नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। केंद्रीय बजट में दिल्ली-एनसीआर में रेलवे के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने पर जोर दिया गया है। अतिरिक्त रेलवे लाइन बिछाने के साथ ही खस्ताहाल पटरियों को बदलने के काम में तेजी लाई जाएगी। इसके साथ ही कई रेलवे स्टेशनों पर सुविधाएं बढ़ेंगी।

प्रस्तावित नए रेल टर्मिनल के काम में भी तेजी लाई जाएगी जिससे कि नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली सहित अन्य बड़े रेलवे स्टेशनों का बोझ कम किया जाए सके।

इन रेलवे स्टेशनों का होगा विकास

हजरत निजामुद्दीन, सब्जी मंडी, सराय रोहिल्ला, शकूर बस्ती, तुगलकाबाद, तिलक ब्रिज के साथ गाजियाबाद रेलवे स्टेशनों का विकास किया जाएगा जिससे कि इन स्टेशनों से ज्यादा ट्रेनों का संचालन किया जा सके। तिलक ब्रिज को विकसित करके नई दिल्ली से चलने वाली पैसेंजर व कुछ एक्सप्रेस ट्रेनों को यहां से चलाने की योजना है। इससे नई दिल्ली पर भीड़ कम होगी।

होलंबी कलां में बनेगा विश्व स्तरीय मालगाड़ी टर्मिनल

होलंबी कलां में विश्व स्तरीय मालगाड़ी टर्मिनल बनाने का प्रस्ताव है। यह काम पिछले कई वर्षों से लंबित है। भूमि अधिग्रहण का काम भी अभी पूरा नहीं हुआ है। इस बजट में भूमि अधिग्रहण व निर्माण कार्य के लिए फंड आवंटित किया गया है।

आनंद विहार टर्मिनल के विकास कार्य में आएगी तेजी

पूर्व दिशा की ओर जाने वाली अधिकांश ट्रेनों को आनंद विहार टर्मिनल से चलाने की योजना है। नई दिल्ली से कई ट्रेनें यहां स्थानांतरित भी कई गई है। यहां से ज्यादा ट्रेनों के परिचालन के लिए टर्मिनल के विकास कार्य में तेजी लाने के लिए फंड आवंटित किया गया है। इसके साथ ही बिजवासन में मालगाड़ी व रेल टर्मिनल, शकूरबस्ती में रेल टर्मिनल बनाने के काम को आगे बढ़ाया जाएगा।

आनंद विहार-तिलक ब्रिज के बीच अतिरिक्त लाइन

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों की संख्या बढ़ रही है। इसे ध्यान में रखकर आनंद विहार टर्मिनल से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक अतिरिक्त लाइनें बिछाई जा रही हैं। तिलक ब्रिज से नई दिल्ली तक पांचवी व छठी लाइन शुरू हो गई है, लेकिन तिलक ब्रिज से आनंद विहार टर्मिनल के बीच अभी मात्र दो लाइन है। इस वजह से ट्रेनों को समय पर चलाने में दिक्कत होती है। इस परेशानी को दूर करने के लिए आनंद विहार से तिलक ब्रिज के बीच तीसरी व चौथी लाइन बिछाने का काम चल रहा है। इस काम में तेजी लाने के लिए बजट में फंड उपलब्ध कराया गया है।

सिग्नल प्रणा्ली में सुधार

दिल्ली एनसीआर के स्टेशनों को जोड़ने वाले रूट की पटरियों की दशा सुधारने के साथ ही सिग्नल प्रणाली भी अपग्रेड होगी। आधुनिक सिग्नल प्रणाली से जहां ट्रेनों की रफ्तार बढ़ेगी वहीं, रेल हादसों को रोकने में भी मदद मिलेगी।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

Edited By: Mangal Yadav