Move to Jagran APP

JEE Advanced Result 2024: आदित्य बंसल ने देश में पाई दूसरी रैंक, माता-पिता को दिया सफलता का श्रेय

JEE Advanced Result 2024 पीतमपुरा के जेपी ब्लॉक में रहने वाले आदित्य बंसल ने जेईई एडवांस्ड 2024 के परिणाम में देश में दूसरी रैंक पाई है। उन्होंने पंजाबी बाग स्थित फिटजी संस्थान से कोचिंग ली थी। फिलहाल आदित्य बंसल मलेशिया में ओलंपियाड परीक्षा के लिए गए हुए हैं। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता शिक्षकों और बहन लावण्या को दिया है।

By Jagran News Edited By: Abhishek Tiwari Published: Sun, 09 Jun 2024 01:50 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 03:57 PM (IST)
JEE Advanced Result 2024: माता-पिता के साथ आदित्य। सौजन्य. स्वजन

रिषभ बाजपेयी, पश्चिमी दिल्ली। कहते हैं कि जीवन में व्यक्ति को वही करना चाहिए जिसमें उसकी रुचि हो। ऐसा ही कुछ जेईई एडवांस्ड 2024 के परिणाम में देश में दूसरी रैंक लाने वाले 17 वर्षीय आदित्य ने किया है।

आदित्य की मां ममता की इच्छा थी कि उनका बेटा बड़ा होकर डॉक्टर बने लेकिन आदित्य ने अपने करियर का चयन पहले ही कर लिया था कि उन्हें बड़े होकर आईआईटीयन बनाना है। साथ ही देश का नाम विदेशों में ऊंचा करना है। पीतमपुरा के जेपी ब्लाक में आदित्य अपने माता-पिता और बड़ी बहन के साथ रहते हैं।

पिता पवन कुमार बंसल पेशे से वकील हैं जबकि मां ममता गृहणी हैं। बहन लावण्या आईआईटी दिल्ली में तीसरे वर्ष की छात्रा हैं। आदित्य की पढ़ाई शुरू से ही पीतमपुरा के डीएल डीएवी स्कूल से हुई है, जबकि पंजाबी बाग स्थित फिटजी से उन्होंने कोचिंग ली है। 

ये भी पढ़ें-

JEE Advanced Result 2024 OUT: घोषित हुआ आईआईटी जेईई एडवांस रिजल्ट, 355 अंक हासिल कर वेद लाहोटी बने टॉपर

JEE Advanced Topper 2024: दृढ़ निश्चय और कड़ी तैयारी से वेद लाहोटी ने जेईई एडवांस में हासिल की AIR-1, मैथ्स है पसंदीदा विषय

जेईई मेन 2024 में 185 आई थी आदित्य की ऑल इंडिया रैंक

जेईई मेन 2024 में आदित्य की ऑल इंडिया रैंक 185 आई थी। आदित्य ओलंपियाड परीक्षा देने के लिए फिलहाल मलेशिया गए हैं। उनका कहना है कि जो मैंने मेहनत की है उसका मुझे फल मिला है, आज बहुत अच्छा लग रहा है।

दिन में आठ से दस घंटे पढ़ाई करते थे आदित्य

पढ़ाई में सफलता का श्रेय मैं अपने माता-पिता, शिक्षकों के साथ बड़ी बहन को दूंगा। शिक्षा का मूलमंत्र बताते हुए उन्होंने कहा कि मैंने पढ़ाई कभी घंटों के हिसाब से नहीं की है जब मन हुआ तभी पढ़ने के लिए बैठ जाता था। हालांकि मैं दिन में आठ से दस घंटे तक पढ़ाई कर लेता था।

पंजाबी बाग फिटजी के हेड पार्था हलदर का कहना है कि फिजी के शिक्षकों ने मेहनत से पढ़ाया है जिसका परिणाम है आज आदित्य ने देशभर में दूसरी रैंक हासिल की है।

विज्ञान और गणित में है रुचि

आदित्य ने ऐसे चुना अपना करियर आदित्य बताते हैं कि बचपन से ही मुझे विज्ञान और गणित में काफी रुचि रही है। फिर जब मैं बड़ा हुआ तो कंप्यूटर और विज्ञान पढ़ना अधिक पसंद आता गया। तभी से मैंने सोच लिया था कि फिटजी से कोचिंग लेकर आईआईटीयन ही बनना है।

उनका कहना है कि मैं अपने माता-पिता का धन्यवाद करना चाहता हूं कि उन्होंने मुझसे कभी यह नहीं कहा कि यह मत पढ़ो या वो मत पढ़ो। मेरा जो मन हुआ करियर में करने के लिए उन्होंने मुझे उसमें ही काफी प्रोत्साहित किया।

बेडमिंटन खेलना है पसंद आदित्य का कहना है कि पढ़ाई के अलावा मैं टहलना और व्यायाम जरूर करता हूं। मैं शाम को अपनी मां के साथ पार्क में अक्सर बेडमिंटन खेलने के लिए गया हूं, खेल में मुझे सिर्फ यही पसंद है। खेल की वजह से ही मैं पढ़ाई के तनाव से दूर रहता हूं।

काम को कल पर नहीं टालते नहीं टालते हैं आदित्य

बेटे के स्वभाव को लेकर ममता बताती हैं कि आदित्य को जो करना होता है वो कभी वह कल पर नहीं टालता है चाहे उस काम के लिए कितना भी समय लगे। दूसरा आदित्य मोबाइल का इस्तेमाल बहुत कम करता है, वह केवल यूट्यूब पर पढ़ाई से जुड़े वीडियो देखने या कुछ सीखने के लिए ही करता है।

बाहर का खाना आदित्य को नहीं पसंद है वह केवल घर का खाना ही पसंद करता है। विदेशों में झंडा लहरा चुके हैं आदित्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली ओलंपियाड परीक्षा में भी आदित्य अपनी पहचान बना चुके हैं।

मार्च 2023 में आयोजित हुई अंतरराष्ट्रीय फिजिक्स ओलंपियाड में आदित्य को गोल्ड मेडल मिला था, जबकि मई 2023 के महीने में हुई एशियाई फिजिक्स ओलंपियाड में सिल्वर मेडल मिला है। मां का कहना है कि वह शुरू से ही पढ़ाई में तेज रहा है। नर्सरी में जब वह था जब से लगातार मेडल लेकर आता रहा है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.