नई दिल्ली, अभिषेक त्रिपाठी। विश्व कप से पहले विजय रथ पर सवार भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के बाद न्यूजीलैंड का मानमर्दन करने के लिए बढ़ चली है। ऑस्ट्रेलिया में 71 साल बाद टेस्ट सीरीज जीतने और पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतने वाली विराट कोहली की टीम को अब न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है। भारतीय टीम पहली बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कोई सीरीज हारे बिना वहां से निकल रही है और अब उसे कंगारुओं से ज्यादा मजबूत कीवियों से भिड़ना है। भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला वनडे 23 जनवरी को नेपियर में खेला जाएगा।

न्यूजीलैंड के पूर्व ऑलराउंडर स्कॉट स्टायरिस ने कहा भी है कि स्टार्टर खत्म, अब मेन कोर्स की तैयारी करो। स्कॉट ने सिर्फ दो लाइन के ट्वीट से बता दिया है कि भारत के लिए न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया की तुलना में काफी मजबूत टीम साबित होगी। इसमें कोई शक नहीं भारत ने अब तक जितनी भी बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया उसमें यह सबसे कमजोर मेजबान टीम थी जबकि इस समय केन विलियमसन की कप्तानी वाली कीवी टीम फुल फॉर्म में है। न्यूजीलैंड टीम के पास एक मजबूत बल्लेबाजी टीम है। कप्तान विलियमसन के अलावा मार्टिन गुप्टिल, रॉस टेलर, कोलिन मुनरो, हेनरी निकोलस जैसे बल्लेबाज टीम इंडिया के गेंदबाजों के लिए परेशानी बन सकते हैं।

बेहतरीन फॉर्म में हैं कीवी टीम

न्यूजीलैंड ने श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे की सीरीज में क्लीन स्वीप किया था। उन्होंने तीनों में 300 से ज्यादा का स्कोर किया। हालांकि इसमें कोई शक नहीं कि श्रीलंकाई टीम भारत की तरह मजबूत भी नहीं थी। टीम इंडिया की गेंदबाजी काफी मजबूत है। न्यूजीलैंड के पास ट्रेंट बोल्ट, मैट हेनरी, ल्यूक फग्यरुसन जैसे तेज गेंदबाज हैं जो घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाएंगे। टीम के पास लेग स्पिनर ईश सोढ़ी भी हैं। न्यूजीलैंड के पास कोलिन डी ग्रैंडहोम और जिमी निशाम जैसे ऑलराउंडर हैं जो निचले क्रम में तेजी से रन बनाने के साथ-साथ गेंदबाजी में भी हाथ आजमा सकते हैं। निशाम ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में महज 13 गेंदों पर 45 रन की पारी खेली थी।

पिछला दौरा रहा था खराब

भारत ने पिछली बार 2013-14 में न्यूजीलैंड का दौरा किया था। महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली टीम को ब्रेंडन मैकुलम की टीम ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 4-0 से हराया था। एक मैच टाई रहा था। न्यूजीलैंड और भारत के बीच अब तक कुल 101 मैच खेले गए हैं। इसमें न्यूजीलैंड ने 44 और भारत ने 51 मैच जीते हैं। एक मैच टाई रहा है जबकि 5 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला।

वहीं न्यूजीलैंड में दोनों टीमों के बीच खेले गए 42 मैचों में से भारत ने 14 और न्यूजीलैंड ने 25 मैच जीते हैं। घरेलू मैदानों पर पिछले 10 में से सात मैच कीवी टीम ने जीते हैं।

भारत भी मजबूत 

विराट की टीम ऑस्ट्रेलिया फतह करने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज है। वह आइसीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है जबकि न्यूजीलैंड की टीम एक पायदान नीचे तीसरे स्थान पर है। स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की अनुपस्थिति में ऑस्ट्रेलियाई टीम कमजोर थी और उसकी वनडे रैंकिंग छह है। भारत ने जसप्रीत बुमराह की गैर मौजूदगी के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में वनडे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया। बुमराह न्यूजीलैंड भी नहीं जाएंगे लेकिन भुवनेश्वर कुमार और मुहम्मद शमी के फुल फॉर्म में होने से चिंता की कोई बात नहीं है। हालांकि न्यूजीलैंड के मैदान ऑस्ट्रेलिया की अपेक्षा बहुत छोटे हैं और यहां पर रन आसानी से बनते हैं। ऐसे में रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली जैसे बल्लेबाजों के लिए यहां बड़ी पारी खेलने का शानदार मौका होगा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस