नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Money Laundering Case: मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार दिल्ली के कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए ईडी ने बुधवार को अपनी दलीलें पूरी कर लीं। ईडी ने कोर्ट में आरोप लगाया कि तिहाड़ जेल में जैन को विशेष सुविधा हासिल हो रही हैं। उनकी मसाज कराई जा रही है। विशेष भोजन भी परोसा जा रहा है। अपनी दलील के समर्थन में ईडी की ओर से सीसीटीवी कैमरे की कुछ तस्वीरें कोर्ट को दिखाई गईं।

राउज एवेन्यू स्थित विशेष न्यायाधीश विकास ढुल के कोर्ट में ईडी ने कहा कि जैन के विरूद्ध स्पष्ट तौर पर मनी लांड्रिंग का मामला बनता है। उसके पास इस बात का सबूत है कि सत्येंद्र जैन का हमेशा उन कंपनियों पर नियंत्रण रहा, जिनका इस मामले में नाम आ रहा है।

ईडी का पक्ष रखते हुए अतिरिक्त सालीसीटर जनरल (एएसजी) एसवी राजू ने आरोप लगाया कि जैन ने 40-50 बार हवाला आपरेटरों को नकद राशि मुहैया कराई। साथ ही कहा कि जैन लगातार गलत जानकारी दे रहे हैं, जोकि प्रीवेंशन आफ मनी लांड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत अपराध है।

एएसजी ने यह भी कहा कि कर्फ्यू के दौरान भी अज्ञात व्यक्ति जेल में जैन के पैरों की मसाज कर रहे थे। उन्हें विशेष भोजन भी परोसा गया। उन्होंने कोर्ट में सीसीटीवी कैमरे की कुछ तस्वीरें भी दिखाईं और आरोप लगाया कि ज्यादातर समय जैन अस्पताल में रहे या जेल के अंदर सुविधाओं का उपभोग करते रहे। ईडी ने जैन पर जांच में सहयोग न करने और झूठे बयान देकर गुमराह करने का आरोप लगाया। जैन के वकील ने कोर्ट से कहा कि वह अगली सुनवाई में ईडी की दलीलों पर अपना जवाब देंगे। इसके बाद कोर्ट ने बृहस्पतिवार के लिए मामले को स्थगित कर दिया।

ये भी पढ़ें- Delhi Air Quality: राजस्थान, हरियाणा की वजह से हुआ दिल्ली का भला, तेज हवा और हल्की बारिश से सुधरी हवा

ये भी पढ़ें- Earthquake In Delhi: दिल्ली में तेज भूकंप आने पर इन तीन इलाकों में हो सकता है अधिक नुकसान

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट