खूंटी, जासं। Lok Sabha Election 2019 - लोकसभा चुनाव में इस बार कांग्रेस प्रत्याशी कालीचरण मुंडा को छोड़कर सभी चेहरे नए हैं। भारतीय जनता पार्टी एवं बहुजन समाज पार्टी ने अपने उम्मीदवार बदल दिए हैं। जबकि आजसू, झाविमो, आप एवं समाजवादी पार्टी मैदान से गायब है। लोकसभा चुनाव 2014 में इन पार्टियों के प्रत्याशी मैदान में थे। इस बार 2014 की तुलना में प्रत्याशियों की संख्या भी कम है। 2014 के चुनाव में कुल 14 प्रत्याशी मैदान में थे। इनमें कडिय़ा मुंडा ऐसे शख्स हैं, जिन्होंने लोकसभा के एक दर्जन चुनावों में अपनी उपस्थिति कायम रखी।

इस बार भाजपा ने उनका टिकट काट दिया। उनकी जगह अर्जुन मुंडा भाजपा के प्रत्याशी हैं। यद्यपि वे जमशेदपुर सीट से एक बार लोकसभा सीट जीत चुके हैं, लेकिन खूंटी लोकसभा के लिए उनका चेहरा नया ही है। इसी तरह बसपा ने भी अपना प्रत्याशी बदल दिया है। पिछले चुनाव में सुबोध पूर्ति बसपा प्रत्याशी थे। उन्हें 6407 वोट मिले थे। लेकिन इस बार इंदुमती मुंडू को बसपा प्रत्याशी बनाया गया है। आजसू, झाविमो, आप, सपा आदि इस बार मैदान से गायब हैं। 

2014 में आजसू के निएल तिर्की, झाविमो के बसंत लोंगा आप की दयामनी बारला एवं सपा के नीतिमा बोदरा बारी चुनाव मैदान में थे। कांग्रेस प्रत्याशी कालीचरण मुंडा 147017 वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे थे। वे इस बार पुन: मैदान में हैं। इस बार कुल 11 प्रत्याशियों में से तीन राष्ट्रीय या राज्य से मान्यताप्राप्त दलों से हैं। जबकि पांच पंजीकृत पार्टी तथा तीन निर्दलीय हैं।

मान्यताप्राप्त दलों के प्रत्याशियों में भारतीय जनता पार्टी के अर्जुन मुंडा, बहुजन समाज पार्टी की इंदुमती मुंडू एवं कांग्रेस के कालीचरण मुंडा हैं। पंजीकृत दलों में झारखंड पार्टी के अजय तोपनो, हम भारतीय पार्टी की अविनाशी मुंडू, भारतीय मॉइनरिटीज सुरक्षा महासंघ के निल जस्टीन बेक, ऐहरा नेशनल पार्टी के मुन्ना बड़ाइक, राष्ट्रीय सेंगल पार्टी की सिविल कंडुलना, निर्दलीय मीनाक्षी मुंडा, नियारन हेरेंज एवं सुखराम हेरेंज मैदान में हैं। 

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप