नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण का स्तर थोड़ा बढ़ गया है। इस वजह से चार दिन बाद शनिवार को दिल्ली एनसीआर में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई। इससे पहले लगातार चार दिनों तक हवा की गुणवत्ता मध्यम स्तर में थी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार रविवार को दिल्ली में हवा की गुणवत्ता मध्यम श्रेणी में रहने की संभावना है। इसके बाद सोमवार को हवा की गुणवत्ता दोबारा खराब श्रेणी में पहुंच सकती है।

जानिए क्या कहते है सीपीसीबी के आंकड़े

सीपीसीबी के अनुसार दिल्ली का एयर इंडेक्स 242, फरीदाबाद का 213, गाजियाबाद का 204, ग्रेटर नोएडा का एयर इंडेक्स 213 दर्ज किया गया। इस वजह से इन सभी शहरों में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में रही। इसके पहले लगातार चार दिनों तक दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 200 से कम था।

जानिए नोएडा की हवा गुणवत्ता का हाल

शुक्रवार को भी दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 199 था। इस वजह से हवा की गुणवत्ता मध्यम श्रेणी में थी, जो शनिवार को खराब श्रेणी में पहुंच गई। नोएडा का एयर इंडेक्स 175 दर्ज किया गया, जो मध्यम श्रेणी में रहा।

वायु प्रदूषण को लेकर सरकार की ओर से भी कई कदम उठाए गए थे। व्यावसायिक और पर्यटन वाहनों को कोहरे के साथ-साथ प्रतिबंध की दोहरी मार झेलनी पड़ी रही है। प्रदूषण के मद्देनजर पिछले वर्ष नवंबर से अब तक बीएस-4 डीजल वाहनों पर तीन बार प्रतिबंध लग चुका है। बता दें कि डॉक्टरों ने भी प्रदूषण को लेकर आवश्यक कदम उठाने की बात कही थी। डॉक्टरों ने कहा था कि लोगों को बाहर निकलने में बचाव करना चाहिए। 

यह भी पढ़ें- Air Pollution: BS-3 और BS-4 वाहनों के प्रतिबंध से दिल्ली के व्यापारियों को लगा आर्थिक झटका, अब उबरने की चुनौती

यह भी पढ़ें- Delhi Air Pollution: दिल्ली की हवा की गुणवत्ता में सुधार, जनरेटर चलाने और कोयला-लकड़ी जलाने की मिली छूट

Edited By: Abhi Malviya