नई दिल्ली/गुरुग्राम/गाजियाबाद। हाथरस की घटना के बाद दिल्ली-एनसीआर में लड़कियों-युवतियों और महिलाओं के खिलाफ भी अपराध बढ़ गए हैं। इस कड़ी में जहां गुरुग्राम में युवती को 4 युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म का शिकार बनाया तो वहीं दिल्ली में एक फैक्टरी में किशोरी के साथ दरिंदगी की घटना सामने आई है। इसके अलावा, दिल्ली-मेरठ हाईवे पर कार सवार युवतियों से छेड़छाड़ का मामला भी सामने आया है। 

गुरुग्राम में युवती के साथ चार युवकों ने की दरिंदगी

पहली घटना में दिल्ली से सटे गुरुग्राम में शनिवार देर रात 25 वर्षीय युवती के साथ मारपीट व चार युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। चारों में से तीन अलग-अलग ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी में डिलीवरी ब्वाय का काम करते हैं, जबकि एक प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय में सहायक है। शिकायत मिलने पर चारों को डीएलएफ फेज-दो थाना पुलिस ने रविवार सुबह चकरपुर इलाके से गिरफ्तार कर लिया। पीड़िता का इलाज मेदांता अस्पताल में चल रहा है, उसके सिर में काफी चोट है। पश्चिम बंगाल की मूल निवासी युवती एमजी रोड पर शनिवार देर रात खड़ी थी। उसी समय एक युवक बाइक से पहुंचा और उसे बैठाकर डीएलएफ फेज-दो इलाके में प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय में ले आया। वहां पर पहले से तीन युवक थे। बताया जाता है कि किसी बात को लेकर युवती का युवकों के साथ विवाद हो गया। इसके बाद युवती वहां से जाने लगी तो सभी ने न केवल उसे दबोच लिया बल्कि मारपीट करते हुए उसके साथ दुष्कर्म किया। विरोध करने पर एक बार दीवार में भी उसके सिर को टकरा दिया। वारदात के बाद सभी आरोपित फरार हो गए। इसके बाद प्रापर्टी कार्यालय के आसपास तैनात सिक्योरिटी गार्ड ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई और सबसे पहले युवती को जिला नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया। वहां से उसे मेदांता अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। रविवार सुबह होते-होते चारों आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी पहचान बिहार के बांका जिले के गांव दुधारी निवासी 23 वर्षीय रंजन, गांव कटवाजा निवासी 24 वर्षीय पवन व 26 वर्षीय पंकज एवं गांव धनुबसर निवासी 20 वर्षीय गोविंद के रूप में की गई। चारों फिलहाल गांव चकरपुर में एक ही जगह रह रहे थे। तीनों में से रंजन प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय में सहायक की नौकरी करता है, जबकि अन्य तीन अलग-अलग फूड डिलीवरी कंपनी में डिलीवरी ब्वॉय की नौकरी करते हैं। रंजन बाइक पर युवती को लेकर कार्यालय में पहुंचा था।

फैक्टरी मालिक ने अपने 2 साथियों के साथ किशोरी से किया सामूहिक दुष्कर्म

दूसरी घटना में बाहरी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में बहन के इलाज के लिए वेतन लेने गई किशोरी से फैक्टरी मालिक और उसके साथी ने सामूहिक दुष्कर्म किया। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ पॉक्सो व दुष्कर्म की धाराओं में मामला दर्ज कर फैक्टरी मालिक रेहान को गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथी की तलाश में छापेमारी की जा रही है। 16 वर्षीय पीड़िता बड़ी बहन के साथ जहांगीरपुरी इलाके में रहती है। करीब चार साल पूर्व सड़क हादसे में पीड़िता के माता-पिता की मौत हो गई थी। इसके बाद पीड़िता की बड़ी बहन को भी ससुराल वालों ने निकाल दिया तो छोटा-मोटा काम करके वह छोटी बहन का पालन-पोषण करने लगी। इसी बीच लॉकडाउन के दौरान तबीयत बिगड़ने से उनका काम छूट गया। ऐसे में पीड़िता ने कुछ दिनों पहले जहांगीरपुरी स्थित के-ब्लॉक में बर्तन पॉलिश करने की फैक्टरी में काम करना शुरू कर दिया। पुलिस के अनुसार, पीड़िता बृहस्पतिवार को काम खत्म करके घर गई तो बहन की तबीयत ज्यादा खराब मिली। इस पर देर शाम पीड़िता दोबारा फैक्ट्री पहुंची और बहन की बीमारी का हवाला देकर मालिक रेहान से वेतन के रुपये मांगे। आरोप है कि रुपये देने के बहाने रेहान और उसका साथी फैक्टरी के पिछले हिस्से में पीड़िता को ले गया। इसके बाद दोनों ने सामूहिक दुष्कर्म किया व जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया।

दिल्ली-मेरठ हाईवे पर कार सवार युवतियों से छेड़छाड़

तीसरे मामले में दिल्ली से सटे गाजियाबाद जिले के एक जनप्रतिनिधि की भतीजियों से हाईवे पर कार सवार तीन युवकों ने अभद्रता व छेड़छाड़ की। दोनों बहनें निजी सुरक्षाकर्मी (पीएसओ) के साथ कार से नोएडा जा रही थीं। आरोपितों ने कई किलोमीटर तक पीछा किया और रुकने पर पीएसओ से मारपीट भी की। युवतियों ने ट्रैफिक पुलिस की मदद से आरोपितों को पकड़वाया। दिल्ली-मेरठ हाईवे पर हुई यह घटना शनिवार की है। एसएचओ सिहानी गेट नोएडा सेक्टर-76 निवासी रोमिल, वसुंधरा निवासी शुभम पांडे और अहिंसा खंड-3 निवासी रजत रैना को गिरफ्तार किया गया है। इनके खिलाफ पीड़िता की तहरीर पर छेड़छाड़, मारपीट व धमकी देने की धाराओं में केस दर्ज कर जेल भेज दिया है। एसएचओ ने बताया कि रोमिल लर्निंग एप बाइजूस में कार्यरत है, जबकि शुभम और रजत दिल्ली की आइटी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। रजत के पिता दिल्ली के एक विभाग में लेखाधिकारी हैं। नोएडा निवासी पीड़िता गाजियाबाद के एक प्रमुख जनप्रतिनिधि की भतीजी है। पीड़िता के मुताबिक, शनिवार शाम वह बहन व पीएसओ के साथ मेरठ स्थित नानी के घर गई थीं। 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

Edited By: JP Yadav