दौरा था। जयंत चौधरी गठबंधन होने के बाद आज बसपा अध्यक्ष मायावती से मिले।

जयंत चौधरी व मायावती के बीच मुलाकात लखनऊ में बसपा मुखिया मायावती के आवास पर हुई। इस दौरान बसपा के महासचिव सतीशचंद्र मिश्रा और राष्ट्रीय लोकदल के प्रवक्ता अनिल दुबे भी थे। दिन में करीब चार बजे जयंत चौधरी काले रंग की कार में मायावती के आवास, माल एवेन्यु पहुंचे थे। इस दौरान अखिलेश यादव के भी आने की संभावना थी, लेकिन वह नहीं आए।

राष्ट्रीय लोकदल को गठबंधन में तीन सीट मिली है। इनमें मुजफ्फरनगर से पार्टी के अध्यक्ष अजित सिंह तथा बागपत से जयंत चौधरी मैदान में हैं। इनको तीसरी सीट मथुरा मिली है।

यहां पर अभी किसी प्रत्याशी का नाम तय नहीं है। जयंत चौधरी की गठबंधन में शामिल होने के बाद मायावती से पहली मुलाकात है।आरएलडी भी बसपा-सपा के महागठबंधन का हिस्सा है और राज्य में तीन सीटें दी गई हैं। लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रही समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में कुछ प्रत्याशियों के नामों पर विरोध भी शुरू हो गया है तो वहीं कई सीटों पर बसपा के नेताओं ने भी सपा प्रत्याशियों ने विरोध जताया है। सुल्तानपुर से बसपा प्रत्याशी चंद्रभान सिंह उर्फ सोनू का सपा कर रही विरोध, तो सपा प्रत्याशी इंद्रजीत सरोज और रामजीलाल सुमन का भी बसपा के ओर से विरोध हो रहा है। बलिया और जौनपुर सीट पर सपा बसपा गठबंधन में पेंच फंसा हुआ है। माना जा रहा है कि जयंत चौधरी की मायावती से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के समीकरण पर बात हुई है।  

Edited By: Dharmendra Pandey