हापुड़/गाजियाबाद, जेएनएन। BS Tomar Murder Case:  भाजपा नेता डॉ. बीएस तोमर की हत्या के मामले का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। दो आरोपित फरार बताए जा रहे हैं, जिनके खिलाफ 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। हत्या के बाद से ही सुधीर कुमार सिंह, एसपी ग्रामीण नीरज कुमार जादौन और सीओ सदर प्रभात कुमार समेत कई प्रशासनिक अधिकारी मसूरी थाने में ही डेरा जमाए हुए हैं।

इस मामले में शनिवार आधी रात के बाद आइजी रेंज मेरठ आलोक सिंह घटनास्थल पर पहुंचे थे और उन्होंने डासना चौकी प्रभारी संजय अत्री, मसूरी थाना प्रभारी प्रवीन कुमार शर्मा को सस्पेंड कर नाहल चौकी प्रभारी अंगद को लाइन हाजिर कर दिया था।

वहीं भाजपा के डासना मंडल अध्यक्ष बीएस तोमर की हत्या के बाद रविवार को उनके गांव सिखेड़ा पुलिस छावनी में तब्दील हो गया हैं। केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह सहित कई भाजपा नेताओं ने पहुंचकर परिवार को सांत्वना दी। मृतक के परिजन और ग्रामीण एक करोड़ रुपये और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग कर रहे हैं।

परिजनों को कहना है कि मांग पूरी होने के बाद ही शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। वहीं, मामला समुदाय से जुड़ा होने के कारण पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ हैं।

भाजपा नेता बीएस तोमर मूलरुप से पिलखुवा कोतवाली अंतर्गत ग्राम डासना निवासी थे। उनका डासना में स्थित दूधिया पीपल में क्लीनिक है। शनिवार को क्लीनिक बंद करने के बाद रोजाना की तरह वह क्लीनिक के सामने स्थित पान की दुकान पर सिगरेट पीने गए थे। तभी बोलेरो कार में सवार हमलावरों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी। उनके छह गोली मारी गई थी।

पोस्टमार्टम के बाद रविवार सुबह करीब सात बजे भाजपा नेता का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचा। शव देखकर ग्रामीणों ने हंगामा शुरू कर दिया। मंडल अध्यक्ष की हत्या की सूचना पर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, पूर्व विधायक धर्मेश तोमर, वीआईपी सिंह, नरेश तोमर, अजीत तौमर सहित कई बड़े नेता गांव में पहुंचे और परिजनों को सांत्वना दी।

ग्रामीण और परिजन मृतक के परिवार को एक करोड़ रुपये और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग कर रहे है। हालांकि केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह का कहना है कि वह मुआवजे की मांग को लेकर अधिकारियों से बातचीत कर रहे है। दूसरी ओर, मामला दो समुदाय से जुड़ा होने के बाद गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं।

पांच के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
मामले में मृतक के भाई सत्यपाल ने मसूरी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें डासना गाजियाबाद निवासी सलमान उर्फ डग्गा, शाहरूख नामजद और तीन अज्ञात लोग शामिल हैं। घटना पुरानी रंजिश से जुड़ी बताई जा रही है।

परिवार में कोहराम
मृतक बीएस तोमर छह भाईयों में पांचवे नंबर पर थे। उनके बड़े भाई सत्यपाल तोमर पिलखुवा साकेत में स्थित सरदार पटेल जूनियर हाईस्कूल में शिक्षक है। सागर सिंह किसान, देवेंद्र सिंह चिकित्सक, पदम सिंह एयर फोर्स से सेवानिवृत्त और सबसे छोटे उमेश तोमर इंजीनियर हैं। बीएस तोमर का इकलौते पुत्र अनुज की दो साल पहले मृत्यु हो गई थी। तीन बेटियों में रुबी और पूजा शादी शुदा है। आरती की शादी के लिए तैयारियां चल रही थी। पत्नी सुधा तोमर का रो-रोकर बुरा है।

बता दें कि गाजियाबाद के मसूरी थानाक्षेत्र में शनिवार रात सवा नौ बजे भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। स्कूटी से आए तीन बदमाशों ने दूधिया पीपल चौकी से चंद कदम की दूरी पर भाजपा नेता पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें उन्हें तीन गोली लगीं। आसपास से लोगों ने उन्हें संजयनगर स्थित संयुक्त जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां चंद मिनट बाद उनकी मौत हो गई।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें और स्टोरीज पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

Posted By: Mangal Yadav