नई दिल्ली, विनय तिवारी। भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच का रोमांच खेलप्रेमियों से छिपा नहीं है। ऐसे मैच के दौरान सड़कों पर सन्नाटा पसर जाता है और कई बार तो मैच खत्म होने के बाद ऐसे-ऐसे वीडियो सामने आते हैं कि लोग उसे बार-बार देखते थकते तक नहीं है। ये भी कहा जाता है कि भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच को दुनिया भर में करीब एक अरब लोग देखते है। क्रिकेट प्रेमियों को ये भी याद होगा कि साल 2015 में भारत-पाकिस्तान विश्वकप मैच के दौरान मात्र 12 मिनट में ही सारी टिकटें बिक गई थीं।

अब 24 अक्टूबर को टी-20 वर्ल्ड कप-2021 में भारत-पाकिस्तान के खिलाड़ी आमने-सामने होंगे, इसको लेकर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने मैच रद्द करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि आंतकवादियों को पनाह देने वाले देश के साथ क्रिकेट नहीं होना चाहिए। कवि कुमार विश्वास ने भी अपने इंटरनेट मीडिया एकाउंट पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

इससे पहले साल 2019 में इंग्लैंड में भारत-पाकिस्तान के बीच मैच खेला गया था। ये वनडे वर्ल्ड कप 2019 का मैच था। इस मैच के बाद भारत ने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप-2021 के दौरान पाकिस्तान से सीरीज खेलने से इन्कार कर दिया था। इस पर पाकिस्तान ने आईसीसी से कई बार शिकायत भी की, लेकिन बीसीसीआई प्रमुख सौरभ गांगुली अपनी बात पर अड़े रहे। एक बात ये भी है कि बीसीसीआई ने दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग आइपीएल (IPL) में भी पाकिस्तान के खिलाड़ियों के खेलने पर बैन लगा रखा है।

कुमार विश्वास ने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा है कि भाड़े के पाकिस्तानी पिट्ठू चाहे सेना के जवानों गोली मार दें या बिहार-उप्र के कामगारों को, लेकिन क्रिकेट का ज़िक्र आते ही हर सरकार यही कहती है “क्रिकेट और राजनीति को अलग-अलग रखिए” कारण यही है कि क्रिकेट का अनाप-शनाप पैसा हर पार्टी के नेताओं के लिए दुधारू गाय है।ग़ज़ब थेथरई है भाई। इससे पहले उन्होंने एम्स में एमबीबीएस के छात्रों द्वारा रामलीला मंचन के वायरल वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी।

मैच का शेड्यूल

भारतीय टीम 24 अक्टूबर को दुबई में होने वाले टूर्नामेंट में अपने अभियान की शुरुआत पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले के साथ करेगी। उसके बाद अगला मुकाबला 31 अक्टूबर को दुबई में ही न्यूजीलैंड के साथ होगा। फिर टीम तीन नवंबर को अबू धाबी में अफगानिस्तान के खिलाफ खेलेगी।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari