नई दिल्ली, [जागरण स्पेशल]। क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है। इस खेल में कब क्या हो जाए कोई भी नहीं जानता। इस खेल में कभी-कभी एक ही ओवर में बल्लेबाज़ लगातार छह छक्के भी जड़ देता है, तो कभी एक ही ओवर में विकेट की हैट्रिक हो जाती है। कई बार ऐसा भी हो जाता है जब गेंदबाज़ एक ही गेंद में दो बार विकेट ले लेता है, लेकिन न तो उसके खाते में कोई विकेट जाता है और न ही उसकी टीम को कोई विकेट मिलता है। ऐसी ही घटना घटी भारत और द. अफ्रीका के बीच खेले गए चौथे वनडे मैच में।

बारिश ने डाला खलल

इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 50 ओवरों में 290 रनों का लक्ष्य दिया था लेकिन बारिश के दोबारा खलल के चलते दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 28 ओवरों में 202 संशोधित लक्ष्य दिया गया। बारिश के कारण खेल बंद होने से पहले दक्षिण अफ्रीका ने 7.2 ओवरों में एक विकेट के नुकसान के 43 रन बना लिए थे। इसके बाद खेल शुरू हुआ तो हाशिम अमला 33, डिविलियर्स 18 गेंदों पर 26 रन बनाकर आउट हो गए। द. अफ्रीका ने तब तक 17 ओवर में 4 विकेट खोकर 103 रन बना लिए थे।

यह भी पढ़े: एक टोटके ने भारत से छीन ली जीत, नहीं तो कोहली रच देते इतिहास

एक गेंद मे दो बार आउट हुआ ये बल्लेबाज़

इसके बाद विराट कोहली ने 18वां ओवर फेंकने के लिए चहल को गेंद थमाई।18वें ओवर की पहली गेंद पर क्लासन ने कोई रन नहीं लिया। दूसरी गेंद पर क्लासन ने 01 रन लिया और मिलर स्ट्राइक पर आ गए। तीसरी गेंद पर मिलर ने एक रन बनाया। इस गेंद पर श्रेयस अय्यर मे मिलर का कैच छोड़कर उन्हें जीवनदान दे दिया। चौथी गेंद पर कोई रन नहीं बना। पांचवीं गेंद पर क्लासन ने एक रन लेकर स्ट्राइक मिलर को थमा दी। इस ओवर की आखिरी गेंद (17.6) पर चहल ने डेविड मिलर को चकमा देकर बोल्ड कर दिया। चहल के साथ-साथ टीम इंडिया के खिलाड़ी और भारतीय फैंस भी इस विकेट का जश्न मनाने लगे, तभी अंपायर ने मिलर को रुकने को कहा और टीवी रिप्ले में पता चला कि गेंद फेंकते समय चहल का पैर लाइन से काफी आगे था। इसका मतलब साफ था कि ये नो बॉल थी और मिलर को जीवनदान मिल चुका था। जिस समय मिलर को ये जीवनदान मिला वो 07 रन बनाकर खेल रहे थे। इसके बाद मिलर को अगली गेंद फ्री हिट मिली।  मिलर ने फ्री हिट (17.6 गेंद) का फायदा उठाने की कोशिश करते हुए हवा में बड़ा शॉट लगाया, लेकिन गेंद सीधे गई डीप मिड-विकेट पर खड़े फील्डर के हाथों में। इस तरह से चहल ने एक गेंद में दो बार डेविड मिलर को आउट तो किया, लेकिन न तो उन्हें और न ही टीम इंडिया को कोई विकेट मिली। 

(देखिए चहल की गलती का वीडियो)

(वीडियो साभार- यू ट्यूब)

18वें ओवर के बाद पलटा मैच

इसके बाद मिलर को चहल ने ही एलबीडब्ल्यू आउट किया, लेकिन तब तक मिलर  28 गेंदों में 39 रन बनाकर द. अफ्रीका को जीत की राह दिखा चुके थे। यानि की द. अफ्रीकी पारी के 18वें ओवर में डेविड मिलर को तीन-तीन जीवनदान मिले। क्योंकि चहल के ओवर की तीसरी गेंद पर श्रेयस अय्यर ने भी मिलर का कैप टपका दिया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Pradeep Sehgal