नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक और दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्लाह खान को दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार शाम को गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (Anti Corruption Branch, एसीबी) ने आप विधायक के छह से अधिक ठिकानों पर शुक्रवार शाम दिनभर छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान एक पिस्टल, कई कारतूस और 24 लाख से अधिक नगद समेत कई आपत्तिजनक दस्तावेज मिले हैं।

एसीबी चीफ मधुर वर्मा के मुताबिक, अमानतुल्लाह खान (Amanatullah Khan) से पूछताछ के आधार पर यह छापेमारी की गई। इस दौरान एसीबी की टीम को सभी जगहों पर कड़ा विरोध का सामना करना पडा। एसीबी को स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त बल बुलाना पड़ा।

ये भी पढ़ें- Delhi House Collapse: दिल्ली में मकान गिरने से कई लोग दबे, मौके पर पहुंची NDRF की टीम; बचाव कार्य जारी

करीबी से मिला कैश और हथियार

अमानतुल्लाह खान के जामिया के गफूर नगर में रहने वाले सबसे करीबी हामिद अली खान के यहां से अवैध पिस्टल, कारतूस और 12 लाख रुपये बरामद हुए हैं। एक अन्य जगह से भी 12 लाख रुपये नकद मिला हैं। मधुर वर्मा का कहना है कि हामिद के यहां ही अमानतुल्लाह अवैध पैसों को रखता था।

आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज

हामिद अली खान के घर से अवैध हथियार मिलने पर जामिया थाने में उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। पुलिस उसे गिरफ्तार करने में जुटी हुई है। अमानतुल्लाह खान के घर के बाहर उसके स्वजन और रिश्तेदारों ने एसीबी के एक एसीपी के साथ मारपीट करने की कोशिश की।

मारपीट और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने पर भी एफआईआर दर्ज

वीडियो से मारपीट में शामिल लोगों की पहचान कर ली गई है। उनके खिलाफ अलग से सरकारी कार्य में बाधा डालने, सरकारी अधिकारी के साथ मारपीट करने और सुबूत मिटाने की धाराओं में दूसरी प्राथमिकी दर्ज करा दी गई है। उन सभी को भी गिरफ्तार करने की कार्रवाई जारी है।

ये भी पढ़ें- Delhi: नाबालिग बेटी का गर्भपात कराने के लिए मांगी अनुमति, मां ने खटखटाया दिल्ली HC का दरवाजा

ACB ने दोपहर को की पूछताछ

अमानतुल्लाह दोपहर करीब तीन बजे एसीबी के पास जांच में शामिल होने पहुंचा था। उससे देर शाम तक पूछताछ जारी थी। एसीबी के अधिकारी का कहना है कि छापेमारी के दौरान कई जगहों पर घर के सदस्य ताला लगाकर कर भाग गए थे। उनके ताले (लॉकर) को खोला गया।

ये भी पढ़ें- दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में सबसे बड़ी जीत हासिल करने वाले अमानतुल्लाह क्यों हुए अरेस्ट? यहां जानिये सबकुछ

ये हैं आरोप

बता दें कि अमानतुल्लाह खान पर वक्फ बोर्ड के बैंक खातों में ''वित्तीय गड़बड़ी'', वक्फ बोर्ड की संपत्तियों में किरायेदारी का निर्माण, वाहनों की खरीद में भ्रष्टाचार और दिल्ली वक्फ बोर्ड में सेवा नियमों में उल्लंघन करते हुए 33 लोगों की '''अवैध नियुक्ति''' के आरोप हैं। इस संबंध में एसीबी ने जनवरी 2020 में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और भारतीय दंड संहिता के विभिन्न प्रविधानों के तहत केस दर्ज किया था।

खान पर दिल्ली वक्फ बोर्ड का चेयरमैन रहते हुए अपने पद का दुरुपयोग किया। उसने अपने रिश्तेदारों और करीबियों की अवैध तरीके से नियुक्तियां की थी। उसने सरकारी फंड का दुरुपयोग किया था। तनख्वाह में मद में तीन करोड़ की हेराफेरी की गई।

दूसरी पत्नी के यहां भी की छापेमारी

अमतुल्लाह की दूसरी पत्नी मरियम के भी छापेमारी करने पर अवैध हथियार के फोटो और अन्य दस्तावेज मिले हैं। सीबीआइ ने इसी साल मई में अमानतुल्लाह खान पर मुकदमा चलाने की मंजूरी मांगी थी। इसके साथ ही सीबीआई खान से पूछताछ भी कर चुकी है।

पूछताछ के बाद विधायक ने किया था ये ट्वीट

अमानतुल्लाह खान ने एसीबी कार्यालय में पूछताछ के बाद ट्वीट कर कहा कि मुझे पूछताछ के लिए एसीबी दफ्तर बुलाया गया और मेरे पीछे मेरे घरवालों को प्रताड़ित करने दिल्ली पुलिस को भेजा गया। उन्होंने उपराज्यपाल को ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा कि सच को कभी आंच नहीं आती है याद रखिएगा। मुझे इस देश के संविधान और न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।

Edited By: Geetarjun

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट