नई दिल्ली, जेएनएन। प्रेम नगर थाने में एक युवक ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। युवक की पहचान आशु (24) के रुप में हुई है। युवक के पिता के साथ दशहरे के दिन पुरानी रंजिश के चलते कुछ लोगों से झगड़ा हुआ था। लेकिन पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की थी। गंभीर रुप से घायल आशु को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

पिता चलाते हैं अपराध विरोधी सुरक्षा फाउंडेशन

जानकारी के अनुसार आशु अपने परिवार के साथ किराड़ी इलाके के प्रवेश नगर मुबारकपुर डबास में रहते हैं। उन्होंने फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रखा है। उसके पिता यादराम अपराध विरोधी गतिविधियों के खिलाफ वसुंधरा सुरक्षा फाउंडेशन नाम का एनजीओ चलाते हैं। यादराम के अनुसार दशहरे के दिन प्रवेश नगर चौक पर अमरदीप व उसके भाई हरदीप ने बेवजह मारपीट की थी। इसकी शिकायत उसी दिन प्रेम नगर थाने में की गई थी।

पुलिस ने दर्ज नहीं किया मामला

इस मामले की जांच की जिम्मेदारी हवलदार संदीप को सौंपी गई थी। लेकिन, अब तक पुलिस ने मामला तक दर्ज नहीं किया था। जबकि इस दौरान कई बार जांच अधिकारी से कार्रवाई के लिए आग्रह किया गया था। बताया जाता है कि आशु शुक्रवार को किराेसिन तेल लेकर प्रेम नगर थाने के बाहर पहुंचा और उसे अपने ऊपर उड़ेल लिया। इसके बाद वह थाना परिसर में प्रवेश कर गए और जांच अधिकारी के कमरे के पास पहुंचकर खुद के शरीर में लाइटर से आग लगा ली और फिर पास स्थित डयूटी अफसर के कमरे में घुस गए, जहां वह गिर पड़े।

पुलिसकर्मियों ने दिखाई तत्‍परता

थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों ने तुरंत तत्परता दिखाई और सबमर्सिबल को चालू कर पानी से आशु के शरीर की आग को बुझाई और उन्हें कुछ मिनटों में मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पातल में भर्ती कराया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें सफदरजंग अस्पताल के भेज दिया गया।

घटना से पूर्व फेसबुक पर किया था लाइव

बताते हैं कि आशु ने थाने के बाहर खुद के ऊपर किरोसिन तेल डालने से पूर्व फेस बुक लाइव भी किया था। जिसमें उन्होंने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए खुदकशी करने की बात कही थी। इसके बाद ही वह थाने के अंदर प्रवेश किए थे।

जांच अधिकारी के हाथ टूटे होने की वजह से लंबित था मामला

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जिस दिन यादराम के साथ झगड़ा हुआ था। उसी दिन इलाके में एक और झगड़े की कॉल पुलिस को मिली थी। इस मामले में भी हवलदार संदीप को मौके पर भेजा गया था, जहां बीच बचाव के क्रम में उनके हाथ की हड्डी टूट गई थी। इसके बाद वह मेडिकल अवकाश पर चले गए थे। ऐेसे में यादराम की शिकायत की मामले की जांच लंबित रह गई थी। यादराम के साथ मारपीट नहीं बल्कि धक्कम मुक्की हुई थी। इसमें आरोपित पक्ष का मोबाइल फोन भी टूट गया था। हालांकि आशु के खुदकशी के प्रयास के बाद यादराम के पूर्व की शिकायत के आधार पर प्रेम नगर थाने में आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

वायु प्रदूषण फैलाने वालों पर चला सरकार का डंडा, लगा 1 करोड़ रुपये का जुर्माना

Facebook Live कर युवक ने दिल्‍ली के प्रेम नगर थाने में खुद को लगाई आग, देखें वीडियो

ग्रेप लागू होने से पहले बवाल, ईपीसीए के आदेश पर उद्योग जगत ने कहा- करोड़ों का होगा नुकसान

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस