नई दिल्ली, जेएनएन। IPL 2019 DC vs SRH Eliminator Match: बुधवार को वाइजैग में खेले गए आइपीएल 2019 के एलिमिनेटर मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 2 विकेट से हरा दिया। इसी हार के बाद हैदराबाद की आइपीएल के 12वें सीजन का सफर समाप्त हो गया। इस मैच के बाद दिल्ली की टीम चेन्नई से क्वालीफायर 2 में इसी मैदान पर 10 मई को दो-दो हाथ करेगी। लेकिन, सबसे जरूरी बात ये कि सनराइजर्स हैदराबाद इस मुकाबले को किस कमी की वजह से हारी। 

दरअसल, सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन का एक निर्णय टीम पर भारी पड़ और टीम आइपीएल 2019 के फाइनल की रेस से बाहर हो गई। गौरतलब है कि इस मैच में हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 162 रन बनाए। ऐसा पहली बार था जब हैदराबाद की टीम आइपीएल 2019 में पहली बार इस स्कोर को डिफेंड करती नज़र आ रही थी। क्योंकि पहले राशिद खान और फिर भुवनेश्वर कुमार ने एक-एक ओवर में दो-दो विकेट निकालकर दिल्ली की कमर तोड़ दी थी। लेकिन, 18 ओवर से मैच का पासा रिषभ पंत ने पलट दिया।  

दरअसल, कप्तान केन विलियमसन ने बसिल थंपी को 18वां ओवर दे दिया। इससे पहले 18 गेंदों में दिल्ली को 34 रन बनाने थे। केवल रिषभ पंत ऐसे बल्लेबाज थे जो रन बना सकते थे। लेकिन, केन विलियमसन ने आउट ऑफ फॉर्म चल रहे और आइपीएल के इतिहास में सबसे महंगा स्पेल डालने वाले बसिल थंपी को गेंद थमा दी। नतीजा निकला ये कि पंत ने थंपी के ओवर में 22 रन बना डाले।

हालांकि, इससे पहले थंपी ने 3 ओवर में 19 रन दिए थे। शायद इस वजह से विलियमसन ने 18वां ओवर दिया। लेकिन, विलियमसन के पास खलील अहमद जैसे इनफॉर्म गेंदबाज थे, जिनके दो ओवर बचे हुए थे। बावजूद इसके थंपी को ओवर दिया और मैच हाथ से निकल गया। इतना ही नहीं, बसिल थंपी ने पचासा जड़ने वाले पृथ्वी शॉ का एक आसान से कैच भी छोड़ा, जिसने मैच का नतीजा बदल दिया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस