नई दिल्ली स्पोर्ट्स डेस्क। भारत के कप्तान रोहित शर्मा ने रविवार को तीन मैचों की वनडे सीरीज में मिली हार के प्रेस कहा, हमें इस बात पर जोर देना चाहिए कि बल्लेबाजी को बेहतर करने पर जोर देने की जरूरत है। साथ ही खराब पिच पर स्पिनरों से निपटने के तरीके में उल्लेखनीय सुधार करने की जरूरत है। मेहदी हसन मिराज और मुस्ताफिजुर रहमान ने बांग्लादेश के लिए 10वीं विकेट के लिए नाबाद 51 रनों की साझेदारी की और टीम को अविश्वनीय जीत दिलाई।

भारत ने बांग्लादेश के सामने 187 रनों का लक्ष्य रखा था। जिसे मेजबान टीम ने 46 ओवरों में 9 विकेट खोते हुए हासिल कर लिया। स्पिनर शाकिब अल हसन ने 5 विकेट और ऑफ स्पिनर मिराज ने 1 विकेट लिया था।

"हमने बल्लेबाजी खराब की"

रोहित ने मैच के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में कहा, "पिच थोड़ी चुनौतीपूर्ण थी, गेंद टर्न कर रही थी। आपको समझना होगा कि कैसे खेलना है। कोई बहाना नहीं है, हम इस तरह की परिस्थितियों के आदी हैं। हमें यह देखने की जरूरत है कि इन परिस्थितियों में उनके स्पिनरों के खिलाफ कैसे बल्लेबाजी की जाए। ये लोग ऐसी परिस्थितियों में खेलकर बड़े हुए हैं। यह सब दबाव से निपटने के बारे में है।"

"आखिर के ओवर में नहीं बने रन"

रोहित ने आगे कहा, "40वें ओवर में 9 विकेट पर 136 रन था। आखिरी विकेट ने साझेदारी कर जीत हासिल की। यह पर्याप्त रन नहीं था। हमें 30-40 रन ज्यादा बना था। केएल और वाशिंगटन सुंदर के साथ, हम वहां पहुंच सकते थे। दुर्भाग्य से, हमने बीच में विकेट खो दिए, और वापसी करना आसान नहीं है।"

भारतीय कप्तान ने कहा, "अगर आप पीछे मुड़कर देखें कि हमने कैसी गेंदबाजी की तो निश्चित रूप से आखिरी के कुछ ओवरों में जहां हम विकेट हासिल करना चाहते थे, हम लगातार विकेट लेते रहे।' उन्होंने कहा, "मुझे यकीन है कि ये लोग सीखेंगे और हम अगले गेम का इंतजार कर रहे हैं। उम्मीद है कि हम चीजों को बदल सकते हैं। हमें पता है कि इन परिस्थितियों में हमें क्या करना है।"

यह भी पढ़ें- IND vs BAN 1st ODI: आखिरी विकेट की रिकॉर्ड तोड़ साझेदारी से जीता बांग्लादेश, मेहदी रहे जीत के हीरो

यह भी पढ़ें- IND vs BAN: बांग्लादेश के खिलाफ टीम इंडिया को मिली हार पर डेब्यू मैच पर चमके कुलदीप सेन

Edited By: Umesh Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट