नई दिल्ली, जेएनएन। आइपीएल 2019 की प्वाइंट्स टैली में सातवें पायदान पर विराजमान राजस्थान रॉयल्स ने शनिवार को एकाएक टीम का कप्तान बदल दिया। राजस्थान रॉयल्स ने अजिंक्य रहाणे से कप्तानी छीनकर स्टीव स्मिथ को सौंप दी। आठ में 6 मुकाबले हारने के बाद टीम ने ये फैसला लिया है। उधर, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई राजस्थान रॉयल्स टीम मैनेजमेंट के इस फैसले पर हैरान है। 

दरअसल, बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की तरह स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर बैन लगा दिया था। यही वजह रही कि ये दोनों प्लेयर आइपीएल 2018 में नहीं खेले। लेकिन, अब राजस्थान रॉयल्स ने स्टीव स्मिथ को कप्तानी सौंप दी, जिससे बीसीसीआइ हैरान है क्योंकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर एक साल का बैन और दो साल का कप्तानी बैन लगाया था। बावजूद इसके राजस्थान ने स्मिथ को कप्तान बनाया है।  

पिछले साल मार्च में केपटाउन टेस्ट में बॉल टैंपरिंग के दोषी पाए जाने के बाद तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वॉर्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट को बैन किया था। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उस फैसले में ये भी कहा था कि स्टीव स्मिथ दो साल तक अंतरराष्ट्रीय और घरेलू मैच में दो साल तक कप्तानी नहीं करेंगे। इसी बात को लेकर बीसीसीआइ के एक अधिकारी ने कहा है कि हम फ्रैंचाइजी से पूछेंगे क्या ये फैसला सही है? जबकि उनके देश ने उनको अगले एक और साल के लिए कप्तानी से बैन किया हुआ है।

उधर, राजस्थान रॉयल्स फ्रेंचाइजी के क्रिकेट प्रमुख जुबिन बरूचा ने स्मिथ को कप्तानी सौंपने के बाद कहा, "अजिंक्य रहाणे टीम में बने रहेंगे और वो टीम के मुख्य खिलाड़ी हैं। स्टीव स्मिथ को जहां जरूरत होगी वो उनकी मदद करेंगे। रहाणे ने टीम के लिए अच्छी कप्तानी की और उनकी अगुआई में ये टीम पिछले सीजन में प्लेऑफ तक पहुंची।"

वहीं, स्टीव स्मिथ के बारे में जुबिन बरचा ने कहा कि वो विश्व के बेस्ट कप्तानों में से एक हैं और उनके पास क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कप्तानी करने का अनुभव है। हमें उम्मीद है कि उनकी कप्तानी में टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी। बता दें कि स्टीव स्मिथ की कप्तानी में राजस्थान ने मुंबई इंडियंस को हराकर सीजन की तीसरी जीत दर्ज कर ली है। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप