नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। आतंकी हमले के गंभीर इनपुट को देखते हुए गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा के बेहद कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। दिल्ली को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस, पैरामिलिट्री, एनएसजी, एसपीजी व सेना के कमांडो के अलावा सभी केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह सतर्क हैं। चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पैरामिलिट्री के जवानों की तैनाती की गई है। हर तरह के संभावित आतंकी खतरे को देखते हुए राजधानी को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है।

सुरक्षा के लिए 500 से अधिक सीसीटीवी कैमरे

समारोह स्थल और उसके आसपास के इलाके में 500 से अधिक सीसीटीवी कैमरों को लगाया गया है। यह कैमरे समारोह स्थल पर हर चेहरे की निगरानी करेंगे। सुरक्षा के लिए बुधवार रात से ही दिल्ली की सभी सीमाएं सील कर दी गई। सघन तलाशी लेने के बाद केवल उन्हीं वाहनों को दिल्ली में प्रवेश की इजाजत मिलेगी, जिन्हें बहुत जरूरी काम होगा। सभी सीमाओं पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है।

दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, शांतिपूर्ण तरीके से गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न कराने के लिए पुलिस और सेना ने पूरी तैयारी कर ली है। इस बार आतंकी हमलों को लेकर सुरक्षा एजेंसियां द्वारा गंभीर इनपुट मिला है। पुलिस आयुक्त संजय आरोड़ा ने सभी आला अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने-अपने इलाके में रातभर गश्त करते रहें। नई दिल्ली, मध्य व उत्तरी जिले को खासतौर पर अभेद्य किला में तब्दील कर दिया गया है। सभी संवेदनशील स्थलों के अलावा प्रमुख बाजारों, रेलवे व मेट्रो स्टेशनों तथा धार्मिक स्थलों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। परेड गुजरने वाले मुख्य मार्गों पर कमांडो तैनात किए गए हैं।

बनाए गए हैं अलग-अलग जोन

परेड वाले रूटों के दोनों तरफ सभी ऊंची इमारतों पर पुलिसकर्मी तैनात कर दिए गए हैं। दूरबीन व एंटी एयरक्राफ्ट गन भी तैनात किया गया है। कर्तव्यपथ से लेकर लालकिला वाले क्षेत्र को अलग-अलग जोन में बांटकर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। समारोह स्थल सहित राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट के अलावा लाल किला तक अलग-अलग सुरक्षा घेरा भी बनाया गया है। गाड़ियों पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस कमांडो विभिन्न इलाकों में लगातार गश्त कर रहे हैं। स्वाट दस्ता को हर तरह की परिस्थितियों से मुकाबला करने के लिए कई महत्वपूर्ण जगहों पर मुस्तैद कर दिया गया है। पूरी दिल्ली में दिल्ली पुलिस के 27 हजार पुलिसकर्मी व पैरामिलिट्री सड़कों पर मुस्तैद रहकर सुरक्षा व्यवस्था में जुटे हुए हैं। सात हजार सुरक्षाकर्मी केवल नई दिल्ली में सुरक्षा बंदोबस्त में लगाए गए हैं।

ड्रोन उड़ाने पर पहले ही लगाई जा चुकी है प्रतिबंध

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 18 जनवरी से 15 फरवरी तक ड्रोन, मानव रहित हवाई वाहन (यूएवी), मानव रहित विमान प्रणाली (यूएएस), दूर से चलने वाले विमान, गर्म हवा के गुब्बारे आदि की उड़ान पर रोक लगाई हुई है। दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय आरोड़ा के द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि पैरा-ग्लाइडर, पैरा-मोटर्स, हैंग ग्लाइडर, यूएवी, यूएएस, माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट, रिमोट से पायलटेड एयरक्राफ्ट, गर्म हवा के गुब्बारे या एयरक्राफ्ट से पैरा जंपिंग आदि जैसे हवाई प्लेटफार्मों की उड़ान पर 18 जनवरी से 15 फरवरी तक प्रतिबंध रहेगा।

यह भी पढ़ें- गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति का संदेश, कहा- हम सितारों तक पहुंचकर भी अपने पांव जमीन पर रखते हैं

यह भी पढ़ें- राष्ट्रपति मुर्मु ने 412 वीरता पुरस्कारों को दी मंजूरी, डोगरा रेजिमेंट के मेजर शुभांग कीर्ति चक्र से सम्मानित

Edited By: Abhi Malviya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट