मंगलौर, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा प्रत्याशी रमेश पोखरियाल निशंक की फोटो लगी मतदाता पर्ची बांटने का विरोध करते हुए मंगलौर विधायक काजी निजामुद्दीन और उनके समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। बाद में उन्होंने कस्बा चौकी पर धरना दिया। आरोप लगाया कि ये पर्चियां मतदान केंद्र के समीप बैठे भाजपा के एजेंट बांट रहे हैं।

गुरुवार को लोकसभा चुनाव के दौरान मंगलौर विधायक काजी निजामुद्दीन को सूचना मिली कि कस्बा पुलिस चौकी के सामने भारतीय जनता पार्टी द्वारा लगाए गए बस्ते पर जो पर्चियां मतदाताओं को बांटी जा रही है, उन पर पार्टी की ओर से पीएम मोदी के अलावा प्रत्याशी रमेश पोखरियाल निशंक की फोटो के साथ ही चुनाव निशान भी अंकित है। यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। इसके बाद विधायक समर्थकों के साथ भाजपा के बस्ते पर पहुंच गए। समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया।

उन्होंने यहां से गुजर रहे सेक्टर मजिस्ट्रेट को भी रोक लिया और शिकायत की। इसके बाद वह समर्थकों के साथ कस्बा पुलिस चौकी पर पहुंचे और धरना देने बैठ गए। सूचना मिलने पर सीओ डीएस रावत, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रदीप चौहान मौके पर पहुंचे। उन्होंने विधायक को किसी तरह से समझा-बुझाकर शांत किया। पुलिस ने बस्ते से फोटोयुक्त मतदाता पर्चियों को कब्जे में ले लिया। वहीं विधायक ने इस पूरे मामले में डीएम और एसएसपी को शिकायत की है। 

जेएम ने भी जब्त की सामग्री 

रुड़की में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की नितिका खंडेलवाल ने रुड़की में कई मतदान केंद्रों पर फोटोयुक्त मतदाता पर्चियों को कब्जे में लिया। वहीं गणेशपुर स्थित एक पोङ्क्षलग बूथ पर एक पार्टी के पोङ्क्षलग एजेंट के बाहर खड़ा होने पर उन्होंने कड़ी फटकार लगाते हुए उसे अंदर जाने के निर्देश दिए। वहीं जिलाधिकारी दीपक रावत ने भी एक युवक को फोटो युक्त मतदाता पर्ची के साथ पकड़ लिया। पर्ची में भाजपा प्रत्याशी और पीएम की फोटो लगी थी। उसके बाद उसे सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया। 

चुनाव की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

यह भी पढ़ें: Loksabha Election 2019: उत्तराखंड में कमल और हाथ में सीधी टक्कर

यह भी पढ़ें: सबसे बड़ी पौड़ी सीट पर खंडूड़ी के शिष्य और बेटे की बीच विरासत की जंग

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस