जागरण टीम, पटना। लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण की वोटिंग बिहार में खत्‍म हो गई। तीसरे चरण में बिहार के पांच लोकसभा क्षेत्रों झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा व खगड़िया में मंगलवार को वोटिंग हुई। इसमें लगभग 60 परसेंट मतदान हुआ। इसके साथ ही तीसरे चरण में कुल 82 उम्‍मीदवारों की किस्‍मत इवीएम में कैद हो गई।

तीसरे चरण में पप्‍पू यादव, शरद यादव, रंजीत रंजन, दिनेशचंद्र यादव, मुकेश सहनी आदि प्रमुख रूप से शामिल हैं। कुछ बूथों पर ईवीएम में गड़बड़ी भी आई, जिसे तुरंत ठीक कर लिया गया। वहीं एक-दो जगहों पर हंगामा भी हुआ। प्रशासन की सतर्कता से कोई बड़ी घटना नहीं हुई। 

सबसे ज्‍यादा वोटिंग सुपौल तो सबसे कम झंझारपुर में
पांच लोकसभा सीटों में सबसे ज्‍यादा वोटिंग सुपौल व अररिया में हुई। सुपौल में 62.80 परसेंट व अररिया में 62.34 परसेंट वोटरों ने मतदान किया। इसी तरह तीसरे स्‍थान पर 59.12 परसेंट वोटिंग के साथ मधेपुरा रहा। वहीं खगडि़या में 58.83, जबकि झंझारपुर में 56.92 लोगों ने वोट डाले। इस तरह तीसरे चरण में सबसे कम वोटिंग झंझारपुर में हुई। 

सुबह सात बजे से लोग लग गए थे कतार में 
सुबह सात बजे से ही लोग वोट देने के लिए घरों से निकलने लगे। बूथों पर वोटरों की लंबी-लंबी कतारें लग गईं। कतारों मेें महिलाओं की संख्‍या में काफी रही। निर्वाचन आयोग ने शांतिपूर्वक मतदान के लिए संतोष जताया है। तीसरे चरण में 82 प्रत्याशियों की किस्मत वोटिंग खत्‍म होने के साथ ही ईवीएम में कैद हो गई। इनमें 77 पुरुष और पांच महिला प्रत्याशी हैं।

तीसरे चरण में झंझारपुर में 17, सुपौल में 20, खगडिय़ा में 20, अररिया में 12 और मधेपुरा में 13 प्रत्याशी किस्‍मत आजमा रहे थे। अब इन लोगों की किस्‍मत के फैसले की जानकारी 23 मई को काउंटिंग के बाद मिलेगी। 

62 बूथों पर वेबकास्टिंग हुई

निर्वाचन आयोग के अनुसार तीसरे चरण में पुरुष मतदाताओं की संख्या 46.55 लाख और महिला मतदाताओं की 42.44 लाख थी। मतदातााओं में  252 थर्ड जेंडर के लोग भी शामिल थे। इसमें 60 परसेंट मतदाताओं ने मतदान किया।

निर्वाचन आयोग के अनुसार 162 बूथों पर वेबकास्टिंग हुई। वहीं करीब छह हजार कर्मियों मतदान संपन्न कराने में अहम भूमिका निभाई। तीसरे चरण के लिए कुल 9,076 मतदान केंद्र बनाए गए थे। वहीं आयोग के अनुसार आज के मतदान में कुल 46 शिकायतें मिली हैं। खगड़िया में सर्वाधिक 35 लोग गिरफ्तार किये गये हैं।

तीसरे चरण में दांव पर लगी है इन दिग्गजों की प्रतिष्ठा

तीसरे चरण में जदयू के दिनेश चंद्र यादव,  कांग्रेस की रंजीत रंजन, राजद के शरद यादव, जन अधिकार पार्टी के  राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव, लोजपा के चौधरी महबूब अली कैसर, वीआईपी के मुकेश सहनी, पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव, भाजपा के प्रदीप सिंह व राजद के सरफराज आलम सहित 82 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इनकी प्रतिष्‍ठा दांव पर लगी है।

10227 कंट्रोल यूनिट, 16308 बैलेट यूनिट किये गए उपयोग

अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह के अनुसार झंझारपुर, सुपौल एवं खगड़िया में दो-दो ईवीएम एवं एक वीवी-पैट का प्रयोग किया गया। इन क्षेत्रों में 15 से अधिक उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। झंझारपुर में 17, सुपौल में 20, मधेपुरा में 13, अररिया में 12  एवं खगड़िया  में 20 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। ऐसे में कुल 10227 कंट्रोल यूनिट, 16308 बैलेट यूनिट तथा 11061 वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया। 

मतदान की पुख्ता रही व्यवस्था

तीसरे चरण के मतदान में कुल 58 हजार 700 कर्मियों को चुनावी ड्यूटी में लगाया गया था। वहीं, 2940 माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात किए गए थे। साथ ही 9000 वाहनों का इस्‍तेमाल किया गया। वहीं, मतदान के दौरान एक एयर एम्बुलेंस पटना में तैनात की गयी थी, जबकि एक हेलीकॉप्टर सहरसा तथा एक पूर्णिया में तैनात था। हालांकि हेलीकॉप्टर के उपयोग की जरूरत नहीं पड़ी।  वहीं सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। अमूमन हर बूथ पर अर्धसैनिक बल के जवान तैनात किए गए थे। इसके साथ ही इलाकों में घुड़सवार दस्तों और नाव से भी मॉनिटरिंग की गई।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप