नोएडा/नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। World Heart Day 2022: असंयमित खान-पान, तनाव, बिगड़ी दिनचर्या और शारीरिक निष्क्रियता की वजह से हार्ट से संबंधित बीमारियां बढ़ रही हैं। इसके अलावा दिल्ली-एनसीआर में हवा में जहरीली गैसों की मात्रा बढ़ रही है जिसका असर हमारे श्वसनतंत्र में पड़ने के साथ शरीर का हर अंग प्रभावित हो रहा है। ये जहरीले तत्व भी हमारे ह्रदय को नुकसान पहुंचाते हैं।

युवाओं में बढ़ रहा हार्टअटैक का खतरा

भागमभाग और तनाव युक्त जीवनशैली, नतीजा दिल का दौरा। कभी बड़ी उम्र का माना जाने वाला यह रोग अब युवाओं को भी अपना शिकार बना रहा है। युवा वर्ग को हार्ट अटैक का खतरा साल-दर-साल बढ़ रहा है। सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में ऐसे मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

इसका औसत लगभग सात से 10 के बीच में है। अगर नोएडा शहर की बात करें तो सरकारी अस्पतालों में फिलहाल कोई ह्रदय विशेषज्ञ नहीं है। जरूरत पड़ने पर मेडिसिन विभाग के डॉक्टर ही उसे परामर्श देते हैं। जबकि निजी अस्पतालों में ऐसे मरीजों की तादाद में बढ़ोतरी हो रही है।

तनाव और असंयमित खान-पान

एक अच्छा और लंबा जीवन जीने के लिए हार्ट का हेल्दी होना बहुत जरूरी है। हार्ट अटैक जो पहले बढ़ती उम्र के लोगों में देखने को मिलता था। वहीं अब वयस्क भी इसका शिकार होने लगे हैं जिसकी सबसे बड़ी वजह खराब लाइफस्टाइल और तनाव है।

दिल और बीपी से पीड़ित को क्या करना चाहिए योग? पढ़िये- शोध के नतीजे और खुद तय कीजिए

आजकल ज्यादातर लोग खाने-पीने में संयम नहीं बरतते हैं जब जो मन आया खाते हैं। इसके साथ ही फिजिकल एक्टिविटी पर भी ध्यान नहीं देते हैं। काम की थकान और बिजी शेड्यूल के बहाने इग्नोर करते रहते हैं। सबसे जरूरी बात जो हेल्दी रहने के लिए करना चाहिए वो है बॉडी को एक्टिव रखना। इसकी कमी से कई तरह की परेशानियां शुरू हो जाती हैं।

वर्ल्ड हार्ट डे के मौके पर आज हम ऐसे आसनों के बारे में जानेंगे जो हृदय को एक्टिव रखने के साथ ही उसके फंक्शन्स को भी दुरुस्त करते हैं। हृदय के सही तरीके से काम न करने के चलते कई तरह की परेशानियां शुरू हो जाती हैं जिनमें सबसे कॉमन है ब्लड प्रेशर बढ़ना या कम होना। तो यहां बताए गए आसनों को करने से शरीर में ब्लड का फ्लो एकदम सही तरीके से होता है। जब ब्लड फ्लो सही रहेगा तो हार्ट अटैक, कार्डिएक अरेस्ट जैसी परेशानियों का खतरा भी नहीं रहेगा।

  • वीरभद्रासन 1
  • वृक्षासन
  • भुजंगासन
  • सेतुबंधासन
  • त्रिकोणासन
  • गोमुखासन
  • अर्ध मत्स्येन्द्रासन

View this post on Instagram

A post shared by Priyanka Singh (@ps_yogasana)

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट