नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। वर्ष 2016 में बांग्लादेश की राजधानी ढाका स्थित होली आर्टिसन बेकरी पर हुए आतंकवादी हमले में जान गंवाने वाली अबिंटा कबीर, तारिषी जैन के स्वजन की तरफ से दायर याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने फराज फिल्म निर्माता हंसल मेहता से मांगा जवाब है।

4 दिनों में दाखिल करना होगा जवाब

हाईकोर्ट ने फिल्म निर्माता हंसल मेहता को नोटिस जारी करते हुए चार दिनों के अंदर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया। याचिका में कहा गया है कि फिल्म को कई मौके पर सत्य घटना पर आधारित बताया गया है, जबकि मामले में बांग्लादेश की अदालतों के समक्ष जांच लंबित है और फिल्म न्यायालयों के समक्ष चल रहे मामले को बाधित करेगी।

पहले भी परिवार ने जताया था एतराज

इससे पहले पिछले साल अक्टूबर, 2022 में एकल पीठ ने फिल्म के प्रसारण पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया था। उस वक्त परिवार ने हाईकोर्ट में याचिका में गुजारिश करते हुए कहा कि भारत के संविधान के अनुच्छेद 14 और 21 के तहत उनकी निजता के अधिकार और निष्पक्ष परीक्षण के अधिकार का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया था।

अगले महीने रिलीज होनी है फिल्म

हंसल मेहता के निर्देशन में बनी यह फिल्म 3 फरवरी, 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है। सच्ची घटना से प्रेरित है फिल्म की कहानी बताया जा रहा है कि इस फिल्म की कहानी साल 2016 में बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक कैफे पर हुए आतंकी हमले पर बेस्ड होगी। जानकारी के अनुसार इस फिल्म में शशि कपूर पोते जहान एक ऐसे युवक का किरदार निभा रहे हैं, जो बिना डरे आतंकियों से लोहा लेता है।

यह भी पढ़ें: Delhi Mayor Election Live News: दिल्ली में MCD मेयर का चुनाव फिर टला, AAP-BJP पार्षदों के बीच झड़प के बाद बैठक स्थगित

Edited By: Nitin Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट