नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। देश की नामी मसाला कंपनियों में शुमार एमडीएच के सर्वेसर्वा महाशय धर्मपाल गुलाटी फिर चर्चा में हैं। दरअसल, चीन की रिसर्च फर्म हुरुन इंडिया ने भारतीय अमीरों की यह लिस्ट जारी की है। हुरुन इंडिया की लिस्ट में बताया गया है कि भारत के सबसे युवा अमीर 24 वर्ष के ओयो के रितेश अग्रवाल हैं, तो सबसे बुजुर्ग अमीर 95 वर्षीय एमडीएच के महाशय धर्मपाल गुलाटी हैं। एमडीएच मसालों का नाम न केवल पूरे देश में,बल्कि पूरी दुनियाभर में मशहूर है। ये कंपनी 60 से भी अधिक तरह के मसाले तैयार करती है और उसका दुनियां के कई देशों में निर्यात करती है।

सिर्फ पांचवीं पास हैं मसाला किंग

वर्तमान में देशभर के अंदर ही एमडीएच की 15 फैक्ट्रियां हैं। दिल्ली-एनसीआर में आधा दर्जन से अधिक फैक्ट्रियां हैं। सबसे दिलचस्प बात यह है कि हर घर में पहचाने जाने वाले और कामयाबी के मुकाम पर पहुंचने वाले धर्मपाल केवल 5वीं पास हैं। धर्मपाल का पढाई- लिखाई में बिल्कुल भी मन नही लगता था, जबकि उनके पिता चुन्नीलाल चाहते थे कि वह खूब पढ़ें। हालांकि, पिता की चाहत पूरी नहीं हुई और 5वीं के बाद उन्होंने स्कूल छोड़ दिया था फिर पिता के साथ दुकान पर बैठने लगे थे। 

बढ़ई बनाना चाहते थे पिता, बन गए मसाला किंग

धर्मपाल गुलाटी के पिता चुन्नी लाल ने उन्हें एक बढ़ई की दुकान पर काम सीखने के लिए लगा दिया, लेकिन धर्मपाल का मन नही लगा और उन्होंने वह काम भी नही सीखा। इस पर पिता ने धर्मपाल के लिए एक मसाले की दुकान खुलवा दी। 

पिता चलाते थे तांगा

धर्मपाल गुलाटी की संघर्ष की कहानी बड़ी ही दिलचस्प है। गुलाटी का जन्म 1922 में अविभाजित भारत में पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था। लेकिन 1947 में देश का बंटवारा होने पर उनके पिता महाशय चुन्नी लाल दिल्ली आ गए थे और यहां आकर बस गए। यहां पर दिल्ली में उनके पिता ने पहले किराए पर तांगा चलाने का काम किया और फिर मन न रमा तो मसालों के कारोबार में आ गए।

2017 में बने एमडीएच के सीईओ

वर्ष 1959 में एमडीएच मसाला फैक्टरी की नींव रखी गई थी। इसे महाशियन दी हट्टी (एमडीएस) कहा जाता है और दिल्ली के कीर्ति नगर में इस कंपनी की स्थापना धर्मपाल गुलाटी ने की थी।  2017 में धर्मपाल गुलाटी सबसे ज्यादा बिकने वाले एफएमसीजी उत्पाद के सीईओ बने थे।

141 अरबपतियों 27 दिल्ली अमीर दिल्ली से

देश के शीर्ष 141 अरबपतियों (बिलियनेयर) की सूची में से 27 अकेले दिल्ली से हैं। इनमें दो बड़े औद्योगिक घरानों के छह लोग शामिल हैं। बार्कलेज हुरुन इंडिया की ओर से देश के कुल 831 अमीरों की सूची तैयारी की गई है। संस्था के मुताबिक जिनकी कुल संपत्ति 6800 करोड़ रुपये तक है, उन्हें अरबपतियों (यूएस डॉलर बिलियनेयर) की इस सूची में शामिल किया गया है।

बार्कलेज और हुरुन इंडिया ने 2018 (Barclays-Hurun India Rich List for 2018) के सबसे आमिर भारतीय की लिस्ट में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी लगातार 7वें साल से देश के सबसे अमीर भारतीय की लिस्ट में टॉप पर हैं। मुकेश अंबानी की कुल संपति 3 लाख,71 हजार करोड़ रुपए की बताई गई है और अमीर भारतीय में पहले स्थान पर है। लिस्ट के मुताबिक, एसपी हिंदूजा परिवार की कुल संपत्ति 1.59 लाख करोड़ रुपये कही गई है और वह दूसरे सबसे अमीर भारतीय हैं।

सबसे ज्यादा 233 अरबपति मुंबई के

देश के 831 अरबपतियों में से सबसे ज्यादा 233 अरबपति मुंबई में रहते हैं। इसके बाद दिल्ली में सबसे ज्यादा 163 अरबपति रह रहे हैं। इनमें से 27 ने देश के शीर्ष अरबपतियों में स्थान बनाया है। देश के सबसे ज्यादा अरबपतियों की सूची में तीसरा स्थान है बेंगलुरू का। बेंगलुरू में 70 अरबपति रह रहे हैं। सूची में पहला स्थान रिलायंस समूह के मुकेश अंबानी का है।

इस सूची में दिल्ली के 163 उद्यमियों के नाम शामिल किए गए हैं, जिनकी कुल संपत्ति 6 लाख 78 हजार 400 करोड़ रुपये आंकी गई है। सूची में इस बार दिल्ली के अमीरों की संख्या पिछले साल के मुकाबले 46 अधिक है। पिछले साल सूची में दिल्ली से कुल 117 अमीरों के नाम दर्ज थे। इनमें 27 अमीर ऐसे हैं, जो टॉप 141 अरबपतियों की सूची में शामिल हैं।

64 ने खुद हासिल किया मुकाम

दिल्ली के 163 अमीरों में से 64 शख्सियतें ऐसी हैं, जिन्होंने खुद से यह मुकाम हासिल की है। इनका कोई पैतृक व्यवसाय नहीं था। दिल्ली के इन अमीरों में 29 महिलाएं हैं। बार्कलेज बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सत्य नारायण बंसल ने बताया कि दिल्ली समेत देशभर के उद्यमियों की कुल संपत्ति की यह रिपोर्ट एक तरह से उनकी कामयाबी बयां करती है। इस पर हमें गर्व करना चाहिए। हमने यह रिपोर्ट सार्वजनिक तौर पर इन उद्यमियों की तरफ से बताई गई उनकी कुल संपत्ति के आधार पर तैयार की है।

दिल्ली के टॉप 10 अमीर

  •  शिव नादर 37,400 करोड़ एचसीएल सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज
  •  विक्रम लाल 37,100 करोड़ एइचर मोटर्स ऑटोमोबाइल
  •  रोशनी नादर 31,400 करोड़ एचसीएल सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज
  •  सुनिल भारती मित्तल 22,500 करोड़ भारती एयरटेल दूरसंचार
  •  राजीव सिंह 21,000 करोड़ डीएलएफ रियल एस्टेट
  •  किरण नादर 20,900 करोड़ एचसीएल सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज
  •  आनंद बर्मन 19,500 करोड़ डाबर इंडिया एफएमसीजी
  •  राजन भारती मित्तल 13,900 करोड़ भारती एयरटेल दूरसंचार
  •  राकेश भारती मित्तल 13,900 करोड़ भारती एयरटेल दूरसंचार
  • 10. राहुल भाटिया 12,800 करोड़ इंटरग्लोब एवियशन एवियशन

स्वयं उद्यमी बनी महिलाओं की सूची में

  • दिल्ली की सिर्फ दो महिलाएं
  • शीला गौतम: फर्निशिंग सेक्टर की शीला फॉम की मालकिन हैं। इनकी कुल संपत्ति 2800 करोड़ रुपये है।
  • वंदना लूथरा: वीएलसीसी की मालकिन हैं। इनकी कुल संपत्ति 1300 करोड़ रुपये है।

राहुल शर्मा 831 उद्यमियों में 755वें स्थान पर

बार्कलेज हुरुन इंडिया की अमीरों की सूची में मोबाइल निर्माता कंपनी माइक्रोमैक्स इनर्फोमेटिक्स के सह-संस्थापक राहुल शर्मा 755वें स्थान पर हैं। बॉलिवुड अभिनेत्री असिन ने साल 2016 में राहुल शर्मा से शादी की थी। संस्था की ओर से इनकी कुल संपत्ति एक हजार करोड़ रुपये बताई गई है। 

यह भी पढ़ेंः 4 दशक से इस घर को है 'DON' का इंतजार, पूर्व पीएम तक से रहा है रिश्ता

Posted By: JP Yadav