नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। Dry Day in Delhi: राजधानी दिल्ली में शनिवार को भी ड्राइ डे है, जिसके चलते शहर में शराब की दुकानें बंद हैं। दरअसल, शुक्रवार को मिलाद उल नबी (Milad Ul Nabi)/ Id-E-Milad के कारण शराब की दुकानें बंद थीं, जबकि 31 अक्टूबर (शनिवार) को बाल्मीकि जयंती (Maharishi Valmiki Jayanti)) के चलते देश की राजधानी दिल्ली में शराब की दुकान बंद हैं। बता दें कि दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार पहले से ही बाल्मीकि जयंती पर शराब की दुकानों बंद करती रही हैं। ऐसे में इस बार शनिवार को भी दिल्ली में सभी शराब की दुकानें बंद हैं। इससे पहले शुक्रवार को मिलाद-उल-नबी के चलते शराब की दुकान पहले ही बंद थीं। यही वजह है कि लगातार 2 दिन तक दिल्ली में शराब की दुकानें बंद हैं।

यहां पर बता दें कि दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे देशभर में केंद्र सरकार और राज्य सरकारें किसी खास त्योहार या किसी शख्सियत की जयंती पर शराब की बिक्री को प्रतिबंधित करती हैं। इस प्रतिबंध के चलते उक्त दिन मादक पेय पदार्थ उस खास पर्व या त्योहार के दिन बेचने पर रोक होती है। इसका मतलब शहर में शराब की दुकानें उक्त दिन बंद रहती हैं। सामान्य भाषा में इसे ड्राइ डे कहा जाता है।

गौरतलब है कि देश के साथ-साथ राजधानी दिल्ली में शराब की दुकानें गांधी जयंती (Gandhi Jayanti), स्वतंत्रता दिवस (Independence Day), गणतंत्रता दिवस (Republic Day), होली Holi), दिवाली (Diwali) जैसे त्योहारों पर के अलावा बाल्मीकि जयंती पर भी बंद रहती है।

नवंबर में 3 दिन बंद रहेगी शराब की दुकान

अगले महीने नंवबर में कुल मिलाकर 3 दिन शराब की दुकानों पर ताले लटकेंगे। इस कड़ी में सबसे 14 नवबंर (शनिवार) दिवाली (Diwali) के चलते शराब की दुकानें बंद रहेंगी, जबकि 24 नवबंर (मंगलवार) गुरु तेग बहादुर बलिदान दिवस (Guru Tegh Bahadur's Martyrdom Day) की वजह से ड्राइ डे होगा। आखिर में 30 नवबंर (सोमवार) को गुरु नानक जंयती (Guru Nanak Jayanti) पर शराब की दुकान बंद होगी।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस