नई दिल्‍ली [निहाल सिंह]। निगम शिक्षकों की नियुक्ति रद होने के बाद जहां शिक्षक शहादरा जीटी रोड पर प्रदर्शन कर रोष जताया है वहीं अब इस मामले ने और तूल पकड़ लिया है। अब दक्षिणी निगम के सदन में हंगामा शुरू हो रहा है। इस पूरे प्रकरण के लिए महापौर नरेंद्र चावला ने दिल्‍ली सरकार पर निशाना भी साधा है। उन्‍होंने इसके लिए दिल्‍ली सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार के कारण ही यह सारी नियुक्‍तियां रद हो गई हैं।

क्‍या है मामला

अपनी नियुक्‍ति से एक दिन पहले हजारों शिक्षकों की दीपावली का मजा किरकिरा कर दिया है। सोमवार को (केंद्रीय प्रशासनिक प्राधिकरण) कैट ने आदेश पारित किया कह मंगलवार से नौकरी पर आने वाले 3788 नियुक्‍तियां रद कर दी गई हैं।

क्‍या है ताजा स्‍थिति

कैट के द्वारा दिल्‍ली के अधीनस्‍थ सेवा बोर्ड (डीएसएसएसबी) के निगम प्राथमिक शिक्षक नियुक्‍ति परीक्षा परिणाम को रद करने आदेश आते ही मार्केट में यह खबर आग की तरह फैली। इस आदेश के साथ ही 3788 शिक्षकों को भविष्‍य अब अधर में लटक गया है। अब इस मामले में क्‍या होगा यह अभी तय नहीं है। इसको लेकर नाराज शिक्षकों ने केशव चौक के पास पूर्वी दिल्‍ली नगर निगम के शाहदरा उत्‍तर जोन कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। कुछ समय के लिए शाहदरा जीटी रोड को भी जाम कर दिया था।

क्‍यों रद हुई नियुक्‍ति

इस मामले में एक अभ्‍यर्थी ने डीएसएसएसबी की परीक्षा के परिणाम को कैट में चुनौती दी थी। अभ्‍यर्थी ने इस बात का जिक्र किया कि अलग-अलग बैच में परीक्षा आयोजित होने के बाद भी कई प्रश्‍न हर बैच में एक जैसे आए। बता दें कि यह परीक्षा ऑनलाइन आयोजित हुई थी।

नियुक्ति रद होने से भड़के हजारों निगम शिक्षक, शाहदरा जीटी रोड पर लगाया जाम

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप