रांची, राज्य ब्यूरो। मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल चुनाव प्रचार में अधिकतम 40 स्टार प्रचारकों को चुनाव मैदान में उतार सकता है। अन्य दलों के लिए यह संख्या अधिकतम 20 होगी। स्टार प्रचारक की श्रेणी में उन्हीं नेताओं को शामिल किया जा सकता है, जिनके नामों की सूची संबंधित दलों द्वारा चुनाव की अधिसूचना जारी होने के सात दिनों के अंदर भारत निर्वाचन आयोग और राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को भेज दी गई हो। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने इस संबंध में स्पष्ट दिशानिर्देश जारी किया है।

जारी दिशानिर्देश के अनुसार रैलियों तथा सभाओं के लिए स्टार प्रचारकों द्वारा हवाई जहाज अथवा परिवहन के अन्य साधनों पर किया गया व्यय राजनीतिक दल के व्यय में शामिल होगा। इससे इतर यदि कोई अभ्यर्थी अथवा उनके निर्वाचन एजेंट सार्वजनिक रैली, जनसभा अथवा बैठकों में स्टार प्रचारकों के साथ मंच साझा करते हैं तो उसका व्यय अभ्यर्थी के खाते में डाला जाएगा। इतना ही नहीं अगर कोई स्टार प्रचारक रैली अथवा बैठक आदि में अभ्यर्थी के नाम का उल्लेख करता हो तो स्टार प्रचारक का यात्रा खर्च अभ्यर्थी के खाते में डाला जाएगा।

दिशानिर्देश के अनुसार यदि रैली अथवा बैठक आदि में स्टार प्रचारक के साथ एक से अधिक अभ्यर्थी मंच साझा करते हैं तो उसपर होने वाले व्यय समान रूप से संबंधित अभ्यर्थियों के खाते में विभाजित किया जाएगा। जिस अभ्यर्थी के लिए जिस निर्वाचन क्षेत्र में जो स्टार प्रचारक प्रचार करेंगे, उनके आवासन, भोजन आदि का खर्च अभ्यर्थी के खाते में समाहित होगा। आयोग ने इन दिशनिर्देशों का अनुपालन हूबहू करने का निर्देश राजनीतिक दलों को दिया है।

14 दलों ने चुनाव मैदान में अबतक उतारे 404 प्रत्याशी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार अभी तक कुल 14 राजनीतिक दलों ने 404 स्टार प्रचारकों को चुनाव मैदान में उतारा है। भाजपा, कांग्रेस, बसपा, राजद और आजसू ने 40-40, झामुमो ने 39, झाविमो ने 34, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने 25 स्टार प्रचारकों को उतारा है। इसी तरह जदयू, समाजवादी पार्टी और ङ्क्षहदुस्तान आवामी मोर्चा (सेक्युलर) ने 20-20, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने 14 तथा झारखंड पार्टी ने 12 नेताओं को अपना स्टार प्रचारक घोषित किया है।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप