Move to Jagran APP

Prashant Kishor Update: प्रशांत किशोर ने किया चुनाव लड़ने का एलान, कब और किस दल से लड़ेंगे? जानें सबकुछ

Prashant Kishor News बिहार की सियासत में जल्द ही नए दल की एंट्री होने वाली है। इसका एलान प्रशांत किशोर ने किया है। अभी तक चुनाव रणनीति तैयार करने वाले प्रशांत किशोर को अगामी बिहार विधानसभा चुनाव से काफी उम्मीदें हैं। पिछले दो साल से वे जन सुराज नाम से बिहार के गांव-गांव में पदयात्रा निकल रहे हैं। बिहार की स्थिति में वे बदलाव लाना चाहते हैं।

By Jagran News Edited By: Ajay Kumar Published: Tue, 21 May 2024 03:58 PM (IST)Updated: Tue, 21 May 2024 04:59 PM (IST)
लोकसभा चुनाव 2024: चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर। (फाइल फोटो)

चुनाव डेस्क, नई दिल्ली। चुनावी रणनीतिकार व जन सुराज पदयात्रा के नेतृत्वकर्ता प्रशांत किशोर ने चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है। सिर्फ एलान ही नहीं उन्होंने यह भी दावा किया है कि बिहार की जनता की जीत होगी। जन सुराज के नाम से एक नई पार्टी अस्तित्व में आएगी। बता दें कि 2025 में बिहार में विधानसभा चुनाव होंगे। प्रशांत किशोर की नजरें इसी चुनाव पर हैं। वे पिछले दो साल से बिहार में जन सुराज के नाम से पदयात्रा कर रहे हैं।

विधानसभा चुनाव में उतरेंगे राजनीति के मैदान में

एक इंटरव्यू में प्रशात किशोर ने कहा कि अभी तक हमने औपचारिक रूप से कोई दल नहीं बनाया है। मगर बिहार में हम जन सुराज के नाम पर कुछ कर रहे हैं, जो कुछ महीनों में राजनीतक दल के रूप में परिणत होगा। बिहार में जब 2025 में विधानसभा चुनाव होंगे तो उस समय जन सुराज एक दल के तौर पर चुनाव लड़ेगा। बिहार में अप्रत्याशित परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें: बिहार का वो दौर: जब एक ही सीट पर उतरे चार दिग्गज, आयोग को रद्द करना पड़ा था चुनाव, वजह चौंका देगी

बिहार की तस्वीर बदलने की ख्वाहिश

प्रशांत किशोर ने कहा कि चुनाव रणनीति का काम मेरे प्लान का हिस्सा नहीं था। मैंने कभी नहीं सोचा कि मुझे चुनाव रणनीतिकार बनना है। मैंने पहले 10 साल संयुक्त राष्ट्र संघ में काम किया और बाद में 10 साल चुनाव रणनीति का काम किया। मगर लगा कि जीवन में कुछ और बेहतर करने की जरूरत है। एक साल सोचने और समझने के बाद तय किया कि मैं अपने राज्य बिहार जाऊं। कुछ ऐसा प्रयास करूं कि बिहार की स्थिति और लोगों की जिंदगी बदले।

मेरी भूमिका सिर्फ कुम्हार की है

बिहार का होने के नाते यहां के लिए कुछ करने का प्रयास करना मेरी जिम्मेदारी है। यही वजह है कि पिछले दो सालों से बिहार के गांव-गांव घूम रहा हूं। प्रशांत किशोर ने कहा कि मैं अब भी काम पहले वाला ही कर रहा हूं, लेकिन अंतर इतना है कि पहले यह नेताओं और दलों की खातिर कर रहा था।

अब बिहार के लोगों और समाज के लिए कर रहा हूं। प्रशांत किशोर ने कहा कि मैं कोई नेता नहीं हूं। मेरी भूमिका सिर्फ कुम्हार की है। प्रशांत किशोर ने दावा किया कि जन सुराज बिहार में जीतकर आ रहा है और बिहार की जनता की जीत होगी।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव में भाजपा कितनी सीटें जीतेगी? प्रशांत किशोर ने कर दी भविष्यवाणी


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.