नई दिल्ली [निहाल सिंह]। चुनाव आयोग के साथ ही राजनीतिक दलों के तमाम प्रयासों के बावजूद दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव को लेकर मतदाताओं में न तो किसी तरह का उत्साह दिखाई दिया और न ही कोई लहर नजर आई। नतीजतन शाम साढ़े पांच बजे तक सिर्फ 50 प्रतिशत ही मतदान हो सका, जो 2012 और 2017 से भी कम रहा है। हालांकि, जो मतदाता साढ़े पांच बजे शाम तक मतदान केंद्रों में प्रवेश कर गए थे, उनसे मतदान कराया गया।

रात साढ़े आठ बजे तक कई मतदान केंद्रों पर यह प्रक्रिया चली। ऐसे में भाजपा (BJP) और आम आदमी पार्टी (AAP) के बीच कड़ा संघर्ष माना जा रहा है। मतदान के दौरान छिटपुट राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं में छिटपुट नोकझोंक और दक्षिणी दिल्ली के मदनगीर में रुपये बांटे जाने की अफवाह जरूरी उड़ी, लेकिन कहीं से भी मारपीट झगड़े की शिकायत देर रात तक नहीं मिली। न ही चुनाव आयोग को ईवीएम में किसी तकनीकी समस्या की शिकायत मिली।

सुबह से दोपहर बाद तक सुस्ती से हुआ मतदान

रविवार सुबह आठ बजे मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई, जो दोपहर बाद तक सुस्त ही रही। इसलिए दिन में दो बजे तक सिर्फ 30 प्रतिशत ही मतदान हो सका। दो बजे के बाद मतदान में जरूर कुछ तेजी नजर आई। इससे अगले दो घंटों में यानी चार बजे तक मतदान बढ़कर 45 प्रतिशत हो गया और इसके बाद शाम साढ़े पांच बजे तक यह आंकड़ा 50 प्रतिशत तक पहुंच गया। यह पिछले दो नगर निगम चुनावों की तुलना में कम रहा।

शादियों के कारण भी कम हुआ मतदान

रविवार को सहालग तेज होने के कारण बड़ी संख्या में शादियां थीं, जिनके लिए बहुत से लोग या तो दिल्ली से बाहर चले गए थे या दिल्ली में ही शादियों की तैयारियों में जुटे हुए थे। ऐसा माना जा रहा है कि इसकी वजह से भी मतदान का प्रतिशत कम रहा।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का नाम मतदाता सूची से गायब

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी अपना वोट नहीं डाल सके। उनका नाम मतदाता सूची में नहीं था। उन्होंने एक वीडियो संदेश जारी कर इसके लिए भाजपा और व आप को जिम्मेदार ठहराया। इसके साथ ही प्रदेश कांग्रेस ने इसकी शिकायत राज्य चुनाव आयोग में की है।

चुनाव दर चुनाव ऐसी रही स्थिति

वर्ष                       मतदान (प्रतिशत)

2007                        43.24

2012                        53.39

2017                        53.55

2022                        50.00 (5.30 बजे तक)

22 मई को दिल्ली के तीनों नगर निगम एक हो गए। दिल्ली नगर निगम (EDMC), उत्तरी दिल्ली नगर निगम (NDMC) और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (SDMC) के एकीकरण के बाद दिल्ली नगर निगम का पहला चुनाव होगा। एकीकरण से पहले दिल्ली नगर निगम में 272 वार्ड थे, लेकिन अब 250 हो गए हैं।

ये भी पढ़ें- Delhi MCD Election: आप ने भाजपा पर लगाया नोट फॉर वोट का आरोप, पुलिस ने छापा मारा तो फर्जी निकली शिकायत

मतदाताओं के बारे में आंकड़ा

दिल्ली में मतदाताओं की संख्या 1,45,05, 358 है। इसमें 7893418 पुरुष मतदाता, जबकि 66,10,879 महिला मतदाता हैं। अन्य श्रेणी में आने वाले मतदाताओं की संख्या 1061 है। 95458 मतदाता पहली बार मतदान में हिस्सा लेने वाले थे। वहीं, 100 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं की संख्या 229 है। जबकि 80 से 100 वर्ष की आयु के बीच के मतदाताओं की संख्या 2.04 लाख के करीब है।

कुल वार्ड- 250

अनूसूचित जाति के लिए कुल आरक्षित वार्ड- 42

अनुसूचित जाति (महिला) के लिए आरक्षित वार्ड- 21

अनूसूचित जाति के लिए आरक्षित वार्ड- 21

महिलाओं के लिए आरक्षित वार्ड- 104

सामान्य- 104

कुल मतदाता- 1,45,05, 358

पुरुष मतदाता- 7893418

महिला मतदाता- 6610879

ट्रांसजेंडर- 1061

80 से 100 वर्ष के आयु के मतदाता- 2,04,301

100 वर्ष से अधिक आयु वाले मतदाता- 229

पहली बार मतदान करने वाले मतदाता- 95458

मतदान केंद्र (2017)- 13138

मतदान केंद्र (2022)- 13638

  • 56000 ईवीएम का मतदान में हुआ उपयोग
  • एक लाख कर्मियों की मतदान में लगी ड्यूटी
  • 40 हजार पुलिस कर्मी मतदान ड्यूटी पर रहे तैनात
  • 170 अर्धसैनिक बलों की टुकड़िया सुरक्षा में रहीं तैनात
  • 3356 मतदान केंद्र थे संवेदनशील
  • 1349 प्रत्याशी मैंदान में
  • 709 हैं महिला प्रत्याशी और 640 हैं पुरुष प्रत्याशी

किस दल के कितने पुरुष महिला हैं प्रत्याशी

दल                                        पुरुष प्रत्याशी                  महिला प्रत्याशी                   कुल

बसपा                                         56                                  76                             132

भाजपा                                      113                                 137                            250

सीपीआई                                      1                                     2                                3

सीपीाआई (एम)                             2                                     4                                6

कांग्रेस                                      113                                 134                            247

एनसीपी                                      11                                   15                              26

आम आदमी पार्टी                       110                                140                             250

आल इंडिया फारवर्ड ब्लाक             3                                   1                                  4

एआईएमआईएम                           6                                    9                                15

सीपीआई (एम-एल)                        3                                   2                                   5

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग            1                                   0                                   1

जेडीयू                                        13                                   9                                 22

लोक जनशक्ति पार्टी (राम विलास)    0                                   1                                   1

आरएल़डी                                     1                                  3                                   4

समाजवादी पार्टी                             1                                  0                                   1

निर्दलीय                                     206                             176                                 382

Edited By: Geetarjun

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट