नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली में नगर निगम का चुनाव खत्म होते ही दिल्ली पुलिस में बड़े पैमाने पर फेरबदल किए जाएंगे। बीते 28 नवंबर को पुलिस मुख्यालय से विशेष आयुक्त एचआरडी कार्यालय द्वारा जारी

पत्र में इस बात की जानकारी दी गई है। पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा के पदभार ग्रहण करने के बाद आइपीएस से लेकर दिल्ली पुलिस में निचले स्तर के कर्मियों का बड़े स्तर पर तबादला नहीं हुए थे। पहले उन्होंने प्रशासनिक स्तर पर हर चीजों को समझने की कोशिश इसके बाद अब ट्रांसफर पोस्टिंग पर फोकस करने का निर्णय किया है।

दिल्ली से बाहर भेजे जा सकते है कुछ डीसीपी

मुख्यालय सूत्रों की मानें तो दिल्ली के सभी 15 जिलों में तैनात डीसीपी में कुछ को छोड़कर अधिकतर डीसीपी बदल दिए जाएंगे। वर्तमान में अधिकतर डीसीपी पूर्व पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना द्वारा लगाए हुए डीसीपी ही हैं, जिनमें कईयों का कार्यकाल बेहद खराब साबित हुआ है। संभावना है कि कुछ डीसीपी दिल्ली से बाहर भेजे जाएंगे तो कुछ की विभिन्न यूनिटों में तैनाती की जाएगी। दो विशेष आयुक्त स्तर के अधिकारियों के भी दिल्ली से बाहर भेजे जाने की संभावना है। जिनमें एक विशेष आयुक्त एचआरडी सुंदरी नंदा के नाम की चर्चा है।

मुख्यालय सूत्रों की मानें तो रेंज में तैनात कुछ संयुक्त आयुक्त व एडिशनल पुलिस कमिश्नर स्तर के अधिकारी रेंज से हटाए जाएंगे तो कुछ का फेरबदल किया जाएगा। मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने इस तरह के संकेत दिए हैं। इससे दिल्ली पुलिस में खलबली मची हुई है।

कई माह से खाली है एडिशनल एसएचओ के पद

एचआरडी द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि दिल्ली के विभिन्न थानों में 17 इंस्पेक्टर इंवेस्टिगेशन व एडिशनल एसएचओ के पद कई माह से खाली पड़े हैं। चुनाव के तुरंत बाद उक्त पदों पर इंस्पेक्टरों की तैनाती की जाएगी। 29 थानों में तैनात एसएचओ काे पदोन्नत कर एसीपी बनाए हुए कई माह बीत चुके हैं लेकिन वे अब तक थानाध्यक्ष के पद पर ही बने हुए हैं। उन्हें भी चुनाव के तुरंत बाद हटा दिए जाएंगे। दो माह पहले 700 इंस्पेक्टरों के साक्षात्कार लिए गए। इस बार के साक्षात्कार में इंस्पेक्टरों के फिटनेस पर 10 अंक दिए जाने का मापदंड निर्धारित किया गया था। कुल 120 नंबर के साक्षात्कार लिए गए, जिनमें 80 से अधिक अंक पाने वाले इंस्पेक्टरों को थानाध्यक्ष लगाए जाएंगे।

पत्र में कहा गया है कि पिछले साल सिपाही से लेकर एएसआइ रैंक के 6000 ऐसे पुलिसकर्मियों का तबादला करने संबंधी आदेश जारी किया गया था जो आठ वर्षों से एक ही जिले व थानों में तैनात थे। उनमें महज कुछ हजार पुलिसकर्मियों को ही जिले के डीसीपी ने रिलीव किया था। करीब 4000 से अधिक पुलिसकर्मी अबतक वहीं तैनात हैं। संबंधित जिले के डीसीपी को कहा गया है कि चुनाव के बाद वे उन्हें हर हाल में रिलीव कर दें।

यह भी पढ़ें- IPS Transfer In UP: यूपी में 16 आइपीएस अफसरों के तबादले, 3 नए पुलिस कमिश्नरेट में आयुक्त तैनात, देखें लिस्ट

यह भी पढ़ें- IAS Transfer in UP: यूपी में विशेष सचिव स्तर के 13 आइएएस अधिकारियों के तबादले, यहां देखें पूरी लिस्ट

Edited By: Abhi Malviya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट