Move to Jagran APP

Saurabh Netravalkar: सूर्या का जिगरी भारत के लिए ही बना काल, Kohli-Rohit का विकेट लेकर हासिल कर लिया बड़ा कीर्तिमान

भारत के खिलाफ खेले जा रहे टी20 विश्व कप 2024 के मैच में भी अमेरिका के बॉलर सौरभ नेत्रावलकर ने गेंद से कहर बरपाते हुए शुरुआती ओवर में टीम इंडिया को गहरा जख्म दिया। सौरभ अपने जन्म के मुल्क यानी भारत के लिए काल साबित हुए हैं। सौरभ ऐसे पहले भारतीय बॉलर बन गए हैं जिन्होंने आईसीसी इवेंट्स में कोहली को गोल्डन डक पर आउट किया।

By Priyanka Joshi Edited By: Priyanka Joshi Wed, 12 Jun 2024 10:51 PM (IST)
ICC इवेंट्स में Virat Kohli को गोल्डन डक पर आउट करने वाले पहले बॉलर बने Saurabh Netravalkar

स्पोर्ट्स डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय टीम का सामना टी20 विश्व कप 2024 में आज अमेरिका से हो रहा है। इस मैच में पहले बैटिंग करते हुए अमेरिका ने 110 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। ओपनिंग करने आए विराट कोहली मैच में 1 गेंद खेलते हुए गोल्डन डक का शिकार हुए।

अमेरिका के बाएं हाथ के पेसर सौरभ नेत्रावलकर ने भारत को पहले ओवर की दूसरी गेंद पर झटका दिया। सौरभ ने कोहली के बाद कप्तान रोहित शर्मा को भी अपना शिकार बनाया। इस दौरान सौरभ ने कोहली का विकेट लेते ही एक बड़ी उपलब्धि हासिल की।

ICC इवेंट्स में Virat Kohli को गोल्डन डक पर आउट करने वाले पहले बॉलर बने Saurabh Netravalkar

दरअसल, अमेरिका की टीम के बाएं हाथ के पेसर सौरभ नेत्रावलकर (Saurabh Netravalkar) पिछले कुछ दिनों से सुर्खियां बटोर रहे हैं। पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका की जीत में सौरभ का अहम हाथ रहा था। उस मैच में सौरभ ने 2 विकेट चटकाए थे और सुपर ओवर में अमेरिका को जीत मिली थी। इसके बाद भारत के खिलाफ खेले जा रहे टी20 विश्व कप 2024 के मैच में भी अमेरिका के इस बॉलर ने गेंद से कहर बरपाते हुए शुरुआती ओवर में टीम इंडिया को गहरा जख्म दिया।

इस मैच में सौरभ अपने जन्म के मुल्क यानी भारत के लिए काल साबित हुए हैं। उन्होंने कोहली को गोल्डन डक पर आउट किया और वह ऐसे पहले बॉलर बन गए हैं, जिन्होंने आईसीसी इवेंट्स में कोहली को गोल्डन डक पर आउट किया। इसके बाद रोहित को सौरभ ने 3 रन के निजी स्कोर पर चलता किया।

भारतीय मूल के हैं Saurabh Netravalkar

सौरभ नेत्रावलकर का जन्म 16 अक्टूबर 1991 में मुंबई में हुआ था। साल 2008-09 में खेली गई कूच बिहार ट्रॉफी में उन्होंने मुंबई टीम की तरफ से टूर्नामेंट खेला था। उस दौरान सूर्यकुमार यादव भी उनकी टीम का हिस्सा रहे थे। इसके बाद उन्होंने अपने दमदार प्रदर्शन के चलते अंडर-19 में अपनी जगह बनाई। 2010 में खेले गए अंडर-19 विश्व कप में वह केएल राहुल, मयंक अग्रवाल के साथ भारतीय टीम का हिस्सा रहे।

यह भी पढ़ें: Mohammed Siraj Catch: मियां का मैजिक…, हवा में कई फीट ऊंची लगाई छलांग; गिरते-पड़ते हुए लपक लिया गजब का कैच

इसके साथ ही उन्होंने अंडर-19 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में भारत की तरफ से पांच ओवर में एक मेडन और 16 रन लुटाते हुए 1 विकेट लिया था। वह उस दौरान भारत की तरफ से सौरभ सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी रहे थे।

सूर्या के दोस्त सौरभ नेत्रावलकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर रह चुके

बता दें कि सौरभ नेत्रावलर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि साल 2015 में वह मुख्य रूप से कंप्यूटर साइंस में मास्टर्स करने के लिए अमेरिका गए थे। उन्हें इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि वह कभी क्रिकेट खेलेंगे। उनकी जिंदगी उस वक्त बदली जब उन्होंने कैलिफोर्निया में क्लब क्रिकेट खेलना शुरू किया।

वहां क्लब-स्तरीय कॉलेज क्रिकेट हुआ करता था। इसलिए उन्होंने मस्ती और मजे के लिए खेलना शुरू किया, लेकिन धीरे-धीरे जुनून फिर से जाग उठा और यूएसए शिफ्ट कर गए जहां साल 2019 में यूएसए के लिए डेब्यू किया। 32 साल के सौरभ को सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी मिल गई थी, लेकिन किस्मत से बड़ा कुछ कहा होता है। उन्होंने क्रिकेटर बनने की ठानी।

यह भी पढ़ें: USA vs IND: अमेरिका के खिलाफ भी विराट कोहली का बल्‍ला रहा खामोश, टी20 विश्‍व कप में बना डाला शर्मनाक रिकॉर्ड