Move to Jagran APP

ऑन्टी..आप चाहें तो पुलिस बुला लें, मैंने कुछ नहीं किया, हैवानों ने काटा गला

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जब हमलावर खुखरी से गला काट रहा था, उस समय अंकित चिल्ला रहा था। हमलावरों ने उसका मुंह दबा दिया, जिससे उसकी आवाज न निकले सके।

By Amit MishraEdited By: Published: Fri, 02 Feb 2018 09:58 PM (IST)Updated: Fri, 02 Feb 2018 10:42 PM (IST)
ऑन्टी..आप चाहें तो पुलिस बुला लें, मैंने कुछ नहीं किया, हैवानों ने काटा गला

नई दिल्ली [जेएनएन]। ख्याला इलाके में रघुवीर नगर की एक गली में घर के अंदर पसरा मातम। घर की दीवारों पर लगी अंकित की दर्जनों खिलखिलाती तस्वीरें, लेकिन उन तस्वीरों को देखकर मां फूट-फूटकर रोने लगती है। बेहोश भी हो जाती है। उसका इकलौता बेटा हमेशा के लिए इस दुनिया से चला गया। घर का चिराग बुझ गया है।

loksabha election banner

मैंने कुछ नहीं किया है

मां कमलेश कहती हैं कि आखिर उनके बेटे ने किसी का क्या बिगाड़ा था। आरोपियों के हाथ में खुखरी थी। जब अंकित से युवती की मां ने अपनी बेटी के बारे में पूछा तो उसने कहा कि ऑन्टी मैंने कुछ नहीं किया। मुझे नहीं पता कि आपकी बेटी कहां है। आप चाहें तो पुलिस बुला लें, मैंने कुछ नहीं किया है।

सख्त सजा की मांग 

आरोपी सिर्फ एक ही बात कह रहे थे कि लड़की को तुमने गायब किया है। उनके ऊपर खून सवार था। वहां मौजूद लोगों ने अंकित को उठाने व रिक्शे से ले जाने के दौरान कोई मदद नहीं की। उन्होंने कहा कि जब तक हमलावरों को सख्त से सख्त सजा नहीं मिलेगी तब तक बेटे की आत्मा को शांति नहीं मिलेगी।

रोंगटे खड़े करने वाली है दरिंदगी 

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जब हमलावर खुखरी से गला काट रहा था, उस समय अंकित चिल्ला रहा था। हमलावरों ने उसका मुंह दबा दिया, जिससे उसकी आवाज न निकले सके। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि अंकित सरल स्वभाव का था। दूसरों की मदद करने को वह तत्पर रहता था। आरोपियों ने जिस तरह की दरिंदगी दिखाई है वह रोंगटे खड़े करने वाली है।

मां के साथ भी की मारपीट 

अंकित घर लौट रहा था तभी घर के पास चौराहे पर युवती के परिवार वालों ने उसको घेरकर पहले मारपीट की और फिर उसके गले को काट दिया जिससे उसकी मौत हो गई। हमले के खबर सुनकर अंकित की मां कमलेश भी मौके पर पहुंच गईं। आरोप है कि उनके सामने ही उनके बेटे की गला रेतकर हत्या कर दी गई। लड़की के परिवार वालों ने अंकित की मां कके साथ भी मारपीट की। 

अंकित के कंधों पर थी परिवार की जिम्मेदारी

अंकित के पिता यशपाल सक्सेना दिल व मां कमलेश मधुमेह की मरीज हैं। परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी अंकित के कंधों पर ही थी। अब परिवार का गुजारा कैसे होगा, यह बड़ा सवाल है। परिजनों ने बताया कि उसका जन्मदिन आने वाला था। 22 मार्च को वह 23 साल का हो जाता। 

यह भी पढ़ें: हैवानियत! प्रेम-प्रसंग में युवती के परिजनों ने मां के सामने काटा बेटे का गला

यह भी पढ़ें: टॉयलेट में मिला छात्र का शव, दिल्ली के स्कूल में दोस्तों ने पीटकर मार डाला


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.